राजनीति में हिस्सा ना लेने का सबसे बड़ा दंड यह है कि अयोग्य व्यक्ति आप पर शासन करने लगता है.
जिस समुदाय का राजनीतिक व्यवस्था में प्रतिनिधित्व नहीं है, वह समुदाय मर चुका है.
आपके संघर्ष में शामिल होने वालों से उनकी जाति मत पूछिए.
Jyotirao Phule
महात्मा ज्योतिबा राव फुले
समाजसुधारक, समाज प्रबोधक, विचारक, समाजसेवी, लेखक, दार्शनिक