Dalit Rights & Law

एससी/एसटी एक्ट की 20 जरूरी बातें, जो आपको पता होनी चाहिए

[caption id="attachment_805" align="alignleft" width="236"] एडवोकेट रजत कल्‍सन[/caption] 1. एससी/एसटी एक्ट (SC/ST Act) अनुसूचित जाति (Scheduled Caste) व जनजाति समुदाय के लोगों को छोड़कर बाकी सभी...

जाति आधारित अत्याचार होने पर पुलिस FIR दर्ज न करे तो क्‍या करें

जाति आधारित अत्याचार की शिकायत पर पुलिस यदि तुरंत एफआईआर न करे तो अगले ही दिन पुलिस अधीक्षक या डीसीपी को सूचित करें तथा साथ...

भारतीय संविधान के प्रावधान, जो दलितों को देते हैं विशेष अधिकार…

(ब्‍लॉग- अमित साहनी) भारतीय संविधान सभी नागरिकों को मौलिक अधिकार के रूप में समानता का अधिकार देता है. भारतीय संविधान के भाग 3 में अनुच्छेद...

जानें क्या है एससी/एसटी एक्ट और द‍लितों के अधिकार

अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निरोधक) अधिनियम 1989, 11 सितंबर 1989 को पारित हुआ, जिसे 30 जनवरी 1990 से जम्मू-कश्मीर छोड़ सारे भारत में...

Reservation

यूपी में पंचायत चुनाव के लिए आरक्षण प्रक्रिया का फॉर्मूला तय, लिस्ट जल्द आएगी सामने

रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव (UP Panchayat Chunav 2021) को लेकर ग्राम, क्षेत्र और जिला पंचायतों का नए सिरे से आरक्षण होगा. बाकायदा इसके लिए पंचायती राज निदेशालय ने शासन को अपना फॉर्मूला भी भेजा है.

Content Loading

Blog

आरक्षण को संविधान की 9वीं अनुसूची में शामिल करने से क्‍या फायदा होगा?

SC/ST Reservation : अनुसूचित जाति और जनजाति के आरक्षण (Scheduled Caste & Scheduled Tribes Reservation) के प्रावधान के संबंध में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फ़ैसले...

SC/ST Act की वो तकनीकी खामियां, जिनसे दलितों पर अत्‍याचार करने वाले बच जाते हैं…

अनुसूचित जाति व जनजाति अत्याचार अधिनियम 1989 (Scheduled Caste and Scheduled Tribe (Prevention of Atrocities) Act, 1989) को भारत के संविधान के अनुच्छेद 17 के...

दलित साहित्य (Dalit literature) की 5 आत्मकथाएं, जो हर किसी को पढ़नी चाहिए

[caption id="attachment_882" align="alignleft" width="194"] लेखक- बलविंदर कौर नन्‍दनी[/caption] आधुनिक दलित साहित्य (Dalit Sahitya) का आगाज महाराष्ट्र (Maharashtra) में 60 के दशक में 'दलित पैंथर आंदोलन'...

जाति आधारित अत्याचार होने पर पुलिस FIR दर्ज न करे तो क्‍या करें

जाति आधारित अत्याचार की शिकायत पर पुलिस यदि तुरंत एफआईआर न करे तो अगले ही दिन पुलिस अधीक्षक या डीसीपी को सूचित करें तथा साथ...

Dalit News

दलित आंदोलन की शुरुआत करने से पहले मान्‍यवर कांशीराम ने खत में लिखे 7 प्रण…

व्यक्तिगत रूप से सादा जीवन जीने वाले बीएसपी संस्‍थापक मान्‍यवर कांशीराम (Kanshi Ram) दलित सशक्तिकरण (Dalit Empowerment) का एक प्रतीक हैं.

जान की परवाह किए बगैर दलितों को न्‍याय दिलाते वकील रजत कलसन..

रजत कलसन पेश से वकील एवं दलित अधिकार कार्यकर्ता हैं, जो आज हरियाणा (Haryana) में जाना पहचाना नाम हैं. हरियाणा में ही नहीं, पूरे उत्तर भारत में दलित अत्याचारों के मामले में पैरवी करने को लेकर उनका नाम पढ़ा जा सकता है.