मध्‍य प्रदेश

Madhya Pradesh Dalit groom

मध्‍य प्रदेश: यादवों को चुभा दलित दूल्‍हे का घोड़े पर चढ़कर बारात ले जाना, लगाम खींचकर गिराया

मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) में आज भी दलित (Dalit) दूल्‍हों को घोड़े पर चढ़कर बारात ले जाना ऊंची जातियों को चुभता है. ताजा मामला मध्‍य प्रदेश के छतरपुर में सामने आया है, जहां एक दलित दूल्हे को घोड़े की सवारी करने से रोक दिया गया. पुलिस ने इस संबंध में अभी तक केवल मामला ही दर्ज किया है. खबर लिखे जाने तक कोई गिरफ्तारी नहीं की गई है.

जानकारी के अनुसार, यादव समुदाय (Yadav Community) के कुछ लोगों द्वारा सोमवार को छतरपुर के सटई इलाके में एक दलित दूल्हे को घोड़े की सवारी करने से रोक दिया गया.

सटई पुलिस स्टेशन के एसएचओ दीपक यादव ने कहा, “कुछ लोगों द्वारा घोड़े की लगाम खींचने के बाद दूल्हा जमीन पर गिर गया. मामला दर्ज कर लिया गया है.”

Madhya Pradesh: Dalit groom allegedly stopped by Yadavs from riding horse in Satai Chhatarpur
मध्य प्रदेश: दलित दूल्हे को यादवों ने छतरपुर में घुड़सवारी से रोका…

 

Dalit Atrocities

दलित की बकरियां चरते-चरते पाइप पर चढ़ गईं तो बाप-बेटे को कुल्‍हाड़ी से मारा

मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) के श्‍योपुर (Sheopur) में दलितों के साथ अत्‍याचार (Dalit Atrocities) और हिंसक वारदात सामने आई है. यहां दलित (Dalit) बाप-बेटे को कुल्‍हाड़ी से इसलिए बेरहमी से मारा गया, क्‍योंकि उनकी बकरियां चरते-चरते एक शख्‍स के पाइपों पर चढ़ गईं इससे पाइप फूट गए और उसने दलित बाप बेटे का जातीय अपमान करते हुए उन्‍हें मारा.

रायबरेली: दलित की गाय चरने खेत में घुसी, दंबगों ने दलित को इतना पीटा की हुई मौत, पुलिस की लापरवाही

पत्रिका की रिपोर्ट के अनुसार, यह मामला बुधवार सुबह देहात थाना क्षेत्र के गांव दुबड़ी की है. अजाक थाना प्रभारी जीआर खरे ने बताया कि बल्लू पुत्र पांचूलाल बैरवा बुधवार की सुबह प्रभू माली की बोर के पास अपनी बकरियां चरा रहा था.

दलित युवक जूते पहन जलेबी खरीदने गया, नाराज़ दबंगों ने पूरे परिवार को बेरहमी से मारा

इसी दौरान उसकी बकरियां प्रभू माली के पाइपों पर चढ़ गईं. इसके चलते पाइप फूट गए. यह देख प्रभू माली भड़क गया. पहले उसने बल्लू का जातीय अपमान किया. इसके बाद उसने उल्टी कुल्हाड़ी से मारपीट शुरु कर दी.

दलितों की ट्रैक्टर-ट्रॉली टच हुई तो दबंगों ने लाठी-फरसों से कर दिया हमला, महिलाओं को भी नहीं बख्‍शा

जब अपने बेटे को बचाने के लिए उसके पिता पांचूलाल बैरवा (60 वर्ष) पहुंचा तो उसने उन्‍हें भी मारपीट कर घायल कर दिया. घायल बल्लू बैरवा की रिपोर्ट पर प्रभू माली के खिलाफ मारपीट और एससी/एसटी एक्ट (SC/ST Act) के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है.

वहीं, इस घटना के बाद पिता पुत्र को 108 एंबुलेंस के जरिए इलाज के लिए जिला अस्पताल में दाखिल कराया गया.

(Dalit Awaaz.com के फेसबुक पेज को Like करें और Twitter पर फॉलो जरूर करें…)

Madhya Pradesh Dalit Atrocities

दलित युवक जूते पहन जलेबी खरीदने गया, नाराज़ दबंगों ने पूरे परिवार को बेरहमी से मारा

आज़ादी के 70 बरस से ज्‍यादा बीतने के बावजूद देश में दलितों के विरुद्ध अत्‍याचार/हिंसा (Violence against Dalits) के मामले थमे नहीं हैं. मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) में रोजाना दलित उत्‍पीड़न (Dalit Atrocities) के मामले सामने आते हैं. ताज़ा मामला बेहद गंभीर है.

यहां महज एक दलित (Dalit) युवक को कुछ दबंगों ने एक दलित और उसके परिवार को इसलिए बुरी तरह बेदर्दी से मारा, क्‍योंकि वह जूत पहनकर मिठाई की दुकान पर मिठाई खरीदने चला गया.

लॉकडाउन में बढ़ीं जातिगत हिंसा, 30 बड़ी घटनाएं सामने आईं, प्रवासी मजदूरों पर भी हमले बढ़े- रिसर्च

दलित उत्‍पीड़न का यह मामला एमपी के बुंदेलखंड (Bundelkhand) क्षेत्र के छतरपुर जिले के बिजावर थाना क्षेत्र का है. यहां के गांव जहां के अंधियारी गांव में कुछ दबंगों ने केवल इसलिए दलितों की पिटाई कर दी, क्योंकि एक दलित युवक जूते पहन मिठाई की दुकान पर जलेबी लेने चला गया.

(Dalit Awaaz.com के फेसबुक पेज को Like करें और Twitter पर फॉलो जरूर करें…)

आपको बता दें कि बुंदेलखंड में छुआछूत आज भी एक बड़ी समस्या है.

‘थाने में पुलिसवालों ने मारा, प्राइवेट पार्ट में पेट्रोल डाला, घंटों नंगा रखा’, दलित भाईयों की आपबीती

इस घटना में दलित युवक के साथ उसके पूरे परिवार की पिटाई कर दी गई. इसमें पूरा का पूरा परिवार बुरी तरह घायल हो गया. इसमें एक महिला भी शामिल है. युवक का हाथ तक तोड़ दिया गया है. पुलिस ने एससी-एसटी एक्ट (SC/ST Act) के तहत मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है.

रिपोर्ट के अनुसार, जातिगत हिंसा (Caste Related violence) की इस घटना में घायल हुई महिला मीरा अहि‍रवार ने बताया कि उसका देवर धनुआ अहिरवार गांव की ही एक दुकान से जलेबी लेने के लिए गया था और उसने जूते पहने हुए थे. जैसे ही वह दुकान पहुंचा तो दुकान मालिक पुष्पेंद्र सिंह ने उसे जूते पहने हुए देखा तो वह बुरी आग-बबूला हो गया. पुष्पेंद्र सिंह एवं उसके दो साथियों ने यह कहते हुए युवक को बुरी तरह मारना पीटना शुरू कर दिया कि उसने जूते पहने हुए थे.

(Read- दलित आवाज़ की खबर का असर, रायबरेली दलित युवक की मौत का मामला राष्‍ट्रपति तक पहुंचा)

रिपोर्ट के अनुसार, उन्‍होंने दलित युवक से कहा कि जूते पहनकर दुकान में आने की तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई. साथ ही यह भी कहा कि तेरे जूते पहनकर आने से दुकान में रखी सारी जलेबी खराब हो गई.

इस मारपीट में धनुआ अहिरवार बुरी तरह घायल हो गया. जब परिवार के लोगों को युवक के बारे में पता चला और वे उसे बचाने गए तो आरोपियों ने उन्‍हें भी बुरी तरह मारा पीटा. इस घटना में धनुआ अहिरवार, उसकी भाभी मीरा अहिरवार एवं पांच अन्य लोग भी गंभीर रूप से घायल हुए हैं.

पढ़ें- हरियाणा: वाल्मिकी मंदिर बनाने को लेकर विवाद, घरों में घुसकर लोगों पर किया हमला, FIR भी दर्ज नहीं

वहीं, इस घटना में दलित परिवार की शिकायत पर पुलिस ने एससी-एसटी एक्‍ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है. फ‍िलहाल इस घटना को अंजाम देने वाले आरोपी अब गिरफ्तारी के डर से भागते फिर रहे हैं और पुलिस उनकी तलाश कर रही है.

पढ़ें- हरियाणा: लॉकडाउन में एक दलित मुस्लिम महिला का हिंदू रीति रिवाज से हुआ अंतिम संस्‍कार

छतरपुर के एसपी कुमार सौरव का कहना है कि आरोपियों को जल्द ही गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जाएगा.

ये खबरें भी पढ़ें…

राजस्‍थान के नागौर में दलित महिला से एक साल से हो रहा था गैंगरेप, क्‍योंकि…

सिद्धार्थनगर: प्रधान के बेटे-दबंगों ने दलित युवक को पीटा, सिर मुंडवाया, गांव में घुमाया, पुलिसवाले देखते रहे

दलित बस्‍ती को 2 महीने से नहीं मिल रहा पानी, सरपंच के पति ने कुएं से पानी भरने से भी मना किया

जानिए कौन सी बातें हैं, SC/ST Act के तहत अपराध…

 एससी/एसटी एक्ट की 20 जरूरी बातें, जो आपको पता होनी चाहिए

Dalit-Atrocities-Madhya-Pradseh-Shyopur

दलितों की ट्रैक्टर-ट्रॉली टच हुई तो दबंगों ने लाठी-फरसों से कर दिया हमला, महिलाओं को भी नहीं बख्‍शा

मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) के वीरपुर थाना क्षेत्र में दबंगों ने कुछ दलितों (Dalits) पर इसलिए जानलेवा हमला कर दिया, क्‍योंकि मिट्टी लेकर आ रही दलितों की ट्रैक्टर-ट्रॉली, दबंगों की ट्रैक्टर-ट्रॉली से मामूली टकरा गई.

इससे नाराज़ दबंगों ने दलितों पर लाठी-फरसों से जानलेवा हमला कर दिया. इस घटना में दो महिलाओं समेत 9 लोग घायल हो गए. इनमें चार की हालत गंभीर बताई जा रही है.

दलित बस्‍ती को 2 महीने से नहीं मिल रहा पानी, सरपंच के पति ने कुएं से पानी भरने से भी मना किया

पुलिस ने 9 आरोपियों के खिलाफ बलवा, हत्या का प्रयास और दलित उत्पीड़न की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है.

पत्रिका के अनुसार, बीती सोमवार सुबह यह विवाद वीरपुर थाना क्षेत्र के बड़ागांव में हुआ. वीरपुर थाना प्रभारी भारत सिंह गुर्जर के अनुसार, आशाराम मोगिया ट्रैक्टर-ट्रॉली से सोमवार सुबह घर के काम के लिए मिट्टी लेकर आ रहे थे. वहीं, आरोपी पक्ष की ट्रैक्टर-ट्रॉली भी मिट्टी ला रही थी.

पढ़ें- रायबरेली: दलित की गाय चरने खेत में घुसी, दंबगों ने दलित को इतना पीटा की हुई मौत, पुलिस की लापरवाही

अचानक रास्‍ते में इनकी ट्रैक्टर-ट्रॉली आपस में टच हो गई. इस बात से विवाद हो गया. विवाद इतना बढ़ा कि आरोपी पक्ष के लोगों ने लाठी व फरसों से दलितों पर हमला बोल दिया. इस हमले में आशाराम मोगिया समेत राजेश मोगिया, वीरेंद्र, सेवाराम, विमला, सुरेन्द्र, हरिया, रेशमा और सरदार घायल हो गए. सभी घायलों को वीरपुर अस्पताल में दाखिल कराया गया. यहां से सेवा हरिया, वीरेंद्र, राजेश को चोट गंभीर होने की वजह से जिला अस्पताल रैफर कर दिया गया.

पढ़ें- एससी/एसटी एक्ट की 20 जरूरी बातें, जो आपको पता होनी चाहिए

थाना प्रभारी के अनुसार, घायल आशाराम मोगिया की रिपोर्ट पर हवल सिंह जादौन, टिंकल जादौन, अजय जादौन, कमल सिंह जादौन, बल्लू जादौन, पंचम जादौन, भूरा जादौन, सरनाम जादौन,मंगल जादौन निवासी बडगांव के खिलाफ मामला दर्ज किया है.

वहीं, दूसरे पक्ष पर भी मारपीट का केस दर्ज किया गया है. वीरपुर थाना प्रभारी भारत सिंह गुर्जर ने बताया कि विवाद में दूसरे पक्ष के तीन लोगों को भी चोटे आई हैं. इसलिए अजब सिंह उर्फ सुमन्त जादौन की रिपोर्ट पर वीरेन्द्र, आशाराम, सरदार,हरिया मोगिया के खिलाफ मारपीट का मामला दर्ज किया गया है.

ये भी पढ़ें- अयोध्‍या में बाल कटवाने गए दलित युवक की धारदार हथियार से हत्‍या की गई