झूठे आरोप लगाकर की दलित युवक की पिटाई, इलाज के लिए ले जाते वक्त मौत; ग्रामीणों का फूटा गुस्सा

सिवान. बिहार के सिवान जिले के प्रखंड क्षेत्र के पनीयाडीह-पड़ौली बाजार के पास स्थित एक गांव में दलित युवक की पिटाई और फिर इलाज के लिए ले जाते वक्त उसकी मौत का मामला सामने आया है. दलित युवक की मौत के बाद ग्रामीणों में आक्रोश देखने को मिला. लोगों ने सड़क पर दलित युवक का शव रखकर प्रदर्शन किया.

मृतक के भाई का कहना है कि उसका बेटा और भाई बुधवार को पनीयाडीह में शटरिंग का काम कर रहे थे. इसी बीच करीब 11 बजे दलित युवक के पास घर बनाने का काम करने से संबंधित एक कॉल आया. जब उनका बेटा और भाई वहां गए तो आरोपियों में शामिल नीतीश ने अपने घर का काम नहीं करने का आरोप लगाते हुए युवक को जातिसूचक गाली दी.

विरोध करने पर की दलित युवक की पिटाई
नीतीश द्वारा जातिसूचक गालियां दिए जाने का विरोध करने पर दलित युवक को जान से मारने की धमकी देते हुए उन्होंने उसकी पिटाई शुरू कर दी. मृतक के भाई का आरोप है कि नीतीश कुमार सहित अन्य लोगों द्वारा पिटाई किए जाने के बाद उनके भाई के सिर पर गंभीर चोट लग गई.

ये भी पढ़ें- युविका चौधरी के ‘भंगी’ वाले बयान पर बोले पति प्रिंस नरूला- ‘ये तो छोटी सी बात है’

उनके शोर मचाने पर आसपास के लोग पहुंचे तो सभी आरोपी फरार हो गए. प्रारंभिक इलाज के लिए दलित युवक को नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया. हालांकि डॉक्टर ने युवक को तुरंत शहरी अस्पताल में भर्ती कराने की सलाह दी. पटना ले जाने के दौरान ही रास्ते में युवक की मौत हो गई.

परिवार को न्याय दिलाने की मांग
वहीं, इस घटना पर भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने ट्वीट किया, ‘देश में जाति आधारित नरसंहार भयावह रूप ले रहा है. बिहार के सिवान जिले में घर का काम न करने पर 8 कायरों ने मिलकर एक SC व्यक्ति की बर्बर हत्या कर दी. पुलिस अभी तक सभी हत्यारों को गिरफ्तार नहीं कर सकी है. भीम आर्मी/ASP की टीम मौके पर डटी हुई है पीड़ित परिवार को न्याय दिलाकर रहेंगे.

दलित आवाज़ के यूट्यूब चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *