Breaking

delhi

attack on Dalits in Tughlakabad National Commission for Scheduled Castes sent notice to Delhi Government Delhi Police

तुगलकाबाद में दलितों पर जातिवादियों के हमले से SC Commission नाराज, सरकार-पुलिस को भेजा नोटिस

नई दिल्‍ली : दिल्ली के तुगलकाबाद (Tughlakabad) इलाके में स्‍वतंत्रता दिवस (Independence Day 2021) पर डॉ. बी.आर. आंबेडकर (Dr. BR Ambedkar) की मूर्ति के पास झंडा फहराने गए दलितों (Dalits) पर जातिवादी सवर्णों द्वारा की गई हिंसा से राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग (National Commission for Scheduled Castes) बेहद नाराज है. आयोग ने इस घटना पर संज्ञान देते हुए दिल्ली सरकार को नोटिस जारी किया जारी है. आयोग ने  दिल्ली सरकार के चीफ सेक्रेटरी, दिल्ली पुलिस कमिश्नर, डीएम और डीसीपी से जल्‍द कार्रवाई रिपोर्ट देने को कहा है.

National Commission for Scheduled Castes के चेयरमैन विजय सांपला (Vijay Sampla) ने जारी नोटिस में कहा है कि अधिकारियों द्वारा मामले की जांच कर कार्रवाई रिपोर्ट तत्काल भेजी जाए. अगर ATR नहीं भेजी जाती है तो आयोग संविधान की धारा 338 के तहत मिली सिविल कोर्ट की पावर का इस्‍तेमाल करेगा एवं संबंधित अफसरों को पर्सनली हाजिर होने का सम्‍मन जारी करेगा.

दरअसल, स्‍वतंत्रता दिवस के मौके पर दिल्ली के तुगलकाबाद इलाके के जाटव मोहल्ले में दलित परिवार डॉ. बी.आर. आंबेडकर की मूर्ति के पास झंडा फहराने गए थे. इस दौरान यहां जातिवादी गुंडे आ धमके और उन्‍होंने दलितों पर लाठी-डंडों से हमला कर दिया. इन उपद्रवियों ने बाबा साहब डॉ. आंबेडकर की मूर्ति पर गोबर भी फेंका.

आरोप के अनुसार, इन लोगों ने गालियां देते हुए राष्ट्रध्वज का भी अपमान किया. इस घटना में दलित समुदाय के आठ लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं.

Where is Arvind Kejriwal Chandrashekhar Azad questions on Delhi Nangal village Dalit Girl Rape body burnt case

Delhi: दलित बच्‍ची से गैंगरेप-हत्‍या मामले में चंद्रशेखर आजाद ने उठाईं ये 3 बड़ी मांगें

नई दिल्‍ली : दिल्ली (Delhi) के कैंट इलाके में स्थित नांगल गांव (Nangal Village) में दलित बच्‍ची (Dalit Girl) से गैंगरेप, संदिग्‍ध मौत और बिना रजामंदी लाश जलाए जाने के मामले में भीम आर्मी (Bhim Army) के चीफ चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) ने तीन बड़ी मांगे रखी हैं. इन मांगों में केस की फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई, परिवार को 1 करोड़ की सहयोग राशि एवं सरकारी नौकरी के अलावा दोषी पुलिसकर्मियों की बर्ख़ास्तगी एवं परिवार की सुरक्षा शामिल है.

Delhi Cantt Dalit Girl Rape & Murder Case की सभी खबरें यहां क्लिक कर पढ़ें… 

चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) ने ट्विटर पर इन मांगों को सबके सामने रखते हुए कहा कि दिल्ली कैंट में हुए बच्ची के साथ गैंगरेप व हत्या के मामले में हमारी मांगें हैं;

1-फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में समय सीमा के अंदर दोषियों को सजा, हाथरस जैसा फर्जीवाड़ा नहीं.
2-परिवार को 1 करोड़ रु की सहयोग राशि एवं सरकारी नौकरी.
3-दोषी पुलिसकर्मियों की बर्ख़ास्तगी एवं परिवार की सुरक्षा.

 

बता दें कि इससे पहले दिल्‍ली सरकार (Delhi Govt) ने तय किया कि वह बच्‍ची के मां-बाप को दस लाख रुपये का मुआवजा देगी. मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के दलित बच्‍ची के परिजनों से आज मुलाकात करने के दौरान यह ऐलान किया गया.

पढ़ें : चंद्रशेखर आजाद का ऐलान, मैं दिल्‍ली में तब तक रहूंगा, जब तक मांगें पूरी नहीं होतीं

इस दौरान मुख्‍यमंत्री अरव‍िंद केजरीवाल ने कहा कि जो बच्ची के साथ अन्याय हुआ है वह बेहद दुखद है. बच्ची को वापस नहीं लाया जा सकता है, लेकिन दिल्ली सरकार पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है. उन्‍होंने ऐलान किया कि दिल्ली सरकार पीड़ित परिवार को ₹10 लाख का मुआवजा देगी. साथ ही इस मामले में मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए जाएंगे.

उन्‍होंने कहा कि इस केस में दिल्ली सरकार बड़े से बड़ा वकील भी लगाएगी, ताकि आरोपियों को सख्त से सख्त सजा हो.

पढ़ें- दिल्‍ली: चंद्रशेखर आजाद नांगल गांव में मृतक दलित बच्‍ची के परिवार से मिले, कहा- दोषियों को फांसी हो 

उनसे पहले कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्‍यक्ष और सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने भी आज पीड़‍ित पर‍िवार से म‍िलकर उनको न्‍याय द‍िलवाने का भरोसा द‍िया.

पढ़ें : दिल्‍ली के बाद यूपी के हरदोई में भी दलित बच्‍ची से रेप, हत्‍या कर शव खेत में फेंका

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने पीड़‍ित पर‍िवार से म‍िलने को लेकर कहा क‍ि मैं नाबाल‍िग लड़की के पर‍िवार से म‍िला. मैंने परिवार से बात की. वे न्याय चाहते हैं और कुछ नहीं. वे कह रहे हैं कि उन्हें न्याय नहीं दिया जा रहा है और उनकी मदद की जानी चाहिए. हम ऐसा करेंगे. राहुल गांधी ने कहा कि ‘मैं आपके साथ खड़ा हूं. न्याय मिलने तक उनके साथ खड़ा हूं’.

इसके तुरंत बाद उन्होंने ट्वीट किया: “उनके माता-पिता के आंसू एक ही बात कह रहे हैं – उनकी बेटी, इस देश की बेटी, न्याय की पात्र है. मैं न्याय के इस पथ पर उनके साथ हूं.”

Delhi Cantt Dalit Girl Rape & Murder Case की सभी खबरें यहां क्लिक कर पढ़ें… 

 

 

Delhi Govt Arvind Kejriwal announce to give rs 10lakh to Dalit girl Parents Nangal Village

दिल्‍ली: नांगल गांव की दलित बच्‍ची के परिवार को 10 लाख रुपये मुआवजा देगी दिल्‍ली सरकार

नई दिल्‍ली : दक्षिण पश्चिम दिल्ली के कैंट इलाके में स्थित नांगल गांव (Nangal Village) में दलित बच्‍ची (Dalit Girl) से कथित रेप, संदिग्‍ध मौत और बिना रजामंदी लाश जलाए जाने के मामला तूल पकड़ने के बाद दिल्‍ली सरकार ने तय किया है वह बच्‍ची के मां-बाप को दस लाख रुपये का मुआवजा देगी. मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के दलित बच्‍ची के परिजनों से आज मुलाकात करने के दौरान यह ऐलान किया गया.

पढ़ें : चंद्रशेखर आजाद का ऐलान, मैं दिल्‍ली में तब तक रहूंगा, जब तक मांगें पूरी नहीं होतीं

इस दौरान मुख्‍यमंत्री अरव‍िंद केजरीवाल ने कहा कि जो बच्ची के साथ अन्याय हुआ है वह बेहद दुखद है. बच्ची को वापस नहीं लाया जा सकता है, लेकिन दिल्ली सरकार पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है. उन्‍होंने ऐलान किया कि दिल्ली सरकार पीड़ित परिवार को ₹10 लाख का मुआवजा देगी. साथ ही इस मामले में मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए जाएंगे.

उन्‍होंने कहा कि इस केस में दिल्ली सरकार बड़े से बड़ा वकील भी लगाएगी, ताकि आरोपियों को सख्त से सख्त सजा हो.

पढ़ें- दिल्‍ली: चंद्रशेखर आजाद नांगल गांव में मृतक दलित बच्‍ची के परिवार से मिले, कहा- दोषियों को फांसी हो 

उनसे पहले कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्‍यक्ष और सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने भी आज पीड़‍ित पर‍िवार से म‍िलकर उनको न्‍याय द‍िलवाने का भरोसा द‍िया.

पढ़ें : दिल्‍ली के बाद यूपी के हरदोई में भी दलित बच्‍ची से रेप, हत्‍या कर शव खेत में फेंका

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने पीड़‍ित पर‍िवार से म‍िलने को लेकर कहा क‍ि मैं नाबाल‍िग लड़की के पर‍िवार से म‍िला. मैंने परिवार से बात की. वे न्याय चाहते हैं और कुछ नहीं. वे कह रहे हैं कि उन्हें न्याय नहीं दिया जा रहा है और उनकी मदद की जानी चाहिए. हम ऐसा करेंगे. राहुल गांधी ने कहा कि ‘मैं आपके साथ खड़ा हूं. न्याय मिलने तक उनके साथ खड़ा हूं’.

इसके तुरंत बाद उन्होंने ट्वीट किया: “उनके माता-पिता के आंसू एक ही बात कह रहे हैं – उनकी बेटी, इस देश की बेटी, न्याय की पात्र है. मैं न्याय के इस पथ पर उनके साथ हूं.”

 

 

Delhi Rahul Gandhi met parents of Dalit girl Nangal Village said their tears only want justice

दिल्‍ली: दलित बच्‍ची के मां-बाप से मिले राहुल गांधी, बोले- ‘उनके आंसू सिर्फ न्‍याय चाहते हैं’

नई दिल्‍ली : दक्षिण पश्चिम दिल्ली के कैंट इलाके में स्थित नांगल गांव (Nangal Village) में दलित बच्‍ची (Dalit Girl) से कथित रेप, संदिग्‍ध मौत और बिना रजामंदी लाश जलाए जाने के मामला तूल पकड़ने के बाद अब राजनेताओं को पीडि़त परिवार से मिलने का दौर शुरू हो गया है. भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) और दिल्‍ली के सामाजिक न्‍याय मंत्री राजेंद्र पाल गौतम (Rajendra Pal Gautam) के पीडि़त परिवार से मिलने के बाद बुधवार सुबह कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्‍यक्ष और सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने भी आज पीड़‍ित पर‍िवार से म‍िलकर उनको न्‍याय द‍िलवाने का भरोसा द‍िया है.

पढ़ें : दिल्‍ली के बाद यूपी के हरदोई में भी दलित बच्‍ची से रेप, हत्‍या कर शव खेत में फेंका

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने पीड़‍ित पर‍िवार से म‍िलने को लेकर कहा क‍ि मैं नाबाल‍िग लड़की के पर‍िवार से म‍िला. मैंने परिवार से बात की. वे न्याय चाहते हैं और कुछ नहीं. वे कह रहे हैं कि उन्हें न्याय नहीं दिया जा रहा है और उनकी मदद की जानी चाहिए. हम ऐसा करेंगे. राहुल गांधी ने कहा कि ‘मैं आपके साथ खड़ा हूं. न्याय मिलने तक उनके साथ खड़ा हूं’.

Delhi Cantt Dalit Girl Rape & Murder Case की सभी खबरें यहां क्लिक कर पढ़ें… 

इसके तुरंत बाद उन्होंने ट्वीट किया: “उनके माता-पिता के आंसू एक ही बात कह रहे हैं – उनकी बेटी, इस देश की बेटी, न्याय की पात्र है. मैं न्याय के इस पथ पर उनके साथ हूं.”

 

पढ़ें : चंद्रशेखर आजाद का ऐलान, मैं दिल्‍ली में तब तक रहूंगा, जब तक मांगें पूरी नहीं होतीं

बता दें कि इस बीच दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) भी पीड़ित परिवार से मिलने जा रहे हैं. वह करीब साढ़ 12 बजे मौके पर पहुंचेंगे. उनसे पहले द‍िल्‍ली सरकार में महिला एवं बाल व‍िकास मंत्री राजेन्‍द्र पाल गौतम ने भी दो द‍िन पहले पीड़ि‍त पर‍िवार से मुलाकात की थी.

पढ़ें- दिल्‍ली: चंद्रशेखर आजाद नांगल गांव में मृतक दलित बच्‍ची के परिवार से मिले, कहा- दोषियों को फांसी हो 

मंगलवार को भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद भी प्रदर्शन में शामिल हुए थे. उन्‍होंने कहा था कि मामले की उचित तरीके से जांच होनी चाहिए. यह झूठ था कि लड़की की मौत करंट लगने से हुई थी और परिवार की मौजूदगी के बिना उसका अंतिम संस्कार कर दिया. उन्‍होंने कहा कि लड़की के माता-पिता पर भी करंट लगने से मौत होने का बयान देने का दबाव डाला गया.

पढ़ें : दलित बच्‍ची की संदिग्‍ध मौत, रेप, लाश जलाने के मामले की मजिस्‍ट्रेट जांच कराएंगे: राजेंद्र पाल गौतम