Breaking

Scheduled Caste

पंजाब के लाखों दलित विद्यार्थियों के लिए बुरी खबर, JAC जारी नहीं करेगा रोल नंबर

चंडीगढ़: पंजाब के लाखों दलित छात्रों (Schedule caste students) के लिए बुरी खबर है. निजी शैक्षिक संस्थाओं की ज्वाइंट एसोसिएशन ऑफ कॉलेजेस (Joint Association of Colleges) (जे.ए.सी.) ने अनुसूचित जाति के छात्रों के रोल नंबर जारी न करने का फैसला लिया है. जे.ए.सी. की ओर से जारी किए गए आधिकारिक बयान में कहा गया है कि राज्य सरकार की ओर से पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप स्कीम (Post Metric Scholarship) के 1,549.06 करोड़ रुपए जारी नहीं किए गए हैं, जिसके कारण उन्होंने रोल नंबर न जारी करने का फैसला लिया है.

जे.ए.सी. के चेयरमैन डॉ. गुरमीत सिंह धालीवाल ने इस बारे में कहा, ‘मुझे मालूम है कि अनुसूचित छात्रों के रोल नंबर रोकने से छात्रों और परिजनों में तनाव है, लेकिन हमारे पास ग्रांट जारी करवाने का कोई और तरीका नहीं है.’

ये भी पढ़ें- युविका चौधरी के ‘भंगी’ वाले बयान पर बोले पति प्रिंस नरूला- ‘ये तो छोटी सी बात है’

बच्चों ने पूरी की 3 साल की पढ़ाई, लेकिन

उन्होंने कहा कि छात्रों ने तीन साल की पढ़ाई पूरी कर ली है, लेकिन फिर भी सरकार उन्हें स्कॉलरशिप देने में नाकाम रही है. उन्होंने कहा कि सरकार जब छात्रों की फीस नहीं दे रही है तो वो छात्रों को पढ़ाना जारी कैसे रख सकते हैं.

ऑनलाइन मीटिंग के दौरान लिया गया फैसला

उन्होंने कहा कि छात्रों के रोल नंबर रोकने का फैसला ऑनलाइन मीटिंग के दौरान लिया गया. इस मीटिंग में 136 एसोसिएशनों ने हिस्सा लिया.

दलित आवाज़ के यूट्यूब चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें…

dalit students

पहली से 12वीं क्लास के SC छात्र इस स्कॉलरशिप के लिए करें आवेदन, आज है आखिरी तारीख

नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली में रहने वाले पहली से 12वीं कक्षा के छात्रों के पास आर्थिक सहायता पाने का सुनहरा मौका है. राज्य सरकार द्वारा एससी छात्रों के लिए मेरिट स्कॉलरशिप (Merit Scholarship for SC) की घोषणा की गई है.

मेरिट स्कॉलशिप के तहत दिल्ली के सरकारी, गैर सरकारी, निजी और अन्य मान्यता प्राप्त संस्थानों में पढ़ने वाले छात्रों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी. इस स्कॉलरशिप में आवेदन की आज (30 अप्रैल 2021) आखिरी तारीख है.

कितनी होगी आर्थिक सहायता की राशि?
इस स्कॉलरशिप के लिए चयनित होने वाले छात्रों को 4500 रुपये तक की आर्थिक सहायता दी जाएगी.

स्कॉलरशिप में आवेदन के लिए पात्रताः

– इस स्कॉलरशिप में आवेदन के लिए छात्र/छात्र का दिल्ली का निवासी होना अनिवार्य है.

– छात्र/छात्रा का अनुसूचित जाति से होना अनिवार्य है.

– जिन छात्रों ने शिक्षण सत्र 2021-22 में दाखिला लिया है वही इस स्कॉलरशिप के लिए आवेदन कर सकते हैं.

– छात्र की पारिवारिक आय 2 लाख रुपये प्रति वर्ष से कम होनी चाहिए.

कैसे कर सकते हैं स्कॉलरशिप के लिए आवेदनः

– सबसे पहले ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल scstwelfare.delhigovt.nic.in पर जाएं.

– मौजूदा क्रेडेंशियल्स का उपयोग करके लॉगिन करें.

– छात्रवृत्ति योजना का चयन करें और आवश्यक दस्तावेज अपलोड करें.

– ध्यान रहे कि छात्र अपने ही बैंक खाते का विवरण राज्य सरकार की साइट पर भरें.

– सभी विवरण को ध्यान से पढ़कर समिट पर क्लिक करें.

9वीं और 10वीं में पढ़ने वाले SC छात्रों के पास है स्कॉलरशिप पाने का सुनहरा मौका, ऐसे करें अप्लाई

नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली में रहने वाले एससी/एसटी समुदाय (Scholarship for SC Students) के छात्रों को राज्य सरकार द्वारा स्कॉलरशिप दी जा रही है. ये स्कॉलरशिप दिल्ली के सरकारी (Delhi Government), मान्यता प्राप्त और निजी संस्थानों में पढ़ने वाले 9वीं और 10वीं कक्षा के छात्रों के लिए है.

राज्य सरकार द्वारा दी जा रही है इस स्कॉलरशिप को देने का मुख्य उद्देश्य बच्चों को आर्थिक सहायता देने का है, ताकि उनकी पढ़ाई न रूके. इस स्कॉलरशिप में आवेदन की आखिरी तारीख 30 अप्रैल 2021 है.

स्कॉलरशिप आवेदन के लिए योग्यता

– छात्र या छात्रा का एससी/एसटी वर्ग से होना अनिवार्य है.

– जो छात्र दिल्ली के सरकारी, मान्यता प्राप्त और गैर सरकारी स्कूल में पढ़ाई कर रहे हैं वो ही इस स्कॉलरशिप के लिए आवेदन कर सकते हैं.

– छात्र की पारिवारिक आय 2.5 लाख प्रति वर्ष से ज्यादा नहीं होनी चाहिए.

इस स्कॉलरशिप के लिए चयनित होने वाले छात्रों को 10 महीने 750 रुपये प्रति माह की स्कॉलरशिप के तौर पर दिए जाएंगे.

कैसे कर सकते हैं स्कॉलरशिप के लिए आवेदन?

– इस स्कॉलरशिप हेतु आवेदन करने के लिए scstwelfare.delhigovt.nic.in पर क्लिक करें.

– अगर आप पहली बार दिल्ली सरकार द्वारा दी जा रही स्कॉलरशिप के लिए आवेदन कर रहे हैं तो न्यू यूजर क्रिएट करें.

– सभी जानकारियां और दस्तावेजों को राज्य सरकार की साइट पर अपलोड करें.

– सभी जानकारियों को चैक करके आवेदन जमा करें.

student

बिहार में SC-ST छात्रों को मिली राहत, पीजी तक नामांकन शुल्क माफ

नई दिल्ली. बिहार 12वीं बोर्ड परीक्षाओं की घोषणा के साथ ही राज्य के एससी व एसटी समुदाय के छात्रों (SC-ST children )को एक यूनिवर्सिटी के बड़ी राहत दी है. शुक्रवार को मिथिला विश्वविद्यालय ने ऐलान किया है कि एससी-एसटी छात्रों को पीजी तक अब किसी तरह का नामांकन शुल्क नहीं देना होगा.

गुरुवार को एआईएसएफ जीडी कॉलेज यूनिट के अध्यक्ष अनंत कुमार के नेतृत्व में कॉलेज की विभिन्न समस्याओं को लेकर कॉलेज प्राचार्य राम अवधेश कुमार को एक ज्ञापन सौंपा. इसमें तीसरे सेमेस्टर नामांकन शुल्क माफ करने व विभिन्न समस्याओं के निपटारे के लिए मांग की गई.

सरकार की गारंटी के बावजूद ली रही है फीस
इसमें कहा गया है कि सरकार द्वारा केजी से पीजी तक अनुसूचित जाति व जनजाति के छात्रों व सभी छात्राओं को फ्री शिक्षा की गारंटी दी गई है. हालांकि इसके बावजूद यूनिवर्सिटी द्वारा एससी, एसटी छात्रों द्वारा फीस ली जा रही है. इसे रोक जाए.

ज्ञापन सौंपे जानें के बाद लिया गया एक्शन
छात्रों द्वारा ज्ञापन सौंपे जाने के बाद प्राचार्य ने आश्वसन दिया कि राज्य सरकार व विश्वविद्यालय के आदेश का हम पालन करेंगे. 24 मार्च को पीजी तक एसएसी व एसटी के अलावा छात्राओं का नामांकन शुल्क माफ करने संबंधी पत्र निर्गत करने पर बधाई दी.