Bhim Army

After Election Results 2022 ASP Chandrashekhar Azad told about their new targets

Election Results 2022: चुनावी नतीजों के बाद आसपा प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने बताया ‘अब वह क्‍या करेंगे’

नई दिल्‍ली : (Election Results 2022) उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Election Results 2022) के साथ उत्‍तराखंड (Uttarakhand Election Results 2022) और पंजाब के चुनाव नतीजों 2022 (Punjab Election Results 2022) में आजाद समाज पार्टी (Azad Samaj Party) के खराब प्रदर्शन पर चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) ने शुक्रवार रात अपनी बात सबके सामने रखी. चंद्रशेखर ने भीम आर्मी (Bhim Army), आजाद समाज पार्टी के कार्यकर्ताओं, समर्थकों के अलावा सभी नागरिकों को हार के कारणों के बारे में बताया. साथ ही उन्‍होंने बताया कि इस चुनाव से उन्‍हें क्‍या सीख मिली है. उन्‍होंने अब पार्टी और कार्यकर्ताओं के लिए नया लक्ष्‍य स्‍थापित करते हुए कहा कि अब हमें वोटर बनाने हैं. साथ ही चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि ये लड़ाई अब शुरू हुई है.

चंद्रशेखर ने कही ये प्रमुख बातें…

सफलता और सत्‍ता स्‍थायी नहीं, वह आती जाती रहती है.
जैसा आप संघर्ष करेंगे, वैसी आपको सफलता मिलेगी.
उत्‍तर प्रदेश, उत्‍तराखंड और पंजाब में हमने प्रत्‍याशी उतारे, जो भी समर्थन वहां मिला मैं उनको धन्‍यवाद देता हूं.
हां, हम लोग हार गए हैं, लेकिन हार अंतिम नहीं होती.
हमारे प्रयास में कुछ कमी रही है, उसे हमें पूरा करना है.
आप जानते हैं कि किन हालातों में ये चुनाव लड़ा गया.
हमारा प्रयास था कि बहुजन समाज के लोगों में एकता बने. लेकिन स्‍थापित दलों ने उसे नकार दिया.
हमारा लक्ष्‍य भारतीय जनता पार्टी को हराना था, लेकिन हम उसमें सफल नहीं हो सके. ये लड़ाई आसान नहीं थी.
मेहनत के लिए भीम आर्मी, आजाद समाज पार्टी के प्रत्‍येक कार्यकर्ता का आभार, कोटि-कोटि धन्‍यवाद.
मैंने व्‍यक्ति भी गोरखपुर सदर सीट से मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के खिलाफ चुनाव लड़ा.
मुख्‍यमंत्री अपनी सेफ सीट चले गए, जहां बहुजनों का वोट बड़ा कम है.
क्‍योंकि समाज से वादा किया गया था, इसलिए हम वहां लड़ने गए.
हमने मजबूती से लड़ाई लड़ी. हां, हम हारे. वहां की जनता ने हम पर भरोसा नहीं दिखाया.
मैं गोरखपुर से लगातार जुड़ा रहूंगा. जनादेश को स्‍वीकार करने वहां जाऊंगा.
मैं यहां संघर्ष करने आया है और इससे पीछे नहीं हट सकता हूं.
चुनाव बड़ी चीज है और चुनाव खत्‍म हुआ है.
साथी लगातार संदेश भेज रहे हैं कि हिम्‍मत मत हारना, कमजोर मत पड़ना.
मैं फ‍िर उनसे कहना चाहता हूं कि हमने इस आंदोलन की शुरुआत ही महापुरुषों का संघर्ष देखकर की.
बाबा साहेब डॉ. भीमराव आंबेडकर और मान्‍यवर कांशीराम परिवर्तन चाहते थे, इसलिए हम इस आंदोलन से जुड़े.
ये लड़ाई अभी शुरू हुई है. बीजेपी विचारधारा पर आधारित पार्टी है. आसपा भी विचारधारा पर आधारित पार्टी है.
वो अपनी विचारधारा को आगे बढ़ाना चाहते हैं और हम अपनी.
मेरी अपील है आपसे. हम जहां जाते हैं, वहां भीड़ बहुत आती है. हमारे पास लोग बहुत हैं, लेकिन अब हमें वोटर तैयार करना है.
साथियों, इसके लिए आपको खुद तैयार होना है.
मैं खुले मन से आपसे अपील करता हूं कि इस आंदोलन को अंतिम पायदान पर लेकर जाना है, सफल करना है.
मेरी समझ में एक चीज तो आई, जब तक देश में बहुजन एकजुट नहीं होंगे, कुछ हासिल नहीं होगा.

UP Election Results 2022 Azad Samaj Party Chandrashekhar Azad Gorakhpur Sadar seat Result

Chandrashekhar Azad: गोरखपुर सदर सीट पर आजाद समाज पार्टी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद का हाल क्‍या रहा?

नई दिल्‍ली : (UP Assembly Election Results 2022) उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (Uttar Pradesh Assembly Election 2022) के रण में उतरे दलित नेता चंद्रशेखर आजाद (Dalit Leader Chandrashekhar Azad) को गोरखपुर सदर सीट (Gorakhpur Urban Seat) पर उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के सामने हार का सामना करना पड़ा. अपनी जीत को लेकर आश्‍वस्‍त चंद्रशेखर इस सीट पर तीसरे नंबर रहे. उन्‍हें उम्‍मीद के मुताबिक भी वोट नहीं मिले और उनकी जमानत जब्‍त हो गई. इसे उनकी आजाद समाज पार्टी (कांशीराम) एवं भीम आर्मी संगठन (Azad Samaj Party and Bhim Army Organization) की ओर से बड़े घटनाक्रम के रूप में देखा जा रहा है. राजनीतिक विशेषज्ञ चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) की इस हार के कई मायने निकाल रहे हैं. उनका कहना है कि अपने गढ़ सहारपुर (Saharanpur) के बजाय भीम आर्मी चीफ का गोरखपुर (Gorakhpur Sadar Seat) से लड़ना उचित फैसला नहीं था.

उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव नतीजे 2022 (UP Assembly Election Results 2022) में आजाद समाज पार्टी (कांशीराम) (Azad Samaj Party) एवं भीम आर्मी (Bhim Army) के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) को गोरखपुर सदर सीट (Gorakhpur Urban Seat) पर कुल 7640 वोट प्राप्‍त हुए. इनमें 97 पोस्‍टल वोट, जबकि‍ 7543 ईवीएम वोट रहे. इस तरह उन्‍हें कुल 3.06 प्रतिशत वोट ही मिल सके. वह इस सीट पर तीसरे स्‍थान पर रहे.

वहीं, गोरखपुर सदर सीट (Gorakhpur Urban Seat) पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार और उत्‍तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) को जीत हासिल हुई. उन्‍हें कुल 165499 वोट मिले, जोकि 66.18 प्रतिशत वोट शेयर था. उनके बाद दूसरे नंबर पर समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के उम्‍मीदवार सुभावती उपेंद्र दत्त शुक्ला (SUBHAWATI UPENDRA DUTT SHUKLA) रहे. उन्‍हें कुल 62109 वोट मिले, जोकि 24.84 प्रतिशत वोट रहे.

अपने पहले ही चुनाव में चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) की हार से पार्टी काडर निराश है. उन्‍हें पूरी उम्‍मीद थी कि यूपी चुनाव 2022 में आजाद समाज पार्टी और चंद्रशेखर आजाद को बड़ी ओपनिंग मिलेगी, जोकि लखनऊ का रास्‍ता उनके लिए खोलेगी. हालांकि चुनाव परिणाम इसके विपरित रहे. राजनीतिक जानकारों का भी कहना है कि चंद्रशेखर का अपने पांरपरिक क्षेत्र सहारनपुर (Saharanpur) की बजाय गोरखपुर से लड़ना सही फैसला नहीं था. यह उनके लिए गलत साबित हुआ और वह अपनी एक सीट गंवा बैठे. यानि वे अगर सहारनपुर से लड़ते तो वहां अपना अच्‍छा खास जनाधार होने के चलते कम से कम जीत तो पाते.

दरअसल, आजाद समाज पार्टी (Azad Samaj Party) ने बहुजन हिताय-बहुजन सुखाय’ की बाबासाहेब डॉ. भीमराव आंबेडकर और कांशीराम साहब की विचारधारा को आगे बढ़ाते हुए आजाद समाज पार्टी (कांशीराम), गोरखपुर सदर (322) सीट से चंद्रशेखर आजाद को अपना उम्मीदवार घोषित किया था. चंद्रशेखर ने मार्च 2020 में आजाद समाज पार्टी (कांशीराम) की शुरुआत की थी, जिसके वह अध्यक्ष हैं. गोरखपुर सदर सीट के लिए उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के छठे चरण यानी तीन मार्च को मतदान हुआ था.

पहले चंद्रशेखर आजाद अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के नेतृत्व वाली समाजवादी पार्टी (सपा) के साथ चुनाव लड़ने के वास्ते गठबंधन के लिए बातचीत कर रहे थे, लेकिन उसके द्वारा केवल दो सीटों की पेशकश किये जाने पर बात नहीं बन पाई. इसके बाद, आजाद ने अपना गठबंधन सामाजिक परिवर्तन मोर्चा (Samajik Parivartan Morcha) बनाया और कहा कि वह सपा से सम्पर्क नहीं करेगी, क्योंकि यह ‘‘आत्मसम्मान’’ का मामला है.

गोरखपुर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ चुनावी मैदान में उतरते हुए आजाद समाज पार्टी के अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद ने कहा था कि इस बार गोरखपुर के लोग 1971 के उस इतिहास को दोहराएंगे जब एक मुख्यमंत्री को विधानसभा चुनाव में हार का सामना करना पड़ा था. अपनी जीत की उम्मीद जताते हुए आजाद ने यह भी कहा कि 36 छोटे दलों के गठबंधन ‘सामाजिक परिवर्तन मोर्चा’ (Samajik Parivartan Morcha) ने उन्हें मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया है तथा यह मोर्चा उत्तर प्रदेश की सभी 403 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ रहा है.

उन्होंने कहा, ‘‘हमें गोरखपुर के इतिहास को देखने की जरूत है… 1971 में तत्कालीन मुख्यमंत्री टी एन सिंह को गोरखपुर के लोगों ने हराया था. इसी तरह, इस बार आदित्यनाथ मुख्यमंत्री हैं और वह उत्तर प्रदेश एवं गोरखपुर की पिछले पांच साल में हुई तबाही के लिए जिम्मेदार हैं.’’

UP Chunav 2022 Chandrashekhar Azad Azad Samaj Party candidates first list know who got ticket from where

Azad Samaj Party के चंद्रशेखर आजाद ने जारी की उम्‍मीदवारों की पहली लिस्‍ट, जानें किसे कहां से मिला टिकट

नई दिल्‍ली : यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (Uttar Pradesh Assembly Election 2022) के लिए आजाद समाज पार्टी (Azad Samaj Party) की तरफ से गुरुवार को अपने प्रत्‍याशियों की लिस्‍ट (Azad Azad Samaj Party candidates first list) जारी कर दी गई. पार्टी की तरफ से 37 सीटों पर उम्‍मीदवारों के नामों का ऐलान कर दिया गया. इसमें सहानपुर देहात से कुर्बान अहमद, सहानपुर नगर से मंसूर अहमद, मुजफ्फरनगर से परवेज आलम, खतौली से मनेाज कुमार गुर्जर, शामली से सुनीता कश्‍यप, कैराना से देवी सिंह, मेरठ दक्षिण से कुसुम देवी, मेरठ कैंट से जौनी पॉल, नोएडा से नरविंद कुमार, हापुड़ से डॉ. बीपी नीलरत्‍न, छपरौली से मनोज कुमार, गढ़मुक्‍तेश्‍वर से धनश्‍याम, गाजियाबाद से पुष्‍पेंद्र जाटव, मथुरा से कमलेश, संभल से नदीम कुरैशी आदि उम्‍मीदवारों को उतारा गया है. (Azad Azad Samaj Party candidates first list)

Image

Image

इससे पहले भीम आर्मी चीफ (Bhim Army) और पार्टी मुखिया चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) को गोरखपुर सदर सीट (Gorakhpur Sadar seat) से उतारने का फैसला लिया गया. इसी सीट से यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ चुनावी मैदान में है और चंदशेखर आजाद सीएम योगी के खिलाफ चुनाव में उतरेंगे. चंद्रशेखर के योगी के खिलाफ चुनावी मैदान में उतरने को लेकर हर कोई यह जानना चाहता है कि आखिर वह सहारनपुर या अपने समर्थन प्राप्‍त किसी क्षेत्र से चुनावी रण में ना उतरकर गोरखपुर सदर सीट क्‍यों उतर रहे हैं? तो इसका जवाब खुद चंद्रशेखर आजाद ने दिया है.

Uttar Pradesh Assembly Election 2022 को लेकर चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि “मैं पिछले पांच सालों में अकेला राजनेता हूं, जिसने आधा समय जेल में बिताया है. इस सरकार के कारण मैं जेल में रहा. इस सरकार के मुख्यमंत्री को विधानसभा में नहीं जाने दूंगा, इसलिए मैं उनके खिलाफ लड़ रहा हूं. विपक्ष का लड़ने के लिए स्वागत है, लेकिन मैं वैसे भी उसके खिलाफ लड़ने जा रहा हूं.”

UP Chunav 2022 : चंद्रशेखर आजाद ने 33 सीटों पर Azad Samaj Party प्रत्‍याशियों को उतारने का किया ऐलान, बोले- BJP को रोकने के लिए किसी की भी मदद करेंगे

दरअसल, गोरखपुर की सदर सीट (Gorakhpur Sadar seat) से विधानसभा चुनाव लड़ने जा रहे सीएम योगी दूसरे ऐसे सीएम होंगे, जो गोरखपुर से चुनावी दावेदारी पेश कर रहे हैं.

Uttarakhand Assembly Election 2022 : चंद्रशेखर आजाद ने 3 सीटों पर उतारे प्रत्‍याशी, भूमिहीन किसानों से लेकर सफाईकर्मियों के लिए बड़े वादे

चंद्रशेखर आजाद के इस सीट से ही चुनाव लड़ने को लेकर आजाद समाज पार्टी की तरफ से जारी आधिकारिक पत्र में कहा गया है कि बाबा साहब डॉ. भीमराव आंबेडकर (Babasaheb Dr. Bhimrao Ambedkar) एवं मान्‍यवर कांशीराम साहब (Manyavar Kanshi Ram Sahab) की विचारधारा बहुजन हिताय, बहुजन सुखाय (Bahujan Hitaya, Bahujan Sukhaya) को आगे बढ़ाते हुए एडवोकेट चंद्रशेखर आजाद (Advocate Chandrashekhar Azad) को गोरखपुर सदर सीट (Gorakhpur Sadar Seat) से आजाद समाज पार्टी (कांशीराम) (Azad Samaj Party (Kanshi Ram) का प्रत्‍याशी घोषित किया जाता है.

चंद्रशेखर आजाद (Chandra Shekhar Azad) से जुड़ी सभी खबरें यहां पढ़ें

आजाद समाज पार्टी (Azad Samaj Party) से जुड़ी सभी यहां पढ़ें

UP Chunav 2022 why Chandrashekhar Azad wants contest Gorakhpur Sadar seat against Yogi Adityanath

Uttar Pradesh Assembly Election 2022: चंद्रशेखर आजाद क्‍यों योगी आदित्‍यनाथ के खिलाफ गोरखपुर सदर सीट से ही चुनाव लड़ना चाहते हैं?

नई दिल्‍ली : यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (Uttar Pradesh Assembly Election 2022) में आजाद समाज पार्टी (Azad Samaj Party) की तरफ से गुरुवार को बड़े ऐलान के तहत भीम आर्मी चीफ (Bhim Army) और पार्टी मुखिया चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) को गोरखपुर सदर सीट (Gorakhpur Sadar seat) से उतारने का फैसला लिया गया. इसी सीट से यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ चुनावी मैदान में है और चंदशेखर आजाद सीएम योगी के खिलाफ चुनाव में उतरेंगे. चंद्रशेखर के योगी के खिलाफ चुनावी मैदान में उतरने को लेकर हर कोई यह जानना चाहता है कि आखिर वह सहारनपुर या अपने समर्थन प्राप्‍त किसी क्षेत्र से चुनावी रण में ना उतरकर गोरखपुर सदर सीट क्‍यों उतर रहे हैं? तो इसका जवाब खुद चंद्रशेखर आजाद ने दिया है.

Uttar Pradesh Assembly Election 2022 को लेकर चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि “मैं पिछले पांच सालों में अकेला राजनेता हूं, जिसने आधा समय जेल में बिताया है. इस सरकार के कारण मैं जेल में रहा. इस सरकार के मुख्यमंत्री को विधानसभा में नहीं जाने दूंगा, इसलिए मैं उनके खिलाफ लड़ रहा हूं. विपक्ष का लड़ने के लिए स्वागत है, लेकिन मैं वैसे भी उसके खिलाफ लड़ने जा रहा हूं.”

UP Chunav 2022 : चंद्रशेखर आजाद ने 33 सीटों पर Azad Samaj Party प्रत्‍याशियों को उतारने का किया ऐलान, बोले- BJP को रोकने के लिए किसी की भी मदद करेंगे

दरअसल, गोरखपुर की सदर सीट (Gorakhpur Sadar seat) से विधानसभा चुनाव लड़ने जा रहे सीएम योगी दूसरे ऐसे सीएम होंगे, जो गोरखपुर से चुनावी दावेदारी पेश कर रहे हैं.

Uttarakhand Assembly Election 2022 : चंद्रशेखर आजाद ने 3 सीटों पर उतारे प्रत्‍याशी, भूमिहीन किसानों से लेकर सफाईकर्मियों के लिए बड़े वादे

चंद्रशेखर आजाद के इस सीट से ही चुनाव लड़ने को लेकर आजाद समाज पार्टी की तरफ से जारी आधिकारिक पत्र में कहा गया है कि बाबा साहब डॉ. भीमराव आंबेडकर (Babasaheb Dr. Bhimrao Ambedkar) एवं मान्‍यवर कांशीराम साहब (Manyavar Kanshi Ram Sahab) की विचारधारा बहुजन हिताय, बहुजन सुखाय (Bahujan Hitaya, Bahujan Sukhaya) को आगे बढ़ाते हुए एडवोकेट चंद्रशेखर आजाद (Advocate Chandrashekhar Azad) को गोरखपुर सदर सीट (Gorakhpur Sadar Seat) से आजाद समाज पार्टी (कांशीराम) (Azad Samaj Party (Kanshi Ram) का प्रत्‍याशी घोषित किया जाता है.

Azad Samaj Party ticket to Chandrashekhar Azad against Yogi Adityanath from Gorakhpur Sadar seat

इस पर पार्टी प्रमुख ने ट्वीट करते हुए कहा कि बहुत – बहुत आभार साधुवाद. पिछले 5 साल भी लड़ा हूं. अब भी लड़ूंगा. जय भीम,जय मण्डल. बहुजन हिताय, बहुजन सुखाय.

 

चंद्रशेखर आजाद (Chandra Shekhar Azad) से जुड़ी सभी खबरें यहां पढ़ें

आजाद समाज पार्टी (Azad Samaj Party) से जुड़ी सभी यहां पढ़ें