Breaking

Bihar

Bihar News, Bihar Hindi News, बिहार, बिहार हिंदी न्‍यूज़, बिहार दलित न्‍यूज़, Bihar Dalit News

Bihar Bhojpur Dalit murder Vitan Ratan Singh said Fear of law ends in Nitish Raj

Bihar: दलित की ईंट-पत्‍थर मारकर हत्‍या, विनय रतन सिंह बोले- नीतीश राज में कानून का डर खत्‍म

आरा: बिहार (Bihar) में दलितों के प्रति उत्‍पीड़न (Oppression against Dalits) के मामले रोज सामने आ रहे हैं, लेकिन राज्‍य सरकार सख्‍ती से इन्‍हें रोक पाने की ओर कदम नहीं उठा पा रही. भोजपुर जिले के चांदी थाना क्षेत्र के बहियारा गांव से भी ऐसा ही दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. यहां मंगलवार रात एक अधेड़ दलित की ईंट-पत्थर से मार-मारकर हत्या (Dalit Murdered) कर दी गई. केवल यही नहीं, इसके बाद उसके शरीर पर गर्म पानी उड़ेल दिया गया, जिसके कारण उसका शरीर पूरी तरह झुलस गया.

मृतक का शव बुधवार सुबह सब्जी के खेत से बरामद हुआ. इससे आसपास के इलाके में सनसनी फैल गई. मृतक की पहचान 58 वर्षीय हरिद्वार पासवान के रूप में हुई है. वह गांव पर ही रहकर सब्जी की खेती करते थे. पुलिस की ओर से बुधवार को शव का पोस्टमार्टम सदर अस्पताल में कराया गया.

भीम आर्मी भारत एकता मिशन के संस्थापक और राष्ट्रीय अध्यक्ष विनय रतन सिंह ने इस घटना की कड़ी निंदा करते हुए बिहार (Bihar) पुलिस से मांग की है कि दोषियों को जल्‍द गिरफ्तार कर उन्‍हें सजा दिलाई जाए. उन्‍होंने ट्वीट में लिखा, बिहार भोजपुर जिले के चांदी थाना क्षेत्र के बहियारा गांव में बुजुर्ग हरिद्वार पासवान की दबंगों ने ईंट व पत्थर मारकर हत्या कर दी गई. @bihar_police दोषियों को गिरफ्तार कर सजा दिलवाई जाए. @NitishKumar सरकार में बिहार अत्याचारों का केंद्र बिंदु बन चुका है कानून का डर खत्म हो चुका है.

 

इस घटना के बारे में बताया जा रहा कि बहियारा निवासी हरिद्वार पासवान मंगलवार सुबह करीब 9 बजे खेत में दवाई छिड़कने के लिए गए थे और उनके साथ उनका भतीजा सुनील कुमार भी था. इस बीच दवाई छिड़काव करने के बाद उनका भतीजा करीब घर वापस चला आया. हरिद्वार पासवान खेत में ही आम के पेड़ के नीचे आराम करने चले गए. शाम को वापस लौटने पर उसने अपने चाचा को वहां नहीं पाया. देर शाम तक जब वह घर वापस नहीं आए तो उनकी खोजबीन की गई. लेकिन, कुछ पता नहीं चल पाया. बुधवार सुबह खेत पर जाते वक्‍त उसने शव को खेत में पड़ा देखा. परिजनों ने इसकी सूचना चांदी थाना को दी. एक रिपोर्ट के अनुसार, शव को देखने से प्रतीत हो रहा कि ईंट-पत्थर से मारपीट करने के बाद शरीर पर गर्म पानी फेंका गया है. पुलिस इस मामले की छानबीन कर रही है.

हरिद्वार पासवान के परिवार में पत्नी विमल देवी, छह पुत्री फुलवंती देवी, रेशमी देवी, कुसुम देवी, सुषमा देवी, लक्ष्मी देवी व लीला देवी एवं एक पुत्र उपेंद्र पासवान है. शव मिलने के बाद मृतक के घर में हाहाकार मच गया. इस घटना के बाद मृतक की पत्नी विमल देवी एवं परिवार के सभी सदस्यों का रो-रोकर बुरा हाल था.

झूठे आरोप लगाकर की दलित युवक की पिटाई, इलाज के लिए ले जाते वक्त मौत; ग्रामीणों का फूटा गुस्सा

सिवान. बिहार के सिवान जिले के प्रखंड क्षेत्र के पनीयाडीह-पड़ौली बाजार के पास स्थित एक गांव में दलित युवक की पिटाई और फिर इलाज के लिए ले जाते वक्त उसकी मौत का मामला सामने आया है. दलित युवक की मौत के बाद ग्रामीणों में आक्रोश देखने को मिला. लोगों ने सड़क पर दलित युवक का शव रखकर प्रदर्शन किया.

मृतक के भाई का कहना है कि उसका बेटा और भाई बुधवार को पनीयाडीह में शटरिंग का काम कर रहे थे. इसी बीच करीब 11 बजे दलित युवक के पास घर बनाने का काम करने से संबंधित एक कॉल आया. जब उनका बेटा और भाई वहां गए तो आरोपियों में शामिल नीतीश ने अपने घर का काम नहीं करने का आरोप लगाते हुए युवक को जातिसूचक गाली दी.

विरोध करने पर की दलित युवक की पिटाई
नीतीश द्वारा जातिसूचक गालियां दिए जाने का विरोध करने पर दलित युवक को जान से मारने की धमकी देते हुए उन्होंने उसकी पिटाई शुरू कर दी. मृतक के भाई का आरोप है कि नीतीश कुमार सहित अन्य लोगों द्वारा पिटाई किए जाने के बाद उनके भाई के सिर पर गंभीर चोट लग गई.

ये भी पढ़ें- युविका चौधरी के ‘भंगी’ वाले बयान पर बोले पति प्रिंस नरूला- ‘ये तो छोटी सी बात है’

उनके शोर मचाने पर आसपास के लोग पहुंचे तो सभी आरोपी फरार हो गए. प्रारंभिक इलाज के लिए दलित युवक को नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया. हालांकि डॉक्टर ने युवक को तुरंत शहरी अस्पताल में भर्ती कराने की सलाह दी. पटना ले जाने के दौरान ही रास्ते में युवक की मौत हो गई.

परिवार को न्याय दिलाने की मांग
वहीं, इस घटना पर भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने ट्वीट किया, ‘देश में जाति आधारित नरसंहार भयावह रूप ले रहा है. बिहार के सिवान जिले में घर का काम न करने पर 8 कायरों ने मिलकर एक SC व्यक्ति की बर्बर हत्या कर दी. पुलिस अभी तक सभी हत्यारों को गिरफ्तार नहीं कर सकी है. भीम आर्मी/ASP की टीम मौके पर डटी हुई है पीड़ित परिवार को न्याय दिलाकर रहेंगे.

दलित आवाज़ के यूट्यूब चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें…

दलित नाबालिग को अगवा कर जबरन करवाया धर्मांतरण, फिर किया निकाह…

पटना. बिहार के जमुई जिले में एक 15 साल की नाबालिग को किडनैप कर पहले जबरन धर्म परिवर्तन कराने और फिर निकाह करने का मामला सामने आया है. घटना चंद्रदीप थाना इलाके की है, जहां पीड़ित परिवार ने पुलिस में शिकायत देते हुए अपनी नाबालिग बेटी को किडनैप कर जबरदस्ती निकाह करने का आरोप लगाया है.

पुलिस शिकायत में पीड़ित लड़की के पिता ने कहा, 23 मई की रात आठ बजे उनकी बेटी शौच करने के लिए बाहर गई थी. उसके बाद से वह घर नहीं लौटी है. 30 मई को पता चला कि दीननगर निवासी मोहम्मद मुस्ताक के पुत्र पप्पू खान ने जबरन उसका धर्म परिवर्तन कराकर उससे निकाह कर लिया है. जब लड़की के परिजन खान के घर पहुंचे, तो उसने गाली-गलौज करते हुए सबको वहां से भगा दिया. साथ ही धमकी दी कि इसकी शिकायत थाने में या कहीं और की तो पर लड़की के पूरे परिवार को जान से मार देगा.

अगल-बगल की लड़कियों को भी उठा लेंगे
उसने धमकी देते हुए कहा कि तुम शिकायत करोगे तो तुम्हारे अगल-बगल की सभी लड़कियों को भी उठा लेंगे. पीड़ित परिवार ने पुलिस से उन लोगों को सुरक्षा देने की मांग करते हुए कहा कि उनकी तादाद गांव में काफी कम है, ऐसे में उन लोगों के साथ कुछ भी अनहोनी हो सकती है.

ये भी पढ़ेंः- UP Assembly Elections 2022: यूपी विधानसभा चुनावों की तैयारी में मायावती, बसपा में किया बड़ा फेरबदल

राज्य में धर्म परिवर्तन संबंधित कानून नहीं
आवेदन मिलने के बाद चंद्रदीप थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और छानबीन शुरू कर दी गई है. इस मामले पर SDPO का कहना है कि बिहार में धर्म परिवर्तन से संबंधित कोई कानून लागू नहीं है. लेकिन, अपराध के मुताबिक आरोपियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी.

दलित आवाज़ के यूट्यूब चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें…

बिहार समाचार, बिहार पुलिस, दलित शख्स की पिटाई के बाद मौत, दबंगों ने दलित को पीटा, murder for water in bihar ,dalit man beaten death, bihar dabang attack beaten dalit man, chhapra me pani ke liye murder, Bihar Police, bihar news, chhapra News, chhapra News in Hindi, Latest chhapra News

नल से पानी पीने पर दलित युवक की दबंगों ने की पिटाई, इलाज के दौरान तोड़ा दम

पटना. पिछले दिनों पूर्णिया में महादलितों के साथ हुए अत्याचार की घटना को अभी कुछ घंटे ही बीते हैं कि बिहार के एक और शहर में दलित के साथ हिंसा की घटना सामने आई है. प्रदेश के छपरा जिले में एक दलित युवक को कुछ दबंगों (Dalit Beaten in Chhapra) ने पीट-पीटकर अधमरा कर दिया. दलित युवक का गुनाह सिर्फ ये है कि उसने गांव के सार्वजनिक हैंडपंप से पानी पी लिया. दलित युवक को इतनी बेहरमी से पीटा गया कि इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

एनबीटी पर प्रकाशित खबर के अनुसार, यह मामला 15 मई को भेल्दी थाना इलाके के मौलानापुर गांव की है. मृतक दलित युवक की पहचान शिवप्रसाद के तौर पर हुई है. इस मामले में चंदन कुमार ने पुलिस स्टेशन (Bihar Police) में मामला दर्ज करवाया था. अपनी रिपोर्ट में चंदन ने कहा था कि घर के आधा दर्जन सदस्य सार्वजनिक नल पर हाथ-पैर धो रहे थे. इस दौरान एक युवक आया और हवा में पिस्तौल लहराते हुए अपशब्द कहने लगा.

सार्वजनिक नल पर हाथ-पैर धोने से किया मना
पिस्तौल लहराते हुए युवक ने दलित लोगों को सार्वजनिक नल का इस्तेमाल करने से रोका. जब वो नहीं मानें तो दलित युवक की लाठी-डंडों से पिटाई कर दी. बताया जा रहा कि इस पिटाई से जख्मी शिवप्रसाद राम की 23 मई को पटना में इलाज के दौरान मौत हो गई.

लोगों ने सड़क जाम कर किया प्रदर्शन
दलित युवक की दबंगों द्वारा पिटाई और फिर इलाज के दौरान मौत होने की घटना से समुदाय के लोगों में काफी गुस्सा देखा जा रहा है. सोमवार देर शाम आक्रोशित लोगों ने भेल्दी के पास सड़क को जाम कर प्रदर्शन किया.