Breaking

Azad Samaj Party

lakhbir-got-30000-for-spoiling-kisan-andolan-skm-asp-said-morcha-suffers-from-ethnic-frustration

लखबीर को आंदोलन खराब करने के लिए 30 हजार मिले: SKM | असपा बोली- मोर्चा जातीय कुंठा से ग्रस्त

नई दिल्‍ली : बीते 15 अक्टूबर को किसान आंदोलन (Kisan Andolan) विरोध स्‍थल पर मौजूद निहंग सिखों के एक समूह द्वारा सिंघु बॉर्डर (Singhu Border) पर पंजाब (Punjab) के दलित मजदूर लखबीर सिंह (Dalit Lakhbir Singh Murder) की गई निर्मम हत्‍या के मामले में संयुक्‍त किसान मोर्चा (Samyukt Kisan Morcha) ने नया बयान जारी किया है. मोर्चे ने आरोप लगाया है कि लखबीर सिंह को किसी से तीस हजार रुपये मिले थे और यह आंदोलन को पटरी से उतारने के लिए दिए गए. मोर्चा के इस बयान पर आजाद समाज पार्टी (Azad Samaj Party) ने नाराजगी जताई है. पार्टी के प्रवक्‍ता सूरज कुमार बौद्ध ने इसे शर्मनाम बताते हुए कहा कि मोर्चा जातीय कुंठा से ग्रस्त नजर आता है.

चंद्रशेखर आजाद की पंजाब CM से मांग, दलित लखबीर की हत्‍या की CBI जांच हो, परिवार को 1 करोड़ की मदद दी जाए

किसान आंदोलन (Kisan Andolan) का नेतृत्‍व कर रहे संयुक्‍त किसान मोर्चा ने शुक्रवार को जारी अपने दैनिक प्रेस बुलेटिन में कहा कि ‘बीते 15 अक्टूबर को निहंग सिखों के एक समूह द्वारा सिंघु बॉर्डर पर लखबीर सिंह का एक ताजा वीडियो सामने आने के बाद, यह मालूम होता है कि लखबीर सिंह (Lakhbir Singh) को किसी से तीस हजार रुपये मिले थे, और यह आंदोलन को पटरी से उतारने के लिए दिए गए थे’.

मिशन आंबेडकर सिंघु बॉर्डर पर दलित लखबीर की हत्‍या केस को लेकर UN मानवाधिकार उच्‍चायुक्‍त ऑफिस तक पहुंचा

मोर्चा ने आगे कहा कि, ‘एसकेएम ने इस पूरे मामले की जांच उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश से कराने की अपनी मांग दोहराई है ताकि हिंसक घटनाओं के पीछे की साजिश का पर्दाफाश हो सके’.

लखबीर सिंह हत्‍याकांड को लेकर SC Commission के अध्‍यक्ष का अकाल तख्‍त के मुखिया को पत्र

वहीं, आजाद समाज पार्टी (Azad Samaj Party) ने मोर्चा के इस बयान पर गहरी नाराजगी जताई. पार्टी प्रवक्‍ता सूरज कुमार बौद्ध ने माइक्रो ब्‍लॉगिंग साइट ट्विटर पर लिखा, ‘पहले लखबीर को नृशंसता से मारा गया और फिर तलवार की नोक पर अधमरे पड़े इंसान से ₹30 हजार लेकर बेअदबी की बात उगलवाना शर्मनाक है’. उन्‍होंने आगे लिखा, ‘इससे भी शर्मनाक ‘ज़मीदार मोर्चा’ का बयान है, जिसमें वे इसे आधार बनाकर बयान जारी कर रहे हैं. मोर्चा जातीय कुंठा से ग्रस्त नजर आता है’.

लखबीर सिंह हत्‍याकांड से जुड़ी सभी खबरें यहां क्लिक कर पढ़ें…

 

सिंघु बॉर्डर पर कत्‍ल किए गए Dalit Lakhbir Singh के हत्‍यारों ने उन पर बेअदबी का केस दर्ज कराया

Uttar Pradesh assembly election 2022 Chandrashekhar Azad big promise for UP Police in Jaunpur

चुनाव जीतते ही यूपी पुलिसकर्मियों की ड्यूटी 8 घंटे करेंगे, हर हफ्ते एक छुट्टी देंगे, सैलरी बढ़ाएंगे : चंद्रशेखर आजाद का बड़ा वादा

नई दिल्‍ली/जौनपुर : आगामी उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (Uttar Pradesh Assembly Election 2022) से पहले भीम आर्मी चीफ (Bhim Army) और आजाद समाज पार्टी (Azad Samaj Party) के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) ने उत्‍तर प्रदेश पुलिस (UP Police) के कर्मियों को लेकर एक बड़ा वादा किया. उन्‍होंने वादा करते हुए कहा कि अगर चुनाव जीतकर हम सरकार में आते हैं तो हमने तय किया कि पुलिस की ड्यूटी आठ घंटे करेंगे. हर हफ्ते में उन्‍हें एक छुट्टी देंगे. उनकी तनख्‍वाह बढ़ाएंगे कि उन्‍हें अपना घर चलाने के लिए किसी तरह के करप्‍शन की जरूरत ना पड़े. चंद्रशेखर आजाद ने यह ऐलान समाजिक परिवर्तन व आर्थिक मुक्ति आंदोलन को आगे बढ़ाते हुए जौनपुर (Jaunpur) में आयोजित बहुजन समाज भाईचारा बनाओ महासम्मेलन में किया.

पढ़ें, चंद्रशेखर आजाद के भाषण के मुख्‍य अंश:

-भारतीय संविधान अंतिम व्‍यक्ति को भी रोटी, कपड़ा, मकान, चिकित्‍सा, शिक्षा, रोजगार और न्‍याय की गारंटी देता है.

-जब बहुजन समाज के पढ़े लिखे लोग सदन में जाएंगे, वहां बहुजनों के लिए आवाज़ उठाएंगे, तभी यह आंदोलन सफल होगा.

-आज लोकतंत्र नहीं, बल्कि धनतंत्र है.

-हम आजाद समाज पार्टी के माध्‍यम से मेहनत करने वाले ईमानदार नौजवानों को हम लोग विधानसभा भेजने का काम करेंगे.

-क्‍योंकि अगर पैसेवाले गरीबों के बारे में सोचते तो मैं पूरे विश्‍वास से कहता हूं कि कोई भी आदमी इस देश में गरीब नहीं रहता.

-चार महीने बाकी हैं. जितनी मेहनत आपने आज की है, अगर अगले चार महीने में की, आपने गांव गांव जाकर बहुजन समाज में भाईचारा बनाने का काम किया, लोगों को जोड़ने का काम किया, आजाद समाज पार्टी की नीति, नियत, उद्देश्‍य बताने का काम किया, माता बहनों को सचेत करने का काम किया तो मैं विश्‍वास से कहता हूं कि आपके सामने कोई टिक नहीं पाएगा.

-प्रदेश परिवर्तन मांग रहा है और उस प्रदेश की कुर्सी पर आपका भाई, आपका लाल बैठेगा.

-सिंघु बॉर्डर पर भाई लखबीर सिंह की हत्‍या हुई. सारे नेता चुप. वो इसलिए क्‍योंकि उनका वोट बैंक ना बिगड़ जाए. कोई बोलने को राजी नहीं है. लेकिन आपका भाई वहां गया और उस परिवार को न्‍याय दिलाने का विश्‍वास दिलाया.

-बहनों की सुरक्षा के लिए भीम आर्मी से ज्‍यादा कोई नहीं, जो बहनों के सम्‍मान के लिए लड़ता हो.

-जो बहुजन समाज के लोग पुलिस सेवा में हैं, वो हमेशा ये प्रयास करते हैं जो गरीब, परेशान पीडि़त उनके पास आ गया, उसे न्‍याय दिला दें, लेकिन सरकार मैं बैठे हुए लोग उनके हाथ बांध देते हैं. वो उनको कुछ करने नहीं देते.

-हम सरकार में आएंगे तो सबसे पहले अलग विकलांग आयोग बनाएंगे. हर विकलांग को पंचायत में आरक्षण की व्‍यवस्‍था कराकर देंगे. उनको भी मुख्‍य धारा में जोड़ेंगे.

(Uttar Pradesh Assembly Election 2022)

चंद्रशेखर आजाद से जुड़ी सभी खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Dalit Lakhbir Singh Murder case CBI inquiry demands by Chandrashekhar Azad from Punjab CM

चंद्रशेखर आजाद की पंजाब CM से मांग, दलित लखबीर की हत्‍या की CBI जांच हो, परिवार को 1 करोड़ की मदद दी जाए

नई दिल्‍ली : सिंघु बॉर्डर पर किसान आंदोलन (Kisan Andolan) के बीच दलित मजदूर लखबीर सिंह (Dalit Lakhbir Singh) की निहंगों द्वारा की गई निर्मम हत्‍या के मामले में भीम आर्मी और आजाद समाज पार्टी ने सीबीआई जांच (CBI Inquiry) की मांग उठाई है. भीम आर्मी (Bhim Army) के मुखिया और आजाद समाज पार्टी (Azad Samaj Party) के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) ने इस बाबत पंजाब के मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह चन्‍नी (Charanjit Singh Channi) को पत्र लिखा है और कहा है कि मामले में निष्‍पक्ष न्‍याय के लिए इसकी सीबीआई से जांच कराई जाए. इसके साथ ही पीडि़त परिवार को एक करोड़ का मुआवजा देने तथा उन्‍हें पुलिस प्रोटेक्‍शन दिए जाने की मांग की गई है.

सोमवार को पंजाब के तरणतारण जिला स्थित मृतक दलित लखबीर सिंह (Dalit Lakhbir Singh) के गांव पहुंचे चंद्रशेखर आजाद ने यहां लखबीर सिंह के घर जाकर उनके परिजनों से मुलाकात की. यहां काफी देर रहकर उन्‍होंने परिवार का दुख-दर्द सुना. साथ ही उनकी हरसंभव मदद करने का आश्‍वासन भी दिया. चंद्रशेखर आजाद ने गांववालों से भी बातचीत की, जिसके बाद उन्‍होंने पंजाब के सीएम चरणजीत चन्‍नी को पत्र लिखकर पीडि़त परिवार के लिए न्‍याय की मांग उठाई.

मिशन आंबेडकर सिंघु बॉर्डर पर दलित लखबीर की हत्‍या केस को लेकर UN मानवाधिकार उच्‍चायुक्‍त ऑफिस तक पहुंचा

उन्‍होंने पत्र में लिखा, बीते 14-15 अक्‍टूबर को सिंघु बॉर्डर (Singhu Border) पर किसान आंदोलन (Kisan Andolan) के मंच के पास आपके राज्‍य के दलित मजदूर लखबीर सिंह की हत्‍या कर दी गई थी. उस पर आरोप लगाया जा रहा है कि उसने धार्मिक ग्रंथ की बेअदबी की थी. लखबीर के गांववालों और परिवारवालों से मुलाकात के बाद जो तथ्‍य सामने आए हैं, उससे इस मामले में संदेह पैदा हो रहा है. परिवार का साफ कहना है कि लखबीर ऐसा नहीं कर सकता. उन्‍होंने पत्र में आगे लिखा, मेरा तो ये भी मानना है कि अगर ये आरोप सही भी मान लिए जाएं तो किसी को कानून हाथ में लेने की इजाजत नहीं है. ऐसे मामलों से निपटने के लिए देश में कानून है, कोर्ट है. अब स्थिति ये है कि परिवार लगातार अपमान झेल रहा है और साथ ही वे लोग खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं.

 

उन्‍होंने पत्र में पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्‍नी (Punjab CM Charanjit Singh Channi) से आगे कहा कि लिहाजा, इस मामले की निष्‍पक्ष जांच के लिए केंद्र सरकार को लिखें. पीडि़त परिवार को एक करोड़ रुपये का मुआवजा दिया जाए. इसके साथ ही परिवार की सुरक्षा की जिम्‍मेदारी आपकी पुलिस ले और जरूरी हो तो परिवार को चंडीगढ़ में फ्लैट देकर शिफ्ट किया जाए.

वहीं, इस मामले को लेकर आजाद समाज पार्टी के प्रवक्‍ता सूरज कुमार बौद्ध (Suraj Kumar Bauddh) का कहना है कि अब हम इस पूरे प्रकरण को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पत्र लिखेंगे. इस घटना का लेकर ऐसा लग रहा है कि केंद्र सरकार को एक्‍शन लेना चाहिए, क्‍योंकि राज्‍य सरकार इस मामले में फेल साबित हो रही है. निहंगों ने इसे एक धार्मिक मसला बना दिया है, इसलिए कोई भी परिवार के साथ खड़ा नहीं हो रहा है. बीजेपी और कांग्रेस आगामी चुनाव के चलते कुछ करना नहीं चाह रही है और धार्मिक रंग होने के चलते शिअद इसमें कुछ करेगी नहीं. हम यह भी देख रहे हैं कि परिवार की आर्थिक मदद भी कैसे की जाए.

High speed truck killed 3 childs of Dalit family Azad Samaj Party warned Damoh administration

तेज रफ्तार ट्रक ने बुझा दिए दलित परिवार के तीन चिराग, आजाद समाज पार्टी ने दमोह प्रशासन को दी चेतावनी

नई दिल्‍ली/दमोह: बीते 4 दिन पूर्व मध्‍य प्रदेश (Madhya Pradesh) के बटियागढ़ थाना अंतर्गत ग्राम आंजनी की टपरियो में एक तेज रफ्तार ट्रक ने हंसते-खेलते दलित परिवार (Dalit Family) का जीवन तहस नहस कर दिया. इस तेज रफतार ट्रक की चपेट में आकर हरिराम अहिरवार के 2 पुत्र और एक पुत्री की मृत्‍यु हो गई. साथ ही हरिराम और उनकी पत्नी गंभीर हालत में आज भी दमोह चिकित्सालय में भर्ती हैं. हरिराम अहिरवार के परिवार से मिलने एवं उनकी समस्याओं को सुनने आजाद समाज पार्टी (कांशीराम) (Azad Samaj Party) के प्रदेश अध्यक्ष कोमल अहिरवार (Komal Ahirwar) अपनी टीम को लेकर मौके पर पहुंचे, जहां मृतकों के परिजनों ने उन्‍हें बताया क‍ि उनके बच्चों की जान बच जाती अगर समय पर एम्बुलेंस आ जाती. दो घंटे बाद एम्बुलेंस आई, जिसमे ऑक्सीजन नहीं थी.

कोमल अहिरवार ने बताया कि मृतक बच्‍चों के परिजनों ने उन्‍हें बताया क‍ि शासकीय चिकित्सालय बटियागढ़ में भी ऑक्सीजन उपलब्ध नहीं थी, इस लापरवाही ने उनके बच्चों की जान ली है. अगर बटियागढ़ पुलिस और RTO विभाग ने इन ओवरलोड डंफरों पर निगरानी रखी होती एवं रोड ठेकेदार ने ग्राम में स्पीड ब्रेकर बनवाए होते तो मेरे तीनों बच्चों की जान बच जाती है. उन्‍होंने कहा कि इन से भी बड़े हत्यारे ग्राम के सरपंच सचिव हैं, जिन्होंने PM आवास योजना का लाभ सिर्फ इसलिए नही दिया क्योंकि हम गरीबी के कारण 20 हजार रुपए नहीं दे पाए थे. अगर मेरी टपरिया की जगह पक्का मकान होता तो मेरा परिवार की सुरक्षा यह घर कर देता पर ऐसा नहीं हो सका और मेरे परिवार के तीनों चिराग बुझ गए.

प्रदेश अध्यक्ष कोमल अहिरवार (Komal Ahirwar) उनकी व्यथा सुनकर भावुक हो गए एवं मृतकों के परिजनों से वादा किया कि मैं दमोह से लेकर दिल्ली तक भी जाना पड़ा तो भी जाऊंगा पर दोषियों को दंड दिलाकर ही रहूंगा. साथ दमोह प्रशासन को चेतावनी दी कि तीन दिन के अंदर सबसे पहले बटियागढ़ अस्पताल में घटना के समय डयूटी पर उपस्थित समस्त अधिकारी कर्मचारियों को निलंबित किया जाए एवं एम्बुलेंस के कर्मचारियों को निलंबित मुकदमा किया जाए.

उन्‍होंने कहा कि RTO विभाग तत्काल ओवरलोडिड ट्रकों को राज सास किया जाए एवं आंजनी ग्राम में ही नहीं प्रत्येक ग्राम में कम से कम 10 स्पीड ब्रेकर बनवाए जाएं. साथ PM आवास के अंतर्गत मकान बनवाने का कार्य शुरू किया जाए एवं 10-10 लाख रुपये राशि की मदद की जाए अन्यथा तीन दिवस बाद भीम आर्मी, आज़ाद समाज पार्टी ग्राम वासियों के साथ मिलकर पूरे 18 Km की सड़क पर अपने हाथों से सड़क खोदकर स्पीड ब्रेकर बनाएंगे, जिसकी जिम्मेदारी दमोह प्रशासन की होगी.

मध्यप्रदेश आजाद समाज पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के साथ मुख्य रूप से आजाद समाज पार्टी कांशीराम के संभाग उपाध्यक्ष विजय चौधरी, संभाग महासचिव वीरेश सेन, संभाग महासचिव अनुराग चौधरी, संभाग सचिव संदीप, जिला प्रभारी इमरान खान, पूर्व नगर अध्यक्ष यशवंत एवं पथरिया विधान सभा प्रभारी जान मोहम्मद खान एवं विधानसभा सचिव हाकम सिंह के साथ ग्रामवासी उपस्थित थे.