Madhya Pradesh

Madhya Pradesh Dalit groom stopped from climbing mare said Dalit will not sit on mare in this village

Madhya Pradesh: दलित दूल्हे को घोड़ी चढ़ने से रोका, कहा- इस गांव में दलित घोड़ी पर नहीं बैठेगा

नई दिल्ली/धार : मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के धार जिले (Dhar District) के कानवन थाना अंतर्गत ग्राम खंडी गारा में शुक्रवार रात दबंगों ने दलित दूल्हे का घोड़ी पर चढ़ने से रोक दिया (Dalit groom stopped from riding a mare). दलित दूल्हे को घोड़ी पर बिठाकर गांव में बारात निकालने की तैयारी थी, लेकिन दबंगों ने दलित दूल्हे को घोड़ी पर नहीं चढ़ने दिया. जब अनुसूचित जाति (Scheduled Caste) वर्ग की बारात में दूल्हे को घोड़ी पर बिठाकर गांव में निकाले जाने का मामला बढ़ते देख पुलिस तक बुलानी पड़ी. तब कहीं जाकर पुलिस की मौजूदगी में दूल्हे को घोड़ी पर बैठाकर बारात निकाली गई. इस बाबत कानवन पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 5 लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है.

उदयसिंह नानूराम बंजारीया निवासी बैंगनदा ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाई कि उसके बेटे शैलेश की शादी गांव खंडी गारा में केसर सिंह की लड़की से हो रही थी. बीते शुक्रवार रात 10 बजे बारात खंडीगारा के गेट पर पहुंची तो यहां दूल्हे को घोड़ी पर बिठाया गया और गाजे बाजे के साथ बारात निकाली गई. इसी दौरान कुछ युवक बाइक से यहां आए और उन्‍होंने कहा कि इस गांव में दलित दूल्हा (Dalit groom) घोड़ी पर बैठकर नहीं जाएगा. उन्होंने जातिसूचक शब्दों (Caste Slur) का प्रयोग करते हुए गाली गलौज तक की. लड़की वालों ने इन युवकों को काफी मनाने की कोशिश की, लेकिन एक नहीं सुनी.

इसके चलते पुलिस को सूचना दी गई तो पुलिस के मौके पर पहुंचने पर ये युवक यहां से फरार हो . इसके बाद पुलिस की सुरक्षा में दूल्हे को दोबारा से घोड़ी पर बिठाकर बारात निकाली गई. बारात के आगे पीछे पुलिस के जवान चल रहे थे.

देर रात शादी संपन्न होने के बाद पुलिस ने कार्रवाई की और मामले में दिलीप सिंह, सिंह, गट्टू सिंह, नेपाल सिंह, दशरथ सिंह सभी निवासी खंडी गारा के विरुद्ध केस दर्ज किया गया.

(Dalit groom stopped from riding mare)

Madhya Pradesh Rajgarh 11 Arrested For Halting Dalit Man Marriage Procession Ransacking Venue

Madhya Pradesh: दलित की शादी में डीजे बजाने एवं जुलूस निकालने पर ग्रामीणों ने की तोड़फोड़, 11 गिरफ्तार

राजगढ़ : मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले (Madhya Pradesh Rajgarh district) में एक दलित व्यक्ति की शादी (Dalit man marriage) में डीजे बजाने एवं जुलूस निकालने और ग्रामीणों द्वारा उनके साथ मारपीट करने एवं शादी स्थल पर तोड़फोड़ करने के लिए पुलिस ने 38 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है, जिनमें से 11 लोगों की गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस ने इसकी जानकारी दी.

Unnao Dalit Woman Murder Case : मृतक दलित महिला की गर्दन और सिर की हड्डी पर मिली गंभीर चोट

पुलिस अधीक्षक प्रदीप शर्मा ने बताया कि राजगढ़ जिले के माचलपुर थाना क्षेत्र के कचनारिया गांव (Kachanaria village of Machalpur police station area of Rajgarh district) में शनिवार रात को एक दलित परिवार (Dalit Family Wedding) के बेटे के विवाह में डीजे बजाने और जुलूस ना निकालने की बात को लेकर विवाद हुआ था, जिसमें गांव के लोगों ने शादी वाले परिवार के साथ मारपीट की और टेंट फाड़ दिया.

Noida Dalit Atrocities : दलित परिवार पर जातिवादी गुंडों का जानलेवा हमला, SC/ST Act में केस दर्ज

उन्होंने कहा कि सूचना मिलते ही पुलिस रात में ही मौके पर पहुंची और 38 लोगों के खिलाफ नामजद मामला दर्ज किया गया, जिसमें से 11 लोगों की गिरफ्तारी की जा चुकी है. शर्मा ने बताया कि बाकी लोगों की तलाश जारी है. उन्होंने कहा कि कि यह घटना कचनारिया गांव में रहने वाले राजेश अहिरवार के विवाह में हुआ.

घर में शौचालय न होने की वजह से शौच के लिए बाहर गई दलित युवती की गैंगरेप के बाद निर्ममता से हत्‍या

अधिकारी ने बताया कि रविवार को पुलिस बल की मौजूदगी में दूल्हे राजेश अहिरवार को घोड़ी पर बैठा कर डीजे के साथ जुलूस भी निकाला गया है. उन्होंने कहा कि कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए गांव में कई पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है और दूल्हे के परिवार को हर तरह की मदद और सुरक्षा का आश्वासन दिया गया है.

(Dalit man marriage)

further plan of Bhim Army and Azad Samaj Party on OBC reservation in Madhya Pradesh

OBC Reservation: मध्‍यप्रदेश में ओबीसी आरक्षण पर अब भीम आर्मी और आजाद समाज पार्टी का अगला प्‍लान क्‍या है?

नई दिल्‍ली/भोपाल : मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में ओबीसी आरक्षण (OBC Reservation) को लेकर आंदोलन में शामिल होने पहुंचे आजाद समाज पार्टी (Azad Samaj Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) को रविवार को भोपाल में हिरासत में लिए जाने और फि‍र देर रात रिहा किए जाने के बाद माहौल गर्म है. प्रदेश में संगठन और पार्टी के कार्यकर्ताओं-समर्थकों को बड़ी तादाद में पुलिस-प्रशासन द्वारा हिरासत में लेने, उनकी गाडि़यों पर हमला किए जाने के कई वीडियो सामने आए. इसके बाद ओबीसी आरक्षण को लेकर भीम आर्मी (Bhim Army) -असपा ने चुप नहीं बैठने को फैसला लिया है, बल्कि इस आंदोलन को व्‍यापक रूप से आगे बढ़ाने की रणनीति बनाई है. पार्टी सूत्रों के अनुसार, चंद्रशेखर आजाद एक बार फि‍र मध्‍य प्रदेश का दौरा कर सकते हैं.

Uttarakhand Assembly Election 2022 : चंद्रशेखर आजाद ने 3 सीटों पर उतारे प्रत्‍याशी, भूमिहीन किसानों से लेकर सफाईकर्मियों के लिए बड़े वादे

पार्टी-संगठन के एक-एक कार्यकर्ता की रिहाई को लेकर अड़े रहे चंद्रशेखर आजाद
आजाद समाज पार्टी के मध्‍यप्रदेश अध्‍यक्ष कोमल अहिरवार (Komal Ahirwar) ने दलित आवाज़ डॉट कॉम (dalitawaaz.com) से विशेष बातचीत में बताया कि OBC Reservation को लेकर आवाज़ उठाने के लिए आए पार्टी एवं संगठन प्रमुख चंद्रशेखर आजाद एवं उनके साथियों को भोपाल एयरपोर्ट पर उतरते ही भोपाल पुलिस एवं प्रशासन ने हिरासत में ले लिया. उन्‍हें पूरा दिन डिटेन रखा गया. इस दौरान उन्‍हें डिटेन करने वाले डीआईडी ने किसी का भी फोन नहीं उठाया. उन्‍होंने कहा कि इस दौरान चंद्रशेखर आजाद भी अड़े रहे कि जब तक प्रदेश में हिरासत में लिए गए भीम आर्मी और आजाद समाज पार्टी के एक एक कार्यकर्ता को रिहा नहीं कर दिया जाएगा, वह वापस फ्लाइट में नहीं बैठेंगे. उन्‍होंने बताया कि जब यह स्‍पष्‍ट हो गया कि उनके एक-एक कार्यकर्ता को छोड़ दिया गया है, तभी रात को 10 बजे उन्‍हें हिरासत से छोड़ा गया और रात साढ़े 11 बजे की फ्लाइट से चंद्रशेखर आजाद दिल्‍ली रवाना हुए.

क्‍या आप मायावती से डरते हैं? जानिए क्‍या था चंद्रशेखद आजाद का बेबाक जवाब

22 कार्यकर्ताओं को भोपाल से उठाकर 87 किलोमीटर दूर ले जाया गया…
कोमल अहिरवार ने कहा कि रविवार को मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के पुलिस-प्रशासन ने दमनकारी नीतियां अपनाते हुए उन्‍हें भी दमोह स्थित उनके घर में नजरबंद कर दिया. उनके फोन भी बंद करा दिए गए और मजबूरी में उन्‍हें दूसरों के फोन से बात करनी पड़ी. उन्‍होंने बताया क‍ि कुछ जगह भी असपा और भीम आर्मी के सदस्‍यों के साथ पुलिस ने गलत बर्ताव दिखाया. उनका आरोप है कि गुना जिला थाना मकसूद उकवट चौकी के टीआई उनके करीब 22 कार्यकर्ताओं को भोपाल से उठाकर 87 किलोमीटर दूर ले गए और कहते रहे कि जब तक भोपाल से आदेश नहीं आएंगे तो वे उन्‍हें छोड़ेंगे नहीं. बाद में रात में नौ बजे इन लोगों को छोड़ा गया.

चुनाव जीतते ही यूपी पुलिसकर्मियों की ड्यूटी 8 घंटे करेंगे, हर हफ्ते एक छुट्टी देंगे, सैलरी बढ़ाएंगे : चंद्रशेखर आजाद का बड़ा वादा

पुलिस ने वाहनों को किया क्षतिग्रस्‍त..
उनका कहना है कि इस दौरान प्रदेश में जगह-जगह भीम आर्मी और आजाद समाज पाटी के लोगों के वाहनों को भी पुलिस द्वारा क्षतिग्रस्‍त किया गया, जिसके वीडियो भी पार्टी एवं संगठन कार्यकर्ताओं की ओर से बनाए गए, जोकि सोशल मीडिया पर वायरल भी हैं.

चंद्रशेखर आजाद की पंजाब CM से मांग, दलित लखबीर की हत्‍या की CBI जांच हो, परिवार को 1 करोड़ की मदद दी जाए

 

अब आगे क्‍या है रणनीति?
कोमल अहिरवार ने बताया कि हमने फैसला लिया है क‍ि जब तक ओबीसी को 27 प्रतिशत आरक्षण (OBC Reservation) नहीं मिल जाएगा, तब तक ये लड़ाई जारी रहेगी. उन्‍होंने बताया क‍ि प्रदेश की टीम से हुई चर्चा के अनुसार, आगे की रणनीति के तहत साल 2023 तक पूरे मध्‍य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान जहां-जहां भी जाएंगे, वहां-वहां भीम आर्मी और आजाद समाज पार्टी उन्‍हें काला झंडा दिखाएगी और उनका पुतला दहन करेगी. उन्‍होंने यह भी कहा कि शिवराज सिंह चौहान को चप्‍पल-जूतों की माला भी पहनाई जाएगी.

Lakhimpur Kheri हिंसा के बीच किसकी आजादी का जश्‍न मना रहे हैं? पीएम नरेंद्र मोदी से चंद्रशेखर आजाद का सवाल

UP चुनाव का रिजल्‍ट बता देगा, मैं हल्‍ला करता हूं या काम करता हूं… : चंद्रशेखर आजाद

 

Harda District Dalit woman stopped taking water from temple tap Madhya Pradesh Police is not taking action for 2 months

दलित महिला को मंदिर के नल से पानी लेने से रोका, रोज करते हैं परेशान, 2 महीने से पुलिस नहीं कर रही कार्रवाई

नई दिल्‍ली/हरदा : मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के हरदा जिले (Harda District) की एक दलित महिला (Dalit Woman) के साथ उत्‍पीड़न का मामला सामने आया है, जिस पर मध्‍य प्रदेश पुलिस शिकायत मिलने के दो महीने बाद भी कार्रवाई नहीं कर सकी है. महिला ने आरोप लगाया है कि दो लोगों ने उसे मंदिर के नल से पानी लेने से रोक दिया और शिकायत दर्ज कराए जाने के दो महीने बाद भी पुलिस ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है. उधर, मध्‍य प्रदेश पुलिस (Madhya Pradesh Police) का दावा है कि आरोपियों के बयान इसलिए दर्ज नहीं किए सके, क्योंकि दो बार उनके घर जाने के बाद भी वे अब तक नहीं मिले हैं.

Madhya Pradesh Rewa: मजदूरी मांगने पर दलित का हाथ तलवार से काटकर अलग किया

दीपिका (28) ने अपनी शिकायत में कहा है कि वह पति आकाश, अपनी मां और बच्चों के साथ हरदा जिले (Harda District) की गल्ला मंडी स्थित मंदिर के पास रहती हैं और घर से कुछ दूर रहने वाले गोलू पंडित तथा संदीप नाम के व्यक्ति आए दिन जातिसूचक शब्द (Casteist Words) बोलकर उन्हें अपमानित करते हैं तथा दोनों ने उसे अक्टूबर से गल्ला मंडी स्थित मंदिर के नल से पानी भी नहीं भरने दिया है. महिला ने आरोप लगाया कि इसके अलावा, उसके घर के बाहर स्थित शौचालय में पत्थर डालकर उसे बंद कर दिया गया.

Madhya Pradesh : दलित से शादी करने पर पिता ने बेटी को सबके सामने अर्धनग्‍न स्‍नान कराया, बाल कटवाए, झूठी पूड़ी खिलाई

दीपिका गुरुवार को यहां अनुसूचित जाति/जनजाति कल्याण (अजाक) थाने (SC/ST Welfare (Ajac) Police Station) पहुंचीं, जहां उन्होंने मीडिया से कहा कि कुछ दिन पहले उनकी बेटी मंदिर में चली गयी थी तो उसे भी धक्का देकर निकाल दिया गया, जिससे उसे चोट भी आयी.

Madhya Pradesh : तेज रफ्तार ट्रक ने बुझा दिए दलित परिवार के तीन चिराग, आजाद समाज पार्टी ने दमोह प्रशासन को दी चेतावनी

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने दोनों लोगों के खिलाफ 24 अक्टूबर और 25 नवंबर को दो बार पुलिस अधीक्षक से लिखित में शिकायत की थी, लेकिन लगभग दो माह बीतने के बाद भी मेरी शिकायत पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है.’’

मध्‍यप्रदेश के गुना में दलित महिला का टायर जलाकर, डीजल डालकर किया अंतिम संस्कार

वहीं, हरदा अजाक पुलिस थाने (Harda Ajak Police Station) के निरीक्षक अनुराग लाल ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि दीपिका की शिकायत पर एक टीम दोनों आरोपियों के बयान दर्ज करने के लिए दो बार उनके घर गई थी. उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन, वे दोनों हमें वहां नहीं मिले. हम उचित कार्रवाई कर रहे हैं.’’

मध्‍यप्रदेश : रोज अश्‍लील टिप्‍पणियों से परेशान थी दलित किशोरी, की आत्‍महत्‍या