Dalit Atrocities

Dalit Atrocities, dalit atrocities in india, dalit atrocities news, Latest News on Dalit atrocities, dalit atrocities act, dalit atrocities in tamil nadu, dalit atrocities in up, dalit atrocities in kerala, dalit atrocities statistics, dalit atrocities in karnataka, dalit atrocities in maharashtra, दलित अत्‍याचार, Violence Against Dalits, Crimes against Dalits, dalit oppression

भारत में दलित अत्याचार, दलित अत्याचार समाचार, दलित अत्याचारों पर नवीनतम समाचार, दलित अत्याचार अधिनियम, तमिलनाडु में दलित अत्याचार, उत्तर प्रदेश में दलित अत्याचार, केरल में दलित अत्याचार, दलित अत्याचार आँकड़े, दलित अत्याचार, कर्नाटक में दलित अत्याचार, दलित अत्याचार अत्याचार, दलितों के खिलाफ हिंसा, दलितों के खिलाफ अपराध, दलित उत्पीड़न

Uttar Pradesh Deoria Dalit Atrocities Dalit daughter in law thrashed by in laws put rod in her private part

Dalit Atrocities: बहू का छोटी जाति से होना सुसरावालों को नागंवारा, बांधकर पीटा, प्राइवेट पार्ट में रॉड डाली

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के देवरिया (Deoria) में प्रेम विवाह के चलते एक दलित महिला (Dalit Woman) को ससुराल वालों ने बेरहमी से पीटा है. दलित उत्‍पीड़न (Dalit Atrocities) के इस मामले में पीड़िता का कहना है कि सोते वक्‍त ससुराल वालों की तरफ से आए 6 से 7 लोगों ने उसे रस्‍सी से बांधकर बुरी तरह मारा. आरोप है कि महिला के प्राइवेट पार्ट में रॉड और डंडा भी डाला गया. पीड़िता के पति का कहना है कि उनके परिवार को उनकी पत्‍नी के छोटी जाति के होने से दिक्‍कत है. कई बार शिकायत करने पर भी आरोपियों की गिरफ़्तारी केवल इसलिए नहीं हुई, क्योंकि उसके चाचा बीजेपी किसान मोर्चा (BJP Kisan Morcha) में मंडल अध्यक्ष है.

न्‍यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार, देवरिया में हुई इस घटना की पीड़िता ने कहा कि, “21 जुलाई की रात जब हम लोग सो रहे थे कि तभी ससुराल वालों की तरफ से 6-7 लोग आए और मुझे रस्सी से बांधकर मारने लगे. उन्होंने मेरे प्राइवेट पार्ट में रॉड और डंडा भी डाला.”

UP Deoria Dalit Atrocities Dalit daughter in law thrashed by in laws

एजेंसी से बातचीत में महिला के पति ने कहा कि मेरे परिवार को मेरी पत्नी की छोटी जाति से दिक़्कत है. उन्होंने कई बार ऐसा किया है. मैंने किसी तरह अपनी बच्ची को बचाया और पुलिस बुलाई. मेरी पत्नी खुन निकलने से बेहोश थी. कई बार शिकायत की लेकिन गिरफ़्तारी नहीं हुई, क्योंकि मेरे चाचा BJP किसान मोर्चा में मंडल अध्यक्ष हैं.

UP Deoria Dalit Atrocities Dalit daughter in law thrashed by in laws put rod in her private part 1

इस घटना को लेकर देवरिया (Deoria) के एसपी संकल्‍प शर्मा ने कहा कि एक पीड़िता द्वारा अपने ही परिवारजनों सास-ससुर, देवर-ननद इत्यादी पर कुछ गंभीर आरोप लगाए हैं. इस संदर्भ में मदनपुर थाना में सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत किया जा चुका है और विवेचना चल रही है. तथ्यों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी.

Gujarat OBC youth attacked with sticks for playing DJ at Dalit girl wedding

गुजरात में OBC युवकों ने दलित युवती की शादी में डीजे बजाने पर लाठी से हमला किया

अहमदाबाद: (Dalit Atrocities) गुजरात (Gujarat) के अहमदाबाद जिले (Ahmedabad District) में डीजे (DJ) बजाने के मुद्दे पर एक दलित की शादी (Dalit Marriage) के जुलूस यानि बारात पर ओबीसी (OBC) युवकोंं द्वारा हमला करने के आरोप में पुलिस ने बृहस्पतिवार को छह लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज किया.

मुजफ्फरनगर: ‘कोई भी चमार राजबीर प्रधान की ट्यूबवेल, खेत की मेढ़, समाधि पर दिख गया तो 5000 जुर्माना और 50 जूते लगेंगे’

देतरोज पुलिस थाने (Detroj Police Station) के उप निरीक्षक एच. आर. पटेल ने कहा कि अहमदाबाद के देतरोज तालुका के डांगरवा गांव (Dangarva Village of Detroj Taluka) में दलित (Dalit) शख्‍स जगदीश परमार ने अपनी बेटी की शादी के मौके पर बृहस्पतिवार को एक जुलूस का आयोजन किया था.

Rajasthan: दलित नवदंंपत्ति‍ को पुजारी ने मंदिर में प्रवेश से रोका, बोला- तुम्‍हारी जगह बाहर है | VIDEO

पटेल ने कहा, “गांव में जब जुलूस एक स्थान पर पहुंचा तब ठाकोर (OBC) समुदाय के कुछ युवकों ने उस क्षेत्र में डीजे नहीं बजाने को कहा. इनकार किये जाने पर छह लोगों ने जुलूस में शामिल लोगों पर लाठी से हमला किया. इस हमले में वधू के पिता घायल हो गए.”

Dalit Atrocities : दलित को थूक में रगड़वाई नाक, मंदिर के लिए नहीं दिया था चंदा…

अधिकारी ने कहा कि घटना के संबंध में छह लोगों के विरुद्ध एक मामला दर्ज किया गया है और अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है.

Madhya Pradesh: दलित दूल्हे को घोड़ी चढ़ने से रोका, कहा- इस गांव में दलित घोड़ी पर नहीं बैठेगा

दलित उत्‍पीड़न (Dalit Atrocities) से संबंधित सभी रिपोर्ट यहां पढ़ें…

 

Muzaffarnagar Pawti Khurd village munadi viral by Rajbir Pradhan for Chamars

मुजफ्फरनगर: ‘कोई भी चमार राजबीर प्रधान की ट्यूबवेल, खेत की मेढ़, समाधि पर दिख गया तो 5000 जुर्माना और 50 जूते लगेंगे’

नई दिल्‍ली/मुजफ्फरनगर : देश को आजादी मिले 70 साल से ज्‍यादा होने को आए, लेकिन भारत में दलित समाज (Dalit Community) अभी तक जातिवाद के चंगुल से निकल नहीं पाया. उन पर आज भी तरह-तरह से अत्‍याचार (Dalit Atrocities) हो रहे हैं. मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar) में भी एक ऐसा ही मामला सामने आया है, जहां खुद को प्रधान मानने वाले एक राजबीर नामक शख्‍स ने पावटी खुर्द गांव (Muzaffarnagar Pawti Khurd Village) में मुनादी करा दी कि कोई भी चमार (Chamar) अगर राजबीर प्रधान की ट्यूबवेल, खेत की मेढ़ या समाधि पर दिख गया तो 5000 जुर्माना और 50 जूते लगेंगे. पुलिस इस मामले में गंभीर रुख अपनाए हुए है और मुनादी करने वाले शख्‍स को गिरफतार कर लिया गया है. जल्‍द ही आरोपी राजबीर को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

Rajasthan: दलित नवदंंपत्ति‍ को पुजारी ने मंदिर में प्रवेश से रोका, बोला- तुम्‍हारी जगह बाहर है | VIDEO

इस मामले के सामने आने के बाद भीम आर्मी के मुखिया (Bhim Army Chief) और आजादी समाज पार्टी (Azad Samaj Party) के अध्‍यक्ष चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) ने नाराजगी जताई और घोषणा की है कि राजबीर प्रधान की ये गलतफहमी दूर करने वह जल्द पावटी जाएंगे. उन्‍होंने लिखा, यूपी के ज़िला मुज़फ़्फ़रनगर के गांव पावटी खुर्द में खुलेआम मुनादी हो रही है कि “कोई भी ‘चमार’ (Chamar) उसकी डोल, समाधि,ट्यूबवेल पर दिख गया तो 5 हजार रुपए जुर्माना और 50 जूते होंगे! हिंदू बनने का जिनको शौक़ चढ़ा था, उन्हें अब समझ आ गया होगा. वैसे इनकी गलतफहमी दूर करने मैं जल्द पावटी जाऊंगा. ये है मोदी और योगी के रामराज्य की एक झलक. लेकिन याद रखिये यह गुलाम भारत नही है, यह आजाद भारत है जो भारतीय संविधान से चलता है. भीम आर्मी के रहते ये गुंडागर्दी अब नहीं चलेगी.

क्‍या आप मायावती से डरते हैं? जानिए क्‍या था चंद्रशेखद आजाद का बेबाक जवाब

 

Dalit Atrocities : दलित को थूक में रगड़वाई नाक, मंदिर के लिए नहीं दिया था चंदा…

दरअसल, मुजफ्फरनगर कोर्ट (Muzaffarnagar Court) में पेशी के दौरान मारे गए कुख्यात विक्की त्यागी के पिता राजबीर प्रधान के नाम से पावटी खुर्द में मुनादी कराई गई है कि अनुसूचित जाति की चमार जाति से ताल्‍लुक रखने वाला का कोई भी व्यक्ति उसकी ट्यूबवेल, खेत की मेढ़ या समाधि पर दिख गया तो उसे पांच हजार रुपये जुर्माना और 50 जूते लगाए जाएंगे.

Madhya Pradesh: दलित दूल्हे को घोड़ी चढ़ने से रोका, कहा- इस गांव में दलित घोड़ी पर नहीं बैठेगा

इस मुनादी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो जाने पर मुजफ्फरनगर पुलिस हरकत में आई और मुनादी करने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है. एसएसपी अभिषेक यादव (SSP Abhishek Yadav) का कहना है कि गंभीर धाराओं में मामला दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है. राजवीर की गिरफ्तारी भी अति शीघ्र कराई जाएगी.

राजस्थान: धौलपुर में पति-बच्चों के सामने दलित महिला से गैंगरेप, रोते-बिखलते रहे मासूम

बता दें कि जिस राजबीर प्रधान नाम के व्‍यक्ति ने यह मुनादी कराई वह विक्रांत उर्फ विक्की त्यागी का पिता है, जिसकी फरवरी 2015 में कोर्ट में पेशी के दौरान हत्या कर दी गई थी. एसओ ज्ञानेश्वर बौद्ध ने पुलिसकर्मी विक्की त्यागी के घर पर भेजे, लेकिन कोई मिला नहीं.

(Muzaffarnagar Pawti Khurd Village)

Jharkhand : रामगढ़ में दलित युवती से रेप कर उसकी फिल्म बनाने वाला गिरफ्तार

दलित उत्‍पीड़न से जुड़े सभी समाचार यहां पढ़ें…

Rajasthan Jalore priest stopped Dalit newlyweds from entering temple SC ST Act

Rajasthan: दलित नवदंंपत्ति‍ को पुजारी ने मंदिर में प्रवेश से रोका, बोला- तुम्‍हारी जगह बाहर है | VIDEO

नई दिल्‍ली/जोधपुर : (Dalit Atrocities) राजस्थान पुलिस (Rajasthan Police) ने जालोर (Jalore) के एक मंदिर में एक नवविवाहित दलित जोड़े (Newly Married Dalit Couple) को पूजा करने की अनुमति नहीं देने के आरोप में एक पुजारी को रविवार को गिरफ्तार किया. यह जानकारी अधिकारियों ने दी. शनिवार को हुई घटना का एक वीडियो भी वायरल हो गया, जिसमें वेला भारती जिले के अहोर अनुमंडल अंतर्गत नीलकंठ गांव में मंदिर के द्वार पर दलित दंपति (Dalit Couple) को कथित तौर पर रोकते दिख रहे हैं. वीडियो में उनके बीच हुई बहस भी रिकार्ड हो गई.

Dalit Atrocities : दलित को थूक में रगड़वाई नाक, मंदिर के लिए नहीं दिया था चंदा…

पीड़ित परिवार के सदस्यों ने उसके बाद पुलिस से संपर्क किया और पुजारी के खिलाफ अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार रोकथाम) अधिनियम (Scheduled Castes and Scheduled Tribes (Prevention of Atrocities) Act) के तहत मामला दर्ज कराया.

जालोर के पुलिस अधीक्षक हर्षवर्धन अग्रवाल ने रविवार को कहा, ‘‘हमने पुजारी के खिलाफ एससी/एसटी कानून (SC/ST Act) के तहत मामला दर्ज कर लिया है और उसे गिरफ्तार कर लिया है.’’

Madhya Pradesh: दलित दूल्हे को घोड़ी चढ़ने से रोका, कहा- इस गांव में दलित घोड़ी पर नहीं बैठेगा

शिकायत के अनुसार, कूका राम की बारात शनिवार को जालोर ((Rajasthan Jalore) नीलकंठ गांव पहुंची थी और नवविवाहित जोड़ा शादी के बाद मंदिर में नारियल चढ़ाना चाहता था.

राजस्थान: धौलपुर में पति-बच्चों के सामने दलित महिला से गैंगरेप, रोते-बिखलते रहे मासूम

दुल्हन के रिश्तेदार तारा राम की शिकायत के मुताबिक, ‘‘जब हम वहां पहुंचे तो पुजारी ने हमें प्रवेशद्वार पर रोक दिया और नारियल बाहर चढ़ाने को कहा. उन्होंने हमें मंदिर में प्रवेश नहीं करने के लिए कहा क्योंकि हम दलित समुदाय (Dalit Community) से हैं.’’

 

इसमें कहा गया कि कुछ ग्रामीण भी बहस में शामिल हो गए और पुजारी का समर्थन करते हुए कहा कि यह गांव का फैसला है और पुजारी के साथ बहस करने का कोई मतलब नहीं है. तारा राम ने कहा, ‘‘हमने पुजारी से बहुत गुहार लगाई लेकिन वह अड़े रहे. उसके बाद हमने पुलिस में पुजारी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई.’’