मुलायम के गांव सैफई का प्रधान बना, बंपर वोटों से दर्ज की ऐतिहासिक जीत

Akhliesh yadav

लखनऊ. 5 राज्यों के विधानसभा चुनावों के नतीजों के साथ आज यूपी पंचायत चुनावों के नतीजों का ऐलान भी हो गया है. इन चुनावों में मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) के गांव सैफई पर सबकी निगाहें टिकीं हुईं थी, ऐसा इसलिए क्योंकि आजादी के बाद यहां पहली बार पंचायत चुनावों के लिए मतदान हुए और यहां पहली बार दलित प्रधान बना.

1971 से मुलायम सिंह यादव के दोस्त दर्शन सिंह यादव लगातार बिना किसी विरोध के सैफई गांव के प्रधान निर्वाचित होते चले आए हैं. पिछले साल 17 अक्टूबर को उनके निधन के बाद यह सीट खाली हो गई थी. फिर सामान्य पंचायत चुनाव में सैफई गांव के प्रधान पद को अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित कर दिया गया.

3877 मतों से हासिल की बाल्मीकि ने जीत
आरक्षित की गई सीट पर रामफल बाल्मीकि (Ramfal Balmiki) ने चुनाव लड़ा और 3877 मत से जीत हासिल की. वहीं, उनकी प्रतिद्वंदी विनीता नामक महिला को मात्र 15 वोट मिले.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *