Dalit-murder-UP-POlice

UP में भाजपा के दलित नेता की लाठियों से पीट-पीटकर हत्‍या

उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बदायूं (Badaun) जिले के उसावां थाना क्षेत्र में हुई एक घटना में एक दलित (Dalit) नेता की लाठी-डंडों से पीट पीटकर हत्‍या कर दी गई. बताया जा रहा है कि दलित नेता की लाठियों से पीटकर हत्‍या करने के बाद हमलावर वहां से फरार हो गए. मृतक भारतीय जनता पार्टी अनुसूचित जाति मोर्चा (BJP) के मंडल अध्‍यक्ष थे.

जागरण की खबर के अनुसार, बमनपुरा और बुधुआनगला गांव के लोगों में जमकर मारपीट, पथराव और लाठी-डंडे चले थे, जिसमें भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के मंडल अध्यक्ष की लाठियों से पीटकर हत्या करने के बाद हमलावर मौके से फरार हो गए थे.

पढ़ें- हरियाणा: वाल्मिकी मंदिर बनाने को लेकर विवाद, घरों में घुसकर लोगों पर किया हमला, FIR भी दर्ज नहीं

रिपोर्ट के अनुसार, बुधुआ नगला गांव के रहने कल्याण सिंह रविवार को अपने बेटों के साथ बमनपुरा गांव निवासी अनुसूचित जाति के अनिल के घर कीटनाशक दवाओं का छिड़काव करने वाली मशीन मांगने गए थे. यहां किसी बात को लेकर अनिल के घरवालों और उनके बीच विवाद हो गया.

इस विवाद में कल्याण और उनके बेटों को पीटकर घायल कर दिया गया था. मंगलवार सुबह अनिल ने पुलिस को इस बारे में शिकायत दी.

पढ़ें- हरियाणा: लॉकडाउन में एक दलित मुस्लिम महिला का हिंदू रीति रिवाज से हुआ अंतिम संस्‍कार, जानें क्‍यों?

इसके बाद बहुत से लोग ट्रैक्टर-ट्रॉली और बाइक से अनिल को लेकर थाने पहुंचे. बाद में वह सभी लोग गांव लौट रहे थे. इस दौरान ट्रैक्टर को तो दूसरे गांव के रास्ते से निकाल दिया गया, लेकिन बाइक सवार रुखाड़ा की ओर से जाने लगे.

यहां रुखाड़ा मोड़ के पास ही अनुसूचित जाति के कृष्णपाल व संजय की बाइक को डंडा मारकर गिरा दिया. संजय तो भाग निकला लेकिन हमलावरों ने कृष्णपाल को भागने का मौका नहीं दिया और उसके साथ मारपीट करते रहे. उसे अधमरा समझ हमलावर फरार हो गए. पुलिस कृष्णपाल को लेकर जिला अस्पताल जा रही थी, लेकिन रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया.

इस मामले की सूचना मिलते ही एसएसपी अशोक कुमार त्रिपाठी, एसपी सिटी जितेंद्र कुमार श्रीवास्तव बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे. इनके कुछ देर बाद ही क्षेत्रीय विधायक राजीव कुमार सिंह घटनास्थल पर पहुंचे. फिलहाल दोनों गांव के लोगों के बीच तनाव की स्थिति को देखते भारी संख्‍या में पुलिस फोर्स तैनात की गई है.

ये खबरें भी पढ़ें…

राजस्‍थान के नागौर में दलित महिला से एक साल से हो रहा था गैंगरेप, क्‍योंकि…

सिद्धार्थनगर: प्रधान के बेटे-दबंगों ने दलित युवक को पीटा, सिर मुंडवाया, गांव में घुमाया, पुलिसवाले देखते रहे

दलित बस्‍ती को 2 महीने से नहीं मिल रहा पानी, सरपंच के पति ने कुएं से पानी भरने से भी मना किया