Bihar: दलित की ईंट-पत्‍थर मारकर हत्‍या, विनय रतन सिंह बोले- नीतीश राज में कानून का डर खत्‍म

Bihar Bhojpur Dalit murder Vitan Ratan Singh said Fear of law ends in Nitish Raj

आरा: बिहार (Bihar) में दलितों के प्रति उत्‍पीड़न (Oppression against Dalits) के मामले रोज सामने आ रहे हैं, लेकिन राज्‍य सरकार सख्‍ती से इन्‍हें रोक पाने की ओर कदम नहीं उठा पा रही. भोजपुर जिले के चांदी थाना क्षेत्र के बहियारा गांव से भी ऐसा ही दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. यहां मंगलवार रात एक अधेड़ दलित की ईंट-पत्थर से मार-मारकर हत्या (Dalit Murdered) कर दी गई. केवल यही नहीं, इसके बाद उसके शरीर पर गर्म पानी उड़ेल दिया गया, जिसके कारण उसका शरीर पूरी तरह झुलस गया.

मृतक का शव बुधवार सुबह सब्जी के खेत से बरामद हुआ. इससे आसपास के इलाके में सनसनी फैल गई. मृतक की पहचान 58 वर्षीय हरिद्वार पासवान के रूप में हुई है. वह गांव पर ही रहकर सब्जी की खेती करते थे. पुलिस की ओर से बुधवार को शव का पोस्टमार्टम सदर अस्पताल में कराया गया.

भीम आर्मी भारत एकता मिशन के संस्थापक और राष्ट्रीय अध्यक्ष विनय रतन सिंह ने इस घटना की कड़ी निंदा करते हुए बिहार (Bihar) पुलिस से मांग की है कि दोषियों को जल्‍द गिरफ्तार कर उन्‍हें सजा दिलाई जाए. उन्‍होंने ट्वीट में लिखा, बिहार भोजपुर जिले के चांदी थाना क्षेत्र के बहियारा गांव में बुजुर्ग हरिद्वार पासवान की दबंगों ने ईंट व पत्थर मारकर हत्या कर दी गई. @bihar_police दोषियों को गिरफ्तार कर सजा दिलवाई जाए. @NitishKumar सरकार में बिहार अत्याचारों का केंद्र बिंदु बन चुका है कानून का डर खत्म हो चुका है.

 

इस घटना के बारे में बताया जा रहा कि बहियारा निवासी हरिद्वार पासवान मंगलवार सुबह करीब 9 बजे खेत में दवाई छिड़कने के लिए गए थे और उनके साथ उनका भतीजा सुनील कुमार भी था. इस बीच दवाई छिड़काव करने के बाद उनका भतीजा करीब घर वापस चला आया. हरिद्वार पासवान खेत में ही आम के पेड़ के नीचे आराम करने चले गए. शाम को वापस लौटने पर उसने अपने चाचा को वहां नहीं पाया. देर शाम तक जब वह घर वापस नहीं आए तो उनकी खोजबीन की गई. लेकिन, कुछ पता नहीं चल पाया. बुधवार सुबह खेत पर जाते वक्‍त उसने शव को खेत में पड़ा देखा. परिजनों ने इसकी सूचना चांदी थाना को दी. एक रिपोर्ट के अनुसार, शव को देखने से प्रतीत हो रहा कि ईंट-पत्थर से मारपीट करने के बाद शरीर पर गर्म पानी फेंका गया है. पुलिस इस मामले की छानबीन कर रही है.

हरिद्वार पासवान के परिवार में पत्नी विमल देवी, छह पुत्री फुलवंती देवी, रेशमी देवी, कुसुम देवी, सुषमा देवी, लक्ष्मी देवी व लीला देवी एवं एक पुत्र उपेंद्र पासवान है. शव मिलने के बाद मृतक के घर में हाहाकार मच गया. इस घटना के बाद मृतक की पत्नी विमल देवी एवं परिवार के सभी सदस्यों का रो-रोकर बुरा हाल था.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *