Chattisgarh Tribal children badly beaten by bullies

Chhattisgarh: मछली चोरी के शक में आदिवासी बच्चों को दबंगों ने पंचायत में बुरी तरह मारा

बलरामपुर : देश में जनजाति समुदायों को किस कदर उत्‍पीड़न का सामना करना पड़ता है, इसका एक निर्मम उदाहरण छत्‍तीसगढ़ (Chhattisgarh) में सामने आया है. यहां रामचंद्रपुर विकासखंड के ग्राम पंचायत चेरा में दबंगों ने पंडो जनजाति (Pando Tribal Children) के नाबालिग बच्चों सहित आठ लोगों पर अपना कहर बरपाया. आरोपियों ने मछली चोरी के शक में इन्‍हें पेड़ से बांधकर बुरी तरह मारा पीटा.

रिपोर्ट्स के अनुसार, पंडो जनजाति से ताल्‍लुक रखने वाले इस बच्‍चों और लोगों को बाद में जमीन पर लिटाकर भी पीटा गया. इससे पंडो जनजाति में खौफ का माहौल है. केवल यही नहीं, दबंगों ने मारपीट करने के बाद इन सभी पर 35-35 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया, जिसे सरपंच के पास जमा कराने के आदेश दिए गए हैं. इस घटना का वीडियो Social Media पर वायरल हो रहा है.

जानकारी के अनुसार, यह घटना 15 जून की बताई जा रही है. गांव के सरपंच पति सत्यम यादव और जेपी यादव सहित अन्य लोगों ने गांव के नाबालिग बच्चों सहित आठ लोगों पर चोरी का शक जताया और भरी पंचायत में उनके हाथ बेल्ट से बांधकर उन्‍हें पीटा गया. उनके साथ डंडे से मारपीट की गई. इस दौरान इन दबंगों ने उनके साथ गाली गलौज भी की.

देखें घटना का पूरा वीडियो…

मारपीट करने के आरोपी दबंगों ने पंडो जनजाति के लोगों के साथ पिटाई करने के बाद उन पर 35-35 हजार का जुर्माना भी लगाया, जिन्‍हें सरपंत पति सत्यम यादव के पास जमा करने के आदेश दिए गए.

रिपोर्ट्स के अनुसार, पीड़ितों को दबंग जबरन उनके घर से उठाकर लाए थे और पिटाई किए जाने के दौरान कई दबंग वहीं पर बैठे हुए थे.

यह बताया जा रहा है कि गांव में एक शासकीय तलाब है. यहां पर दबंग लोग गैरकानूनी तरीके से मछलियां पालते हैं. उन्‍हें शक था कि पंडो जनजाति के लोगों ने तालाब से मछली मार ली हैं. इसके बाद इन लोगों ने पंडों के साथ मारपीट शुरू कर दी.

घटना का वीडियो आने के बाद हड़कंप मच गया है. त्रिकुंडा थाने ने गंभीर धाराओं में अपराध दर्ज कर लिया है. बताया जा रहा है कि पुलिस ने 10 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.