कोरोना संकट के बीच घबराए नहीं, पढ़ें ये विचार जो आपको देंगे धैर्य और संयम रखने की प्रेरणा

नई दिल्ली. कोरोना वायरस के कारण देश में उत्पन्न (Corona Crisis) हुए हालातों से हर कोई परेशान है. समाचार पत्र हो या न्यूज चैनल चारों तरफ नेगेटिव खबरों का एक अंबार सा लगा हुआ है. इन स्थितियों में दिमाग में कई तरह के नकारात्मक विचार आते हैं. मनोवैज्ञानिको का मानना है कि जब दिमाग नेगेटिव होता है तो शरीर पर इसका बुरा प्रभाव पड़ता है.

ऐसे में हम आपके लिए आज कुछ खास टिप्स लेकर आए हैं, जिन्हें पढ़ने के बाद आपके दिमाग में धैर्य और संयम रखने की नई प्रेरणा आएगी.

– खुद से वादा करें कि आप ‘इस क्षण’ के लिए समर्पित रहेंगे. इसका मतलब यह है कि आज, अभी जो क्षण है, वही आपका है और आपको उसका पूरा उपभोग करना होगा.

– मैं खुद से वादा करता हूं कि खुद को सबसे सुंदर, सकारात्मक और खुशहाल व्यक्ति बनाऊंगा. परिस्थितियां चाहे जैसी भी हों मैं हार नहीं मानूंगा.

– खुश रहें.. अपने को उस रूप में स्वीकार करें, जो आप इस क्षण हैं. अपने दिल, आत्मा, शरीर और दिमाग का अच्छी तरह से ख्याल रखें, ताकि पॉजिटिव एनर्जी आपके दिमाग में आए.

– अगर आपके आसपास बच्चे हैं तो उनसे प्ररेणा लीजिए. ऐसा इसलिए है क्योंकि बिना कारणों से हंसना, मुस्कुराना और दो पल में गमों को भुलाकर फिर से चेहरे पर मुस्कान लाने की कला सिर्फ बच्चों के पास ही है.

 

(दलित आवाज अपने सभी पाठकों से अनुरोध करता है कि वो इन परिस्थितियों में धैर्य और संयम न खोएं और सोच को सकारात्म बनाए रखें.)