Saharanpur

Dalit Rajat beard mustache cut case Police arrested Bhim Army Shaurya Ambedkar

दलित रजत की दाढ़ी-मूंछ काटने का मामला: पुलिस ने उल्‍टा भीम आर्मी कार्यकर्ता को किया गिरफ्तार

ई दिल्‍ली/लखनऊ : सहारनपुर (Saharanpur) के बड़गांव क्षेत्र के गांव शिमलाना (Shimlana Village) में दलित समाज के युवक रजत (Dalit Rajat beard mustache cut case) की जबरन दाढ़ी-मूंछ काटने के मामले में सहारनपुर पुलिस (Saharanpur Police) ने एक व्‍यक्ति की शिकायत पर पीड़ित रजत और भीम आर्मी (Bhim Army) कार्यकर्ता के खिलाफ ही केस दर्ज कर दिया है. पुलिस ने रजत सहित तीन लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है और भीम आर्मी, देवबंद विधानसभा के अध्यक्ष शौर्य आंबेडकर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

दरअसल, शिमलाना निवासी संजय ने थाने पहुंच मामले की लिखित शिकायत दी कि शौर्य आंबेडकर, रजत और सोनू राजपूत समाज के प्रति अभद्र टिप्‍पणी कर वीडियो बनाकर फेसबुक और व्‍हाट्सऐप पर शेयर कर रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि वीडियो में सीएम योगी आदित्‍यनाथ पर भी टिप्‍पणी की गई है.

इसके बाद बड़गांव थाने में दलित युवक रजत (Dalit Rajat) , उसके भाई सोनू और भीम आर्मी (Bhim Army) के देवबंद विधानसभा के अध्यक्ष शौर्य आंबेडकर के खिलाफ आईपीसी की धारा 153(ए), 505 और 506 के तहत रिपोर्ट दर्ज कर की गई.

Saharanpur : राजपूतों ने जबरन कटवाई दलित युवक की दाढ़ी-मूंछ, बोले- हमारी बराबरी करेगा, देखें VIDEO

इस कार्रवाई को लेकर आजाद समाज पार्टी के लीगल सेल के सहारनपुर जोन कोऑर्डिनेटर एडवोकेट रजनीश गौतम ने कहा कि सहारनपुर के शिमलाना में दलित युवक की मूंछ काटने वाले मामले में ठाकुर समाज के व्यक्ति ने पीड़ित व्यक्ति रजत, उसके भाई और इस मामले में पीड़ितों की मदद करने वाले और शोषण के विरूद्ध आवाज उठाने वाले भीम आर्मी के देवबंद विधानसभा अध्यक्ष के विरुद्ध दबाव डालने के उद्देश्य से झूठा मुकदमा दर्ज कराया है, जिसमें पुलिस ने इस मुकदमे में भीम आर्मी देवबंद विधानसभा अध्यक्ष शौर्य अंबेडकर को जेल भेज दिया है. यह दलित उत्पीड़न है. कृपया इसके खिलाफ आवाज उठाइऐ.

दलितों के हक़ की आवाज़ उठाने वाली वेबसाइट www.Dalitawaaz.com को जरूर पढ़ें.. उसके फेसबुक पेज और ट्विटर को भी जरूर Like व Follow करें…
Facebook ID है : https://www.facebook.com/idalitawaaz
Twitter ID है : https://www.twitter.com/idalitawaaz

Saharanpur-Police

लॉउडाउन में लावारिस दलित महिला की हुई मौत, बेटे बन गए पुलिसवाले, कंधा देकर किया अंतिम संस्कार

कोरोना वायरस (Covid 19) महामारी के चलते लगाए गए लॉकडाउन (Lockdown) में उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में एक भावुक पल देखने को मिला. यहां सहारनपुर पुलिस ने उस वक्‍त लोगों का दिल जीता, जब एक लावारिस दलित महिला की मौत होने पर पुलिसवालों ने बेटे का फर्ज निभाकर अंतिम संस्कार किया. वर्दीवालों ने महिला के पाथिव शरीर को कंधा देते हुए अंतिम यात्रा भी निकाली.

बताया जा रहा है कि यूपी पुलिस (UP Police) के इस मानवीय चेहरे के पीछे 2009 बैच के आईपीएस और जिले के एसएसपी दिनेश कुमार की अहम भूमिका रही. जब महिला को पुलिस के कंधा देने वाली तस्वीरें वायरल हुईं तो मुख्यमंत्री सूचना सेल ने भी इसकी जमकर तारीफ की. सूचना सेल की तरफ से कहा गया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशों के अनुरूप लॉकडाउन के दौरान पुलिस का मानवीय और संवेदनशील पक्ष उजागर हुआ.

दरअसल, यह मामला बड़गांव थाने के किशनपुर गांव का है. गांव के दलित परिवार की वृद्ध मीना के पति हरिया की 4 साल पहले मौत हो गई थी. महिला के परिवार में और कोई नहीं था. महिला कई महीने से बीमार चल रही थी. खबर मिलने पर सहारनपुर पुलिस ने मंगलवार को ही मीना को नानौता के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया था. इलाज के दौरान महिला की मौत हुई तो अंतिम संस्कार करने वाला कोई नहीं था. इस पर थाने के एसएसआई दीपक चौधरी, सिपाही गौरव और विनोद ने बेटे का फर्ज निभाते हुए महिला को कंधा दिए. पुलिस ने गांववालों के सहयोग से महिला का अंतिम संस्कार किया.