Siddharthnagar-Dalit-Atrocities-Dalit-youth-beaten

सिद्धार्थनगर: प्रधान के बेटे-दबंगों ने दलित युवक को पीटा, सिर मुंडवाया, गांव में घुमाया, पुलिसवाले देखते रहे

रायबरेली (Raebareli) में महज दलित (Dalit) की गाय के ऊंची जाति के लोगों के खेत में जाकर चरने पर उच्‍च जाति के लोगों द्वारा दलित को बेदर्दी से पीटने के कारण उसकी मौत हो जाने का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सिद्धार्थनगर (Siddharthnagar) में दलित उत्‍पीड़न (Dalit Atrocities) का एक और गंभीर मामला सामने आया है.

यहां ग्राम प्रधान के बेटे व दबंगों द्वारा एक दलित युवक की पिटाई और उसका सिर मुंडवाकर उसे गांव में घुमाने का मामला सामने आया है. यह घटना इटवा थाना क्षेत्र के लोहटा गांव की है.

पढ़ें- रायबरेली: दलित की गाय चरने खेत में घुसी, दंबगों ने दलित को इतना पीटा की हुई मौत, पुलिस की लापरवाही

newstrack के अनुसार, लोहटा गांव के एक दलित युवक की कुछ लोगों से नोकझोंक हुई थी. इसके बाद गांव के प्रधान के बेटे ने दलित युवक को घर से बुलाकर चौराहे पर ले आया.

यहां उसने कुछ दबंगों के साथ मिलकर न केवल दलित युवक की बुरी तरह पिटाई की, बल्कि उसका सिर भी मुंडवा दिया और पूरे गांव में घुमाया.

दलित बस्‍ती को 2 महीने से नहीं मिल रहा पानी, सरपंच के पति ने कुएं से पानी भरने से भी मना किया

रिपोर्ट के अनुसार, चौंकाने वाली बात यह है कि यह सबकुछ पुलिस के सामने हो रहा था, लेकिन पुलिस मूकदर्शक बनी रही. उसने कोई कार्रवाई नहीं की. इस घटना के चलते पीड़ित युवक काफी सदमे में है.

घटनास्थल पर पहुंचे स्थानीय विधायक राघवेंद्र प्रताप सिंह ने कहा जो भी दोषी होंगे, चाहे वह पुलिस हो या कोई और उसके खिलाफ कार्रवाई होगी.

पढ़ें- एससी/एसटी एक्ट की 20 जरूरी बातें, जो आपको पता होनी चाहिए

पुलिस अधीक्षक विजय ढुल का कहना है क‍ि 5 तारीख को इटवा थाना क्षेत्र के लोहटा गांव के एक दलित युवक ने शिकायत देकर कहा था कि गांव के कुछ लोगों ने उसके साथ दुर्व्यवहार किया और उसके बाल काट दिए. इस संबंध में केस दर्ज कर लिया गया है. नामजद सभी 6 आरोपियों की गिरफ्तारी की गई है. केस की जांच सीओ इटवा को सौंपी गई. मामले को देखते हुए आगे की कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें- जानिए कौन सी बातें हैं, SC/ST Act के तहत अपराध…