दीदी की पार्टी ने अनुसूचित जाति को भिखारी कहा, यह बाबा साहेब का अपमान है

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ने बंगाल के बर्धमान में चुनावी सभा में तृणमूल नेता के अनुसूचित जाति का अपमान करने का मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा कि बंगाल के लोगों से दीदी की नफरत बढ़ती जा रही है. दीदी के लोग बंगाल के अनुसूचित जाति के लोगों को गाली देने लगे हैं. उन्हें भिखारी कहने लगे हैं.

दीदी की पार्टी ने बाबा साहेब का अपमान किया है. दरअसल, आरामबाग विधानसभा सीट से तृणमूल प्रत्याशी सुजाता मंडल ने कहा था कि अनुसूचित जाति के लोग स्वभाव से भिखारी होते हैं. बंगाल में ममता बनर्जी ने उनके लिए कितना कुछ किया, लेकिन फिर भी कुछ पैसों के लिए वो बीजेपी साथ दे रहे हैं.

दीदी की सहमति के बिना नहीं दिया जा सकता बयान
उन्होंने पूछा कि एससी के मेरे भाई-बहनों के खिलाफ इतना भद्दा बयान दीदी की सहमति के बिना कोई दे सकता है क्या? हमारे दलित समाज के लोगों को इतना कुछ कहा गया, लेकिन दीदी ने अब तक माफी नहीं मांगी. भारत के कई दल दीदी के साथ साथ खड़े हो जाते हैं, लेकिन किसी ने भी दलितों के अपमान के खिलाफ एक शब्द नहीं कहा है.

दलितों का अपमान बड़ी भूल
प्रधानमंत्री ने ममता बनर्जी पर तंज कसते हुए कहा कि दीदी…ओ दीदी. आपको और आपके करीबियों को क्या हो गया है? वो कहने लगें हैं कि बीजेपी को वोट देने वालों को उठाकर बाहर फेंक देंगे. आपको ये अहंकार मंजूर नहीं होना चाहिए. दलितों का अपमान कर आपने सबसे बड़ी भूल की है. बंगाल इसे भूलेगा नहीं. दीदी आपको गाली देना है तो मोदी को दीजिए, लेकिन बंगाल की गरिमा का अपमान तम कीजिए. बंगाल अब कटमनी, तोलाबाजी और सिंडिकेट को बर्दाश्त नहीं करेगा.