Yogi Adityanath

UP Chunav 2022 why Chandrashekhar Azad wants contest Gorakhpur Sadar seat against Yogi Adityanath

Uttar Pradesh Assembly Election 2022: चंद्रशेखर आजाद क्‍यों योगी आदित्‍यनाथ के खिलाफ गोरखपुर सदर सीट से ही चुनाव लड़ना चाहते हैं?

नई दिल्‍ली : यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (Uttar Pradesh Assembly Election 2022) में आजाद समाज पार्टी (Azad Samaj Party) की तरफ से गुरुवार को बड़े ऐलान के तहत भीम आर्मी चीफ (Bhim Army) और पार्टी मुखिया चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) को गोरखपुर सदर सीट (Gorakhpur Sadar seat) से उतारने का फैसला लिया गया. इसी सीट से यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ चुनावी मैदान में है और चंदशेखर आजाद सीएम योगी के खिलाफ चुनाव में उतरेंगे. चंद्रशेखर के योगी के खिलाफ चुनावी मैदान में उतरने को लेकर हर कोई यह जानना चाहता है कि आखिर वह सहारनपुर या अपने समर्थन प्राप्‍त किसी क्षेत्र से चुनावी रण में ना उतरकर गोरखपुर सदर सीट क्‍यों उतर रहे हैं? तो इसका जवाब खुद चंद्रशेखर आजाद ने दिया है.

Uttar Pradesh Assembly Election 2022 को लेकर चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि “मैं पिछले पांच सालों में अकेला राजनेता हूं, जिसने आधा समय जेल में बिताया है. इस सरकार के कारण मैं जेल में रहा. इस सरकार के मुख्यमंत्री को विधानसभा में नहीं जाने दूंगा, इसलिए मैं उनके खिलाफ लड़ रहा हूं. विपक्ष का लड़ने के लिए स्वागत है, लेकिन मैं वैसे भी उसके खिलाफ लड़ने जा रहा हूं.”

UP Chunav 2022 : चंद्रशेखर आजाद ने 33 सीटों पर Azad Samaj Party प्रत्‍याशियों को उतारने का किया ऐलान, बोले- BJP को रोकने के लिए किसी की भी मदद करेंगे

दरअसल, गोरखपुर की सदर सीट (Gorakhpur Sadar seat) से विधानसभा चुनाव लड़ने जा रहे सीएम योगी दूसरे ऐसे सीएम होंगे, जो गोरखपुर से चुनावी दावेदारी पेश कर रहे हैं.

Uttarakhand Assembly Election 2022 : चंद्रशेखर आजाद ने 3 सीटों पर उतारे प्रत्‍याशी, भूमिहीन किसानों से लेकर सफाईकर्मियों के लिए बड़े वादे

चंद्रशेखर आजाद के इस सीट से ही चुनाव लड़ने को लेकर आजाद समाज पार्टी की तरफ से जारी आधिकारिक पत्र में कहा गया है कि बाबा साहब डॉ. भीमराव आंबेडकर (Babasaheb Dr. Bhimrao Ambedkar) एवं मान्‍यवर कांशीराम साहब (Manyavar Kanshi Ram Sahab) की विचारधारा बहुजन हिताय, बहुजन सुखाय (Bahujan Hitaya, Bahujan Sukhaya) को आगे बढ़ाते हुए एडवोकेट चंद्रशेखर आजाद (Advocate Chandrashekhar Azad) को गोरखपुर सदर सीट (Gorakhpur Sadar Seat) से आजाद समाज पार्टी (कांशीराम) (Azad Samaj Party (Kanshi Ram) का प्रत्‍याशी घोषित किया जाता है.

Azad Samaj Party ticket to Chandrashekhar Azad against Yogi Adityanath from Gorakhpur Sadar seat

इस पर पार्टी प्रमुख ने ट्वीट करते हुए कहा कि बहुत – बहुत आभार साधुवाद. पिछले 5 साल भी लड़ा हूं. अब भी लड़ूंगा. जय भीम,जय मण्डल. बहुजन हिताय, बहुजन सुखाय.

 

चंद्रशेखर आजाद (Chandra Shekhar Azad) से जुड़ी सभी खबरें यहां पढ़ें

आजाद समाज पार्टी (Azad Samaj Party) से जुड़ी सभी यहां पढ़ें

UP Chunav 2021 Azad Samaj Party fielded Chandrashekhar Azad against Yogi Adityanath from Gorakhpur Sadar seat

UP Election 2022: आजाद समाज पार्टी के Chandrashekhar Azad देंगे योगी आदित्‍यनाथ को टक्कर, Gorakhpur Sadar Seat से लडे़ंगे चुनाव

नई दिल्‍ली : यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP Election 2022) के रण में अकेले उतरी आजाद समाज पार्टी (Azad Samaj Party) की तरफ से गुरुवार को बड़ा का ऐलान किया गया है. भीम आर्मी चीफ (Bhim Army) और पार्टी मुखिया चंद्रशेखर आजाद को गोरखपुर सदर सीट (Gorakhpur Sadar seat) से उतारने का फैसला लिया गया है. बड़ी बात यह है कि इसी सीट से यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ चुनावी मैदान में है. इस तरह चंदशेखर आजाद सीएम योगी के खिलाफ चुनाव में उतरेंगे.

UP Chunav 2022 : चंद्रशेखर आजाद ने 33 सीटों पर Azad Samaj Party प्रत्‍याशियों को उतारने का किया ऐलान, बोले- BJP को रोकने के लिए किसी की भी मदद करेंगे

दरअसल, गोरखपुर की सदर सीट (Gorakhpur Sadar seat) से विधानसभा चुनाव लड़ने जा रहे सीएम योगी एक इतिहास दोहरा रहे हैं. वह दूसरे ऐसे सीएम होंगे, जो गोरखपुर से चुनावी दावेदारी पेश कर रहे हैं.

Uttarakhand Assembly Election 2022 : चंद्रशेखर आजाद ने 3 सीटों पर उतारे प्रत्‍याशी, भूमिहीन किसानों से लेकर सफाईकर्मियों के लिए बड़े वादे

आजाद समाज पार्टी की तरफ से जारी आधिकारिक पत्र में कहा गया है कि बाबा साहब डॉ. भीमराव आंबेडकर (Babasaheb Dr. Bhimrao Ambedkar) एवं मान्‍यवर कांशीराम साहब (Manyavar Kanshi Ram Sahab) की विचारधारा बहुजन हिताय, बहुजन सुखाय (Bahujan Hitaya, Bahujan Sukhaya) को आगे बढ़ाते हुए एडवोकेट चंद्रशेखर आजाद (Advocate Chandrashekhar Azad) को गोरखपुर सदर सीट (Gorakhpur Sadar Seat) से आजाद समाज पार्टी (कांशीराम) (Azad Samaj Party (Kanshi Ram) का प्रत्‍याशी घोषित किया जाता है.

Azad Samaj Party ticket to Chandrashekhar Azad against Yogi Adityanath from Gorakhpur Sadar seat

इस पर पार्टी प्रमुख ने ट्वीट करते हुए कहा कि बहुत – बहुत आभार साधुवाद. पिछले 5 साल भी लड़ा हूं. अब भी लड़ूंगा. जय भीम,जय मण्डल. बहुजन हिताय, बहुजन सुखाय.

 

चंद्रशेखर आजाद (Chandra Shekhar Azad) से जुड़ी सभी खबरें यहां पढ़ें

आजाद समाज पार्टी (Azad Samaj Party) से जुड़ी सभी यहां पढ़ें

UP Jaunpur Muslim burn Dalit Houses

यूपी: झगड़े के बाद मुस्लिमों ने जलाए दलितों के घर, योगी के आदेश- आरोपियों पर रासुका लगाओ

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के जौनपुर (Jaunpur) में मुस्लिम (Muslim) और दलित (Dalit) समुदाय के बीच हुए टकराव के बाद हिंसक भीड़ ने 10 दलित परिवारों के घर जला दिए. इस घटना के बाद से पूरे इलाके में तनाव का माहौल है. एहतियातन इलाके में भारी सुरक्षा बल की तैनाती की गई है.

जनसत्‍ता के अनुसार, यह घटना मंगलवार देर रात जौनपुर के बथेटी गांव में घटी. न्‍यूज़ रिपोर्ट के मुताबिक, इस घटना के बाद सराय ख्वाजा स्टेशन से हटाए गए अफसर संजीव मिश्रा ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि मंगलवार शाम को कुछ दलित और मुस्लिम लड़के भैंसें और बकरियां चरा रहे थे. इसी दौरान दोनों पक्षों के बीच कुछ कहासुनी हो गई.

इस मामले को लेकर पहले गांव के सरपंच ने हस्तक्षेप किया, लेकिन बात बनी नहीं और मामला बढ़ गया. इसके बाद मुस्लिम समुदाय के लड़के दलित बस्ती में घुस आए. इस दौरान एक युवक ने मुस्लिम युवक को थप्पड़ मार दिया.

इसके बाद दोनों पक्षों के बीच पत्थरबाजी हो गई. रिपेार्ट में कहा गया है कि लोगों ने कथित तौर पर हथियारों का भी इस्तेमाल भी किया. मुस्लिम पक्ष के लोगों ने दलितों के घरों में आग लगा दी.

दलित परिवारों की तरफ से पुलिस को दी गई शिकायत में कहा गया है कि मुस्लिम लड़कों ने द्वारा जातिसूचक अपशब्द कहे जाने के बाद दोनों पक्षों की लड़ाई हुई.

आरक्षण (Reservation) मौलिक अधिकार नहीं, यह आज का कानून है- सुप्रीम कोर्ट

एक शिकायकर्ता का कहना है कि जब मुस्लिम लड़कों को रोका गया, तो उन्होंने मेरे भाई को मारना शुरू कर दिया. जब हमारे घर के सदस्य इस मारपीट के बारे में आरोपियों से बात करने उनकी घर गए, तो उन्हें भी अपशब्द कहे गए.

रिपोर्ट के अनुसार, शाम 6 बजे के आसपास मुस्लिम समुदाय के 57 जाने-पहचाने और 20-25 अपरिचित लोग हथियार और डंडों के साथ बस्ती में आए. उन्‍हें जान से मारने की धमकी दी गई.

डर के मारे बस्ती की महिलाओं को अपने घरों को छोड़कर पास के गांवों में जाना पड़ा. मुस्लिमों ने 10 घरों में आग तक लगा दी.

पुलिस ने इस मामलें में आरोपियों पर दंगा भड़काने, हत्या की साजिश और शांति भंग करने के केस दर्ज किए हैं.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनके खिलाफ रासुका और गैंगस्टर एक्ट तक लगाने के लिए कहा है.

मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को निर्देश दिए हैं कि पीड़ित परिवारों को सीएम आवास योजना के तहत 1 लाख रुपए की मदद दी जाए. इसके लिए सीएम ने 10 लाख 26 हजार रुपए की राहत राशि भी मदद के लिए दी है.”

इस मामले में दलित समुदाय की तरफ से शिकायत के बाद 57 लोगों पर एफआईआर दर्ज हुई है. इनमें 37 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया है.

गांव में तनाव के माहौल को देखते हुए अतिरिक्त पुलिसबल तैनात किया है. प्रशासन ने भी स्थितियों पर नियंत्रण न कर पाने के लिए जौनपुर के सराय ख्वाजा पुलिस स्टेशन के एसएचओ को हटाकर पुलिस लाइंस से अटैच कर दिया है.

ये भी पढ़ें…

लॉकडाउन के बीच गरमा रहा आरक्षण मुद्दा, इस राज्‍य में सभी दलित MLA हुए एकजुट, पढ़ें…

कोरोना संकट के बीच आरक्षण से छेड़छाड़ की हो रही कोशिश, इस मंत्री ने जताया अंदेशा

(Dalit Awaaz.com के फेसबुक पेज को Like करें और Twitter पर फॉलो जरूर करें…)