Agriculture News SAFAL Simplified Application for Agricultural Loans: किसानों-कृषि उद्यमियों के लिए साझा क्रेडिट पोर्टल शुरू

agriculture-news-farmers-agricultural-entrepreneurs-SAFAL Simplified Application for Agricultural Loans-launched

Latest Agriculture News : ओडिशा के किसानों के लिए अच्‍छी खबर है. मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने किसानों के लिए एक साझा क्रेडिट पोर्टल ‘‘सफल’’ (कृषि ऋण के लिए सरलीकृत ऐप्लीकेशन) SAFAL Simplified Application for Agricultural Loans की शुरुआत की है. मुख्यमंत्री ने पोर्टल की शुरुआत करते हुए कहा कि यह सुविधा किसानों और कृषि-उद्यमियों को 40 से अधिक बैंक के 300 से अधिक सावधि ऋण उत्पादों तक पहुंचने में सक्षम बनाएगी. इसे ‘कृषक ओडिशा’ (krushak odisha) के साथ भी एकीकृत किया गया है और 70 से अधिक मॉडल परियोजना तक इसकी पहुंच संभव होगी. उन्‍होंने कहा कि यह पोर्टल किसानों और कृषि-उद्यमियों के लिए ऋण प्रावधानों में क्रांति ला सकता है.

पोर्टल की शुरुआत होने पर संतोष व्यक्त करते हुए. पटनायक ने कहा कि यह ऐप किसानों (Farmers) और कृषि-उद्यमियों के लिए सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के बैंकों. क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों. राज्य सहकारी बैंकों और लघु वित्त बैंकों से औपचारिक रूप से ऋण प्राप्त करने का एकमात्र समाधान है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि पोर्टल किसानों और बैंक दोनों को लाभान्वित करने के लिए ऋण आवेदन प्रक्रिया को आसान बनाएगा. पटनायक ने कहा कि यह पोर्टल किसानों को उनके ऋण आवेदन के हर चरण में सूचनाएं भेजकर सूचना विषमता को भी कम करेगा.

पटनायक ने कहा कि ‘‘सफल’’ सरकार को राज्यों में औपचारिक ऋण की मांग और वितरण की पूरी दृश्यता प्रदान करेगा और सुनिश्चित करेगा कि योजनाएं डेटा-समर्थित तरीके से तैयार की गई हों.

उन्होंने आशा व्यक्त की कि ‘‘सफल’’ SAFAL Simplified Application for Agricultural Loans ओडिशा में कृषि (Agriculture) और संबद्ध क्षेत्रों को बढ़ावा देने और लंबे समय में किसानों की आर्थिक शक्ति को बढ़ाने के लिए ऋण की सुविधा प्रदान करेगा.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सुभाष चंद्र बोस और डॉ. बीआर आंबेडकर की मुलाकात डॉ. आंबेडकर के पास थीं 35000 किताबें… जब पहली बार कांशीराम ने संसद में प्रवेश किया, हर कोई सीट से खड़ा हो गया जब कानपुर रेलवे स्‍टेशन पर वाल्‍मीकि नेताओं ने किया Dr. BR Ambedkar का विरोध खुशखबरी: हर जिले में किसान जीत सकते हैं ट्रैक्‍टर