पंजाब को जल्द मिलेगा दलित उपमुख्यमंत्री, इन नामों पर चर्चा हुई तेज

चंडीगढ़. पंजाब में एक बार फिर से दलित राजनीति गर्मा गई है. ऐसे में राज्य की सत्तासीन कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) की सरकार ने दलित भाईचारे को खुश करने के लिए नया प्लान बनाया है.

पंजाब केसरी प्रकाशित खबर के अनुसार, दलित भाईचारे पर प्रकाश डालने के लिए कैप्टन अमरिंदर सरकार ने किसी दलित को उपमुख्यमंत्री की कुर्सी देने का फैसला किया है. बता दें कि कुछ दिनों से मीडिया में नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) के उपमुख्यमंत्री बनने की चर्चा काफी तेज है.

इन नामों पर चर्चा हुई तेज

– सूत्रों का कहना है कि यदि उपमुख्यमंत्री का पद किसी दलित को देने की बात आती है तो इसमें अरूणा चौधरी का नंबर सबसे पहले आएगा. पहला तो अरूणा एक महिला हैं और दूसरी तरफ एससी वर्ग से आती हैं.

पढ़ें- बाबा साहब डॉ.भीमराव आंबेडकर ने किस आंदोलन से ऊर्जा ग्रहण कर महाड़ आंदोलन शुरू किया…

– अरूणा चौधरी के अलावा साधु सिंह धर्मसोत का नाम भी उपमुख्यमंत्री की लिस्ट में ऊपर चल रहा है.

– सूत्रों का यह भी कहना है कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के सलाहकार राज कुमार वेरका का नाम भी चर्चा में हैं.

ये भी पढ़ेंः- जब बाबा साहब ने दलित लेखकों से कहा था- ‘दलितों की बहुत बड़ी दुनिया है, इसे भूलना मत’

पूरे भारत में सबसे ज्यादा दलित आबादी
उल्लेखनीय है कि पूरे भारत में सबसे ज्यादा दलित आबादी पंजाब में ही रहती है. पूरे देश की दलित आबादी का 32 फ़ीसदी पंजाब से आता है. हालांकि आज़ादी के बाद पंजाब के इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ कि कोई दलित राज्य का मुख्यमंत्री बना हो या इसके आस-पास भी फटका हो.

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *