दलित से शादी करने पर पिता ने बेटी को सबके सामने अर्धनग्‍न स्‍नान कराया, बाल कटवाए, झूठी पूड़ी खिलाई

Madhya Pradesh after marrying Dalit Betul woman forced to undergo purification

बैतूल/मध्‍यप्रदेश: मध्य प्रदेश के बैतूल जिले (Madhya Pradesh Betul District) में दलित (Dalit) व्यक्ति से शादी करने पर 24 वर्षीय युवती को उसके पिता एवं अन्य लोगों ने कथित तौर पर शुद्धिकरण के नाम पर नर्मदा नदी (Narmada River) में स्नान करवाया और उसके बाल कटवा दिए. बैतूल कोतवाली पुलिस थाने के प्रभारी निरीक्षक रत्नाकर हिंगवे ने बताया कि महिला की शिकायत पर पुलिस ने शनिवार को उसके पिता और उसके तीन रिश्तेदारों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. महिला ने शुक्रवार को जिला पुलिस अधीक्षक (एसपी) सिमाला प्रसाद को इस मामले में शिकायत की थी.

हिंगवे ने शिकायत के हवाले से बताया कि महिला ने मार्च 2020 में एक दलित व्यक्ति (Dalit Man) से प्रेम विवाह किया था, जिसके बाद उसके परिवार के सदस्यों ने जनवरी 2021 में महिला की गुमशुदगी के शिकायत दर्ज कराई, हालांकि उसके पिता उसके ठिकाने के बारे में जानते थे और वह उससे मिलते भी थे.

रिपोर्ट के अनुसार, पीड़िता बैतूल (Betul District) की चोपना निवासी साक्षी यादव (उम्र 24 साल) ने पत्रकारों से कहा, ‘‘उसने 11 मार्च 2020 को बैतूल निवासी अमित अहिरवार नाम के युवक से पिछले साल आर्य समाज मंदिर में शादी की थी. शादी के बाद वह अपने ससुराल चली गई, उसका परिवार उनकी शादी के खिलाफ था. चार जनवरी 2021 को मैंने इस बारे में अपने पिता को सूचित कर दिया और इसके बाद मेरे पिता मुझसे मिलते रहे लेकिन इसके बावजूद उन्होंने 10 जनवरी 2021 को चोपना पुलिस थाने (बैतूल जिला) में मेरी गुमशुदगी के शिकायत दर्ज करा दी.’’ गुमशुदगी के शिकायत दर्ज करने के बाद पुलिस ने महिला को उसके परिवार से मिलवाया और उससे एक कागज पर हस्ताक्षर ले लिए.

महिला ने दावा किया, ‘‘बाद में, मैं अपना अध्ययन पूरा करने के लिए होस्टल चली गई. मेरे पिता 18 अगस्त को रक्षाबंधन के लिए मुझे घर ले जाने के लिए होस्टल (राजगढ़ जिले) पहुंचे. बाद में, मेरे पिता और अन्य लोग मुझे होशंगाबाद में नर्मदा नदी (Narmada River) के घाट पर ले गए और निचली जाति के व्यक्ति से शादी करने के चलते मेरा शुद्धिकरण किया गया.’’

महिला ने आरोप लगाया, ‘‘ उन्होंने मुझे मेरी इच्छा के विरुद्ध आधे वस्त्रों में नहलाया, फिर जूठी पूड़ी खिलवाई तथा मेरी इच्छा के विरुद्ध मेरी चोटी के बाल काटे. जो कपड़े मैंने पहने थे, उन्हें वहीं घाट पर फिंकवाए तथा उक्त घटना का विरोध करने पर मारपीट भी की.’’ महिला ने आरोप लगाया कि उस पर अपने पति को तलाक देने और अपनी जाति के व्यक्ति से शादी करने का दबाव डाला जा रहा है.

इस बीच, हिंगवे ने कहा कि आरोपियों के खिलाफ भादंसं की संबद्ध धाराओं में मामला दर्ज कर आगे कार्रवाई के लिए चोपना थाने को भेज दिया गया है. अब तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *