आंबेडकर जयंती पर बाबा साहेब के अनमोल वचन शेयर कर दें अपनों को शुभकामनाएं

नई दिल्ली. हर साल 14 अप्रैल को संविधान के निर्माता बाबा साहेब आंबेडकर (Baba Saheb Ambedkar Jayanti) के जन्मदिवस पर देशभर में कई कार्यक्रम किए जाते हैं. बी.आर. आंबेडकर (BR Ambedkar) का जन्म मध्य प्रदेश के महू में 14 अप्रैल 1891 को हुआ था.

संविधान निर्माण के साथ ही बाबा साहेब आंबेडकर ने समाज में दलितों को समानता दिलाने में बहुत संघर्ष किया था. भीमराव आंबेडकर जयंती के मौके पर आप अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को बेहतरीन कोट्स और मैसेज भेज सकते हैं और उन्हें इस दिन के महत्व के बारे में बता सकते हैं.

कानून और व्यवस्था राजनीतिक शरीर की दवा है,
और जब राजनीतिक शरीर बीमार पड़े,
तो दवा जरूर दी जानी चाहिए.
डॉ. भीम राव आंबेडकर

फूलों की कहानी बहारों ने लिखी
रातों की कहानी सितारों ने लिखी
हम नहीं है किसी के गुलाम
क्योंकि हमारी ज़िन्दगी बाबासाहब जी ने लिखी
आंबेडकर जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं

ये भी पढ़ेंः- जब बाबा साहब ने दलित लेखकों से कहा था- ‘दलितों की बहुत बड़ी दुनिया है, इसे भूलना मत’

आज का दिन है बड़ा महान,
बनकर सूरज चमका एक इंसान,
कर गये सबके भले का ऐसा काम,
बना गये हमारे देश का संविधान,
आंबेडकर जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं

हिन्दू धर्म में विवेक, कारण
और स्वतंत्र सोच के विकास के लिए कोई गुंजाइश नहीं है.
– बी आर आंबेडकर जयंती मुबारक

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *