Arvind Kejriwal

Delhi Government SoSEs to now be called Dr BR Ambedkar Schools of Specialized Excellence

Dr. BR Ambedkar School of Specialized Excellence : डॉ. बीआर आंबेडकर स्कूल ऑफ स्पेशलाइज्ड एक्सीलेंस के नाम से जाने जाएंगे दिल्‍ली सरकार के SoSE

नई दिल्‍ली : दिल्ली सरकार (Delhi Government) के सभी एसओएसई (SoSE) का नाम अब डॉ. बी.आर. आंबेडकर स्कूल ऑफ स्पेशलाइज्ड एक्सीलेंस (Dr. BR Ambedkar School of Specialized Excellence) होगा. साथ ही, स्कूल जीबीएसएसएस न.- 2 आदर्श नगर का नाम रवि दहिया बाल विद्यालय और दिल्ली सरकार के पहले सैन्य प्रशिक्षण स्कूल का नामकरण शहीद भगत सिंह आर्म्ड फोर्सेज प्रीप्रेटरी स्कूल करने को मंजूरी दी गई. बैठक में स्वतंत्रता सेनानियों के प्रति कृतज्ञता जाहिर करते हुए डीडीए के 16 पार्कों का नामकरण भी स्वतंत्रता सेनानियों के नाम पर करने के फैसले को मंजूरी दी गई.

समता सैनिक दल के सैनिकों को बाबा साहब डॉ. बीआर आंबेडकर का संदेश

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई स्टेट नेमिंग अथॉरिटी की महत्वपूर्ण बैठक में यह अहम फैसले लिए गए. इस मौके उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने कहा कि केजरीवाल सरकार में स्वतंत्रता सेनानियों, राष्ट्र-निर्माताओं, देशभक्त शहीदों और देश का नाम रौशन करने वाले व्यक्तियों को सम्मान देने की परम्परा का पालन किया जाता है. इसी परंपरा के तहत हम अपने सैन्य प्रशिक्षण स्कूल का नाम शहीद भगत सिंह आर्म्ड फोर्सेज प्रीप्रेटरी स्कूल, एसओएसई (SoSE) का नामकरण डॉ. बी.आर. आंबेडकर स्कूल ऑफ़ स्पेशलाइज्ड एक्सीलेंस (Dr. BR Ambedkar School of Specialized Excellence), जीबीएसएसएस न.2 आदर्श नगर का नाम रवि दहिया बाल विद्यालय और हमारे गुमनाम स्वतंत्रता सेनानियों को याद करने, उनके प्रति श्रद्धांजली व कृतज्ञता व्यक्त करने के लिए डीडीए के 16 पार्कों का नामकरण कर रहे हैं.

Dr. BR Ambedkar.. महिलाओं के हितों व अधिकारों के संवेदनशील योद्धा एवं पुरोधा

ज्ञात हो कि केजरीवाल सरकार ने एसओएसई के अंतर्गत अपने सैन्य प्रशिक्षण स्कूल का नामकरण शहीद भगत सिंह आर्म्ड फोर्सेज प्रीप्रेटरी स्कूल रखने का फैसला किया था, जिसकी घोषणा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने की थी और ओलम्पिक में देश का नाम रौशन करने वाले पहलवान रवि दहिया के नाम पर जीबीएसएसएस न.2 आदर्श नगर का नाम रवि दहिया बाल विद्यालय रखने का फैसला किया था, जिसे बैठक में मंजूरी दे दी गई.

नारी राष्ट्र निर्मात्री है, हर नागरिक उसकी गोद में पलता है… महिला उत्‍थान पर Dr. Ambedkar के प्रयास

इसके अलावा, स्टेट नेमिंग अथॉरिटी की बैठक में डीडीए के 16 पार्कों को जिन स्वतंत्रता सेनानियों के नाम पर नामकरण करने की मंजूरी दी गई. जिसमें आसफ़ अली, अवध बिहारी, मास्टर अमीर चंद, लाला हरदयाल, कर्नल गुरबक्श सिंह ढिल्लों, जनरल शाह नवाज़ खान, गोविन्द बिहारी लाल, सत्यवती, कर्नल प्रेम सहगल, बसंता कुमार विश्वास, भाई बालमुकुन्द, डॉ. सुशीला नय्यर, हकीम अजमल खान, ब्रज कृष्णा चांदीवाला, स्वामी श्रद्धानंद व दीनबंधु सी.एफ. एंड्रू शामिल है.

Dr. Bhimrao Ambedkar : डॉ. बीआर आंबेडकर की नजर में कृतज्ञता की सीमा क्या है?

डॉ. बीआर आंबेडकर से संबंधित सभी लेख यहां पढ़ें…

Delhi Govt Arvind Kejriwal announce to give rs 10lakh to Dalit girl Parents Nangal Village

दिल्‍ली: नांगल गांव की दलित बच्‍ची के परिवार को 10 लाख रुपये मुआवजा देगी दिल्‍ली सरकार

नई दिल्‍ली : दक्षिण पश्चिम दिल्ली के कैंट इलाके में स्थित नांगल गांव (Nangal Village) में दलित बच्‍ची (Dalit Girl) से कथित रेप, संदिग्‍ध मौत और बिना रजामंदी लाश जलाए जाने के मामला तूल पकड़ने के बाद दिल्‍ली सरकार ने तय किया है वह बच्‍ची के मां-बाप को दस लाख रुपये का मुआवजा देगी. मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के दलित बच्‍ची के परिजनों से आज मुलाकात करने के दौरान यह ऐलान किया गया.

पढ़ें : चंद्रशेखर आजाद का ऐलान, मैं दिल्‍ली में तब तक रहूंगा, जब तक मांगें पूरी नहीं होतीं

इस दौरान मुख्‍यमंत्री अरव‍िंद केजरीवाल ने कहा कि जो बच्ची के साथ अन्याय हुआ है वह बेहद दुखद है. बच्ची को वापस नहीं लाया जा सकता है, लेकिन दिल्ली सरकार पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है. उन्‍होंने ऐलान किया कि दिल्ली सरकार पीड़ित परिवार को ₹10 लाख का मुआवजा देगी. साथ ही इस मामले में मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए जाएंगे.

उन्‍होंने कहा कि इस केस में दिल्ली सरकार बड़े से बड़ा वकील भी लगाएगी, ताकि आरोपियों को सख्त से सख्त सजा हो.

पढ़ें- दिल्‍ली: चंद्रशेखर आजाद नांगल गांव में मृतक दलित बच्‍ची के परिवार से मिले, कहा- दोषियों को फांसी हो 

उनसे पहले कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्‍यक्ष और सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने भी आज पीड़‍ित पर‍िवार से म‍िलकर उनको न्‍याय द‍िलवाने का भरोसा द‍िया.

पढ़ें : दिल्‍ली के बाद यूपी के हरदोई में भी दलित बच्‍ची से रेप, हत्‍या कर शव खेत में फेंका

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने पीड़‍ित पर‍िवार से म‍िलने को लेकर कहा क‍ि मैं नाबाल‍िग लड़की के पर‍िवार से म‍िला. मैंने परिवार से बात की. वे न्याय चाहते हैं और कुछ नहीं. वे कह रहे हैं कि उन्हें न्याय नहीं दिया जा रहा है और उनकी मदद की जानी चाहिए. हम ऐसा करेंगे. राहुल गांधी ने कहा कि ‘मैं आपके साथ खड़ा हूं. न्याय मिलने तक उनके साथ खड़ा हूं’.

इसके तुरंत बाद उन्होंने ट्वीट किया: “उनके माता-पिता के आंसू एक ही बात कह रहे हैं – उनकी बेटी, इस देश की बेटी, न्याय की पात्र है. मैं न्याय के इस पथ पर उनके साथ हूं.”

 

 

Where is Arvind Kejriwal Chandrashekhar Azad questions on Delhi Nangal village Dalit Girl Rape body burnt case 1

कहां हैं Arvind Kejriwal? हमारे आने पर उन्‍हें एहसास हुआ कि नांगल गांव जाना चाहिए: चंद्रशेखर आजाद

नई दिल्‍ली : भीम आर्मी (Bhim Army) के चीफ चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) ने नांगल गांव (Delhi Nangal Village) में 9 साल की दलित बच्‍ची (Dalit Girl) के साथ हुई दुखद घटना पर नाराजगी और शोक व्‍यक्‍त किया है. मामले में दिल्‍ली पुलिस (Delhi Police) की लापरवाह कार्यप्रणाली के साथ नाराजगी इस बात पर भी दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) को घटना के 3 दिन तक भी पीडि़त परिवार से मिलने का ख्‍याल नहीं आया. ख्‍याल आया भी तो तब जब वह खुद नांगल गांव में आकर बच्‍ची के मां-बाप से मिले और न्‍याय के लिए लड़ाई की शुरुआत करने का ऐलान किया.

पढ़ें : चंद्रशेखर आजाद का ऐलान, मैं दिल्‍ली में तब तक रहूंगा, जब तक मांगें पूरी नहीं होतीं

केजरीवाल इन समाज के वोटों से बने हैं, तो इनके बीच क्‍यों नहीं आ रहे
चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि ‘अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) कहां हैं, वो दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री हैं. वह इन समाज के वोटों से बने हैं तो क्‍यों इनके बीच में नहीं आकर मदद कर रहे’.

Delhi Cantt Dalit Girl Rape & Murder Case की सभी खबरें यहां क्लिक कर पढ़ें… 

आधी आबादी अगर दिल्‍ली में भी सुरक्षित नहीं है तो वो कहां सुरक्षित रहेंगी?
उन्‍होंने सवाल उठाते हुए कहा कि ‘राजनीति से परे हमें ये सोचना चाहिए कि देश में महिलाएं, आधी आबादी अगर दिल्‍ली में भी सुरक्षित नहीं है तो वो कहां सुरक्षित रहेंगी? क्‍या हम उन्‍हें घर में सात तालों में छिपा दें कि उनके साथ ये घटनाएं ना हों?’

पढ़ें- दिल्‍ली: चंद्रशेखर आजाद नांगल गांव में मृतक दलित बच्‍ची के परिवार से मिले, कहा- दोषियों को फांसी हो 

Where is Arvind Kejriwal Chandrashekhar Azad questions on Delhi Nangal village Dalit Girl Rape body burnt case
चंद्रशेखर आजाद ने कहा, आज मेरे आने के बाद मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल को ये अहसास हुआ कि ये उनका राज्‍य है, वो मुख्‍यमंत्री हैं, उनको वहां जाना चाहिए, अपनी बात रखनी चाहिए और न्‍याय दिलाना चाहिए.

अब हम चले गए हैं तो सब बोलेंगे…
भीम आर्मी चीफ ने एनडीटीवी से बात करते हुए कहा कि ‘उस घटनास्‍थल से प्रधानमंत्री और मुख्‍यमंत्री आवास कितनी दूर हैं? हम वहां इसलिए गए कि कोई बोल नहीं रहा था. अब हम चले गए हैं तो सब बोलेंगे? मुख्‍यमंत्री को भी सुध आ गई होगी कि दलितों को भी देखना है. आज मेरे जाने के बाद मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल को ये अहसास हुआ कि ये उनका राज्‍य है, वो मुख्‍यमंत्री हैं, उनको वहां जाना चाहिए, अपनी बात रखनी चाहिए और न्‍याय दिलाना चाहिए. बेटी किसी जाति धर्म की हो, मैं ये मानता हूं कि न्‍याय मिलना चाहिए.

पढ़ें- Delhi: वाल्‍मीकि समुदाय की बच्‍ची की मौत, घरवालों का आरोप-पंडित ने रेप कर लाश जला दी

कुछ भी नहीं हुआ, शून्‍य नजर आता है
उन्‍होंने सवाल उठाया कि क्‍या उन अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई हुई जिन्‍होंने पीडि़ता की मां बाप को पीटा, लाठीचार्ज किया, जिन्‍होंने सबूत मिटाने का प्रयास किया, कुछ भी नहीं हुआ, शून्‍य नजर आता है.