Asaduddin Owaisi

Asaduddin Owaisi said we are not alone will fight UP elections 2022 together

असदुद्दीन ओवैसी बोले- हम अकेले नहीं हैं, मिलकर UP चुनाव लड़ेंगे, योगी को हराना है

नई दिल्‍ली/लखनऊ : एआईएमआईएम (AIMIM) के संयोजक असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने शुक्रवार को इस बात का इशारा दिया कि उनकी पार्टी आगामी यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP Election 2022) अकेले नहीं लड़ेगी. उन्‍होंने कहा कि हम अकेले नहीं हैं. हम मिलकर चुनाव लड़ेंगे. हमारी पार्टी यूपी में 100 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही है.

एबीपी न्यूज के शिखर सम्मेलन कार्यक्रम में एआईएमआईएम के संयोजक असदुद्दीन ओवैसी ने गठबंधन के सवाल पर कहा, ‘इस पर अभी चर्चा होनी है. हम अकेले नहीं हैं. हम मिलकर चुनाव लड़ेंगे. हमारी पार्टी यूपी में 100 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही है.’

Asaduddin Owaisi ने कहा कि ‘मैं यहां लीडर बनने नहीं आया हूं. मैं Uttar Pradesh के मुसलमानों को लीडर बनाने आया हूं. उन्‍होंने कहा कि लोग हमें बीजेपी की बी-टीम कहते हैं. अगर हम मुसलमानों के हक की बात करते हैं तो बी-टीम हो जाते हैं.”

यूपी चुनाव के मुद्दे पर उन्‍होंने आगे कहा कि, “हम भारतीय जनता पार्टी को इन चुनावों में हराना चाहते हैं ताकि योगी आदित्यनाथ दोबारा प्रदेश के मुख्यमंत्री न बनें. इसके लिए हम तैयारी कर रहे हैं. आज के मुसलमानों को समझना होगा कि ये चुनाव केवल जिंदगी मौत का नहीं है. ये मुसलमानों के मुद्दों का चुनाव है.”

उन्‍होंने यह भी साफ कहा कि, ‘अखिलेश यादव पहले M-M (Muslims) की बात करते हैं, लेकिन जब वह मुख्यमंत्री बन जाते हैं तो M-M को भूल जाते हैं फिर सिर्फ Y-Y (Yadav) की बात करते हैं.’

इस तरह उन्‍होंने स्‍पष्‍ट किया कि यूपी चुनाव में उनकी पार्टी समाजवादी पार्टी से गठबंधन के मूड में नहीं हैं. आने वाले समय में ओवैसी की पार्टी चंद्रशेखर आजाद और ओम प्रकाश राजभर से गठबंधन कर सकती है.

telangana Dalit rape Asaduddin Owaisi AIMIM

दलित लड़की से घर में घुसकर रेप, आरोपी निकला ओवैसी की पार्टी AIMIM का सदस्‍य

तेलंगाना (Telangana) में एक 16 वर्षीय दलित (Dalit) लड़की के साथ बुधवार को कथित रेप (Rape) का मामला सामने आया. आरोपी असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) से जुड़ा हआ है. यह घटना तेलंगाना में चदरघाट पुलिस स्टेशन की सीमा में हुई.

आरोपी की पहचान मोहम्‍मद शकील के रूप में हुई है, जोकि AIMIM पार्टी का कार्यकर्ता है और कथित तौर पर मलकपेट (Malakpet) के विधायक अहमद बिन अब्दुल्ला बाला का सहयोगी है.

पढ़ें- दलित लड़की से रेप करने वाला गिरफ्तार, SC/ST Act में केस भी दर्ज

रिपोर्टों के अनुसार, जब लड़की अकेली थी, तब आरोपी रात के लगभग 2 बजे एक दीवार फांदकर उसके घर में घुसा. इससे पहले की लड़की मदद के लिए आवाज़ लगा पाती, आरोपी ने लड़की के साथ मारपीट भी की. लड़की के रोने की आवाज सुनकर उसका चचेरा भाई मदद के लिए दौड़ा.

डेक्कन क्रॉनिकल के अनुसार, वह पिछले काफी समय से प्यार के नाम पर लड़की को परेशान कर रहा था. जब लड़की ने उसे मना किया तो आरोपी ने उसे पकड़ लिया और उसके साथ मारपीट की.

पढ़ें- मुजफ्फरनगर : घर में घुसकर किया गया दलित लड़की का रेप

आरोप है कि जब पीडि़ता के चचेरे भाई का उससे आमना-सामना हुआ तो उसने उसे जातिवादी गालियां दीं और मौके से भाग गया. पुलिस के अनुसार, पीडि़त पक्ष के लोग मदीगा जाति के हैं. लड़की के परिजनों ने चदरघाट पुलिस स्टेशन में इसकी शिकायत दी.

पुलिस ने शिकायत के आधार पर आईपीसी की धारा, 448, 376, 506 के साथ-साथ POCSO अधिनियम और अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज कर ली है.

द हिंदू के अनुसार, आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

पढ़ें- भोजपुर में दलित छात्रा से गैंगरेप, सरकार के रवैये से नाराज़ दलितों ने उठाई आवाज़

वहीं,  AIMIM ने इस घटना की निंदा की है. आजमपुरा के कॉर्पोरेटर शेख मोहिउद्दीन ने आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की, जिसे मलकपेट विधायक ने रीट्वीट किया.

इस बीच, गोशामहल के भाजपा विधायक राजा सिंह ने पीडि़ता को न्याय देने की मांग की है. हालांकि उन्‍होंने सर्वोच्च न्यायालय (Supreme Court) के फैसले का उल्लंघन करते हुए लड़की के नाम का खुलासा कर दिया.

ये भी पढ़ें- राजस्‍थान के नागौर में दलित महिला से एक साल से हो रहा था गैंगरेप, क्‍योंकि…

रायबरेली: दलित की गाय चरने खेत में घुसी, दंबगों ने दलित को इतना पीटा की हुई मौत, पुलिस की लापरवाही

सिद्धार्थनगर: प्रधान के बेटे-दबंगों ने दलित युवक को पीटा, सिर मुंडवाया, गांव में घुमाया, पुलिसवाले देखते रहे

दलित बस्‍ती को 2 महीने से नहीं मिल रहा पानी, सरपंच के पति ने कुएं से पानी भरने से भी मना किया