Rape

13 year old Dalit girl from West Delhi rape murderd in Gurugram landlord kin arrested

दिल्‍ली कैंट के बाद एक और दलित बच्‍ची से रेप व हत्‍या, घरवालों पर अंतिम संस्‍कार का दबाव डाला

नई दिल्ली. पहले हाथरस (Hathras Gang Rape-Murders Case), फ‍िर दिल्‍ली कैंट (Delhi Cantt Dalit Girl Gang Rape and Murder Case) और अब पश्चिमी दिल्‍ली/गुड़गांव. दलित बेटियों (Dalit Daughters) के साथ नाइंसाफी नहीं रूक रही हैं. दिल्‍ली कैंट का मामला अभी शांत भी नहीं पड़ा था कि पश्चिमी दिल्ली (West Delhi) में रहने वाली एक 13 वर्षीय दलित लड़की (Dalit Girl) के साथ उसके मकान मालिक के एक रिश्तेदार द्वारा गुड़गांव (Gurugram) में कथित रेप एवं हत्‍या करने का मामला सामने आया है. केवल यही नहीं, यहां भी दलित बच्‍ची के गरीब पिता पर लड़की के अंतिम संस्कार का दबाव डाला गया था. यह जानकारी पीड़िता के माता-पिता और पुलिस द्वारा दर्ज प्राथमिकी से प्राप्त हुई है. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी के विरुद्ध गुड़गांव (Gurugram) में आईपीसी की विभिन्‍न धाराओं, POCSO Act और एससी/एसटी एक्‍ट (SC/ST Act) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

इंडियन एक्सप्रेस में प्रकाशित खबर के अनुसार, पीड़िता के दिहाड़ी मजदूर पिता ने कहा कि उसने पिछले महीने मकान मालिक के कहने पर अपनी बेटी को आरोपी प्रवीण के गुड़गांव (Gurugram) स्थित घर पर काम करने को भेजा था. मृतका दलित बच्‍ची के पिता के अनुसार, आरोपी ने दावा किया कि लड़की की बीमारी के कारण मृत्यु हुई और उनपर लड़की के अंतिम संस्कार का दबाव भी डाला गया था. पड़ोसियों के हस्तक्षेप करने के बाद उनकी सलाह पर बच्‍ची के पिता ने पुलिस को कॉल की. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में भी बच्ची के चेहरे और प्राइवेट पार्ट पर गंभीर चोटें होने की बात सामने आई. रिपोर्ट में रेप की भी पुष्टि हुई. पुलिस मामले में मकान मालिक एवं उसकी पत्नी की कथित संलिप्तता की जांच कर रही है.

Delhi Cantt Dalit Girl Rape & Murder Case की सभी खबरें यहां क्लिक कर पढ़ें… 

अखबार से बात करते हुए पीड़ित के पिता, जो एक दिहाड़ी मजदूर हैं, ने कहा कि पिछले महीने मकान मालिक के कहने पर जो “परिवार की तरह था”, उसने अपनी बेटी को गिरफ्तार आरोपी प्रवीण के साथ गुड़गांव स्थित उसके घर में काम करने की इजाजत दी थी.

पिता की ओर से दर्ज एफआईआर के अनुसार, उसकी मकान मालकिन ने उससे कहा था कि उसके भाई की एक छोटी बेटी है और अगर वह अपनी बेटी को उसके घर भेज देता है तो इस बच्‍ची के साथ खेल सकती है और कुछ समय के लिए परिवार के साथ रह सकती है. इसके बाद मकान मालिकन उसे 17 जुलाई को ले गई थी.

उन्होंने कहा कि 23 अगस्त की दोपहर करीब 3 बजे उन्हें मकान मालिक का फोन आया और उन्‍हें बताया गया कि कि उनकी बेटी की मौत फूड प्वाइजनिंग से हुई है. करीब 4 घंटे के बाद आरोपी प्रवीण, मकान मालिकन और दो अन्य लोग लड़की के शव को एक निजी एम्बुलेंस के जरिये दिल्ली लेकर आ गए.

त्रिलोकपुरी में दलित बच्‍ची से रेप मामले की सभी खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

प्राथमिकी में कहा गया है कि लड़की के पिता को अपनी बेटी का अंतिम संस्कार करने के लिए कहा गया था. बच्‍ची के पिता ने अखबार से कहा कि ‘उनके पास लकड़ी और पूजा का सामान था और वे उसका दाह संस्कार करने के लिए तैयार थे. हम अनजान थे… हमारे पड़ोसियों ने दाह संस्कार रोक दिया. उन्होंने हमें मेरी बेटी के शरीर की जांच करने के लिए कहा. जब हमने बच्‍ची के शव को देखा तो दंग रह गए. उसके चेहरे और पीठ पर चोट के निशान थे. हमें कतई नहीं पता था कि वे उसे मार डालेंगे. हम डर गए और पुलिस को फोन किया’.

बाबू जगजीवन राम अस्पताल के डॉक्टरों ने भी पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा है कि लड़की की मौत मैनुअली दम घोंटने के कारण हुई है. रिपोर्ट में योनि और गुदा यौन उत्पीड़न के सकारात्मक सबूत होने की बात भी कही गई है और सभी जख्म मरने से पहले के हैं.

बच्‍ची (Dalit Girl) की मां जो घरों में साफ-सफाई का काम करती हैं, ने कहा कि, “मकान मालिक और उसकी पत्नी ने हमसे झूठ बोला. हमने उनका सम्मान किया और उन्होंने मेरी बेटी को मार डाला. मैं चाहती हूं कि उन्हें भी गिरफ्तार किया जाए. रक्षा बंधन पर मैंने उन्हें फोन किया और मुझे पता देने के लिए विनती की ताकि मैं अपनी बेटी को देख सकूं, लेकिन उन्होंने मना कर दिया. काश, मुझे पता होता कि वे मेरी बेटी के साथ क्या कर रहे हैं”.

मूलरूप से बिहार के रहने वाली मृतक Dalit Girl अपने तीन छोटे भाई-बहनों और माता-पिता के साथ यहां किराए के मकान में रहती थी.

दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, हमने परिवार द्वारा की गई पीसीआर कॉल और पोस्टमॉर्टम के सभी विवरण गुड़गांव पुलिस को भेज दिए. यह पाया गया कि गुड़गांव (Gurugram) में लड़की का यौन उत्पीड़न किया गया और उसके शव को दिल्ली लाया गया.

गुड़गांव के एसीपी (वेस्ट) राजिंदर ने कहा कि, “माता-पिता की शिकायत पर हमने प्रवीण और उसके रिश्तेदारों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है. बच्ची के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए दिल्ली के एक अस्पताल भेज दिया गया. हमें उनसे एक रिपोर्ट मिली, जिसमें कहा गया था कि लड़की का यौन उत्पीड़न किया गया था. हमने अब बलात्कार की धाराओं और पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है. प्रवीण को गिरफ्तार कर लिया गया है.”

शुरुआत में 25 अगस्त को गुड़गांव (Gurugram) में इस बाबत हत्या और आपराधिक साजिश की धाराओं, एससी/एसटी अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई थी.

Gujarat Dalit Gang Rape

16 साल की मासूम से 3 युवकों ने किया गैंगरेप, कुएं में फेंका… और

जोधपुर. राजस्थान के करौली में एक 16 साल की मासूम के साथ 3 युवकों ने हैवानियत (Minor Girl Gangrape) की घटना को अंजाम दिया. यह घटना 29 मई की बताई जा रही है. बच्ची रोजाना की तरह सुबह 9 बजे जंगल में मवेशियों को चराने के लिए गई थी. देर शाम तक जब वह घर नहीं लौटी तो परिजनों ने तलाश शुरू की. कई घंटे खोजने के बाद अगले दिन सुबह एक कुएं से बच्ची की चिल्लाने की आवाज आई, जिसके बाद परिजनों ने उसे बाहर निकाला.

मासूम ने खुद बताई हैवानियत की पूरी कहानी
कुएं से बाहर आने के बाद बच्ची ने परिजनों को अपने साथ हुई हैवानियत की पूरी कहानी बताते हुए कहा कि उसके साथ 3 लोगों ने दुष्कर्म किया. पीड़ित मासूम ने बताया कि शनिवार को दोपहर गांव के 3 युवकों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया. इतना नहीं उन्हीं आरोपियों में से एक ने दूसरी बार फिर दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया और कुएं में फेंककर चले गए.

तीनों आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार
बच्ची के परिजनों की तहरीर पर महिला थाना करौली (Rajasthan Police) ने गैंगरेप का मामला दर्ज कर तीनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया है. सोशल मीडिया पर बच्ची को न्याय दिलाने के लिए आवाज उठी है. यूजर्स #करौली_SP_को_बर्खास्त_करो ट्रेंड पर ट्वीट कर बच्ची को न्याय देने की मांग कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें : जबलपुर : दलित युवक को बुरी तरह मारा, सिर मुंडवाकर थूक चटवाया, गांव में घुमाया

कुछ यूजर्स ने इस घटना का जिक्र करते हुए पूछा है कि आखिरकार कब तक एक मासूम दरिंदगी का शिकार होती रहेगी और प्रशासन घंटों तक मूक दर्शक बनकर बैठा रहेगा.

दलित आवाज़ के यूट्यूब चैनल से जुड़ने के लिए क्लिक करें…

Dalit, girl, rape, Bujurag, Banda, arrested, दलित, बच्ची, रेप, बुजुरग, बांदा, गिरफ्तार

प्रेमी ने फोन करके बुलाया और फिर 8 लोगों ने किया दलित लड़की से गैंगरेप

जालंधर. पंजाब के जालंधर में एक बेहद शर्मनाक घटना सामने आई है जहां एक नाबालिग दलित लड़की (Dalit girl rape in Punjab) के साथ आठ लोगों ने गैंगरेप किया. जानकारी के अनुसार लड़की एक लड़के से प्यार करती थी. लड़के ने उसे शादी का झांसा देकर बुलाया और अपने दोस्तों के साथ मिलकर गैंगरेप किया.

लड़की के परिवार वालों ने थाने में शिकायत दर्ज कराई है. पुलिस ने मामले पर कार्रवाई करते हुए आठ में से तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.  इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार लड़की बेहद गरीब दलित परिवार से आती है और मुख्य आरोपी संदीप ने लड़की को पहले प्यार के जाल में फंसाया और फिर उससे शादी का वादा किया.

पुलिस अधिकारी ने दी मामले की पूरी जानकारी
पुलिस ने मामले पर जानकारी देते हुए बताया कि संदीप ने लड़की को 15 मार्च को फोन करके दूसरे दिन हरियाणा के सिरसा के मंडी दबवली बस स्टैंड बुलाया. लड़की पंजाब के किलियांवाली में संदीप के साथ चली गई. दोनों साथ में जालंधर पहुंचे और लड़का उसे जालंधर स्थित एक कमरे में ले गया.

सभी ने एक के बाद एक लड़की के साथ रेप किया. आरोपियों ने पीड़िता के साथ रेप करने के बाद उसे 20 मार्च को उसके घर के बाहर छोड़कर भाग गए. इसके बाद लड़की के घरवालों ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई.

घर से किया दलित लड़की का किडनैप, फिर रेप और धर्म परिवर्तन के लिए किया मजबूर…

फतेहपुर. उत्‍तर प्रदेश के फतेहपुर जिले में एक नाबालिग लड़की से दुष्कर्म (Fatehpur girl kidnapping) करके, जबरन धर्म परिवर्तन करने का दवाब डालने का मामला सामने आया है. दलित वर्ग की 17 साल की एक लड़की को दूसरे समुदाय का युवक अपहरण कर अपने घर ले गया था और उसने उसके साथ बलात्कार किया. शनिवार को सुबह करीब छह बजे आरोपी के घर से लड़की मिली.

न्यूज एजेंसी भाषा के मुताबिक, ललौली थाना प्रभारी निरीक्षक (Uttar Pradesh Police) (एसएचओ) संदीप कुमार तिवारी ने मंगलवार को बताया कि 17 साल की लड़की को ”प्रेम जाल में फंसाकर अपहरण के बाद उससे बलात्कार करने और उस पर धर्म परिवर्तन करने का दबाव डालने का यह मामला चार दिन पहले सामने आया था और इस संबंध में प्राथमिकी 14 मार्च (रविवार) को दर्ज कराई गई.

ये भी पढ़ेंः- ‘तू एससी है, अपनी हद में रह, काली बिल्ली की तरह मेरा रास्ता मत काट’- एम्‍स डॉक्‍टर की आपबीती

घर से किया दलित युवती का अपहरण
थाना प्रभारी निरीक्षक ने प्राथमिकी के हवाले से बताया, “यह घटना शुक्रवार रात करीब 10 बजे की है. दलित वर्ग की 17 साल की एक लड़की को दूसरे समुदाय का 23 वर्षीय युवक राजू अंसारी अपहरण कर अपने घर ले गया था और उसने उसके साथ बलात्कार किया था. किशोरी के परिजनों को शनिवार सुबह करीब छह बजे आरोपी के घर से लड़की मिली.

3/5 धर्म परिवर्तन प्रतिषेध अधिनियम के तहत मामला दर्ज
एसएचओ ने बताया, “परिजनों ने 3/5 धर्म परिवर्तन प्रतिषेध अधिनियम की धारा समेत विभिन्न धाराओं के अंतर्गत रविवार को प्राथमिकी दर्ज करवाई है.” तिवारी ने बताया कि अंसारी को सोमवार शाम उसके घर से गिरफ्तार कर लिया गया और लड़की को मेडिकल जांच के लिए सरकारी अस्पताल भेजा जा रहा है.

 

एक नजर में…

रमेश मीणा बोले- विधानसभा में SC-ST अल्पसंख्यक विधायकों-मंत्रियों के साथ हो रहा है भेदभाव

असमानता, सामाजिक भेदभाव… क्यों बौद्ध धर्म अपना रहे हैं दलित?

 बाबा साहब डॉ.भीमराव आंबेडकर ने किस आंदोलन से ऊर्जा ग्रहण कर महाड़ आंदोलन शुरू किया…

 इस राज्य में बैन है सरकारी दस्तावेजों पर ‘दलित’ शब्द का प्रयोग, हरिजन प्रयोग पर भी मनाही