दिल्‍ली: चंद्रशेखर आजाद नांगल गांव में मृतक दलित बच्‍ची के परिवार से मिले, कहा- दोषियों को फांसी हो

Chandrashekhar Azad met family of deceased Dalit girl in Delhi Nangal village

नई दिल्‍ली : दिल्‍ली के नांगल गांव (Nangal Village) में वाल्‍मीकि समुदाय (Valmiki Community) की बच्‍ची के साथ श्‍मशान घाट में पंडित और उसके साथियों द्वारा कथित रेप कर उसकी लाश जला दिए जाने के मामले में न्‍याय की मांग को लेकर भीम आर्मी चीफ (Bhim Army Chief) चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) मंगलवार दोपहर दिल्‍ली पहुंचे. अपने सैंकड़ों समर्थकों के साथ वह नांगल गांव में पीडि़त बच्‍ची के घर जाकर उसके परिजनों से मिले. वह उस श्‍मशान घाट में भी गए जहां बच्‍ची के साथ यह घटना हुई और उसका शव जला दिया गया.

भीम आर्मी (Bhim Army) चीफ चंद्रशेखर आजाद दोपहर करीब 12 बजे नांगल गांव में पीडि़त परिवार से मिलने के ल‍िए पहुंंचे. उनके साथ आजाद समाज पार्टी एवं भीम आर्मी के समर्थक, कार्यकर्ता सैंकड़ों की तादाद में यहां पहुंचे थे.

Chandrashekhar Azad Delhi Nangal village Shamshan ghat
वह उस श्‍मशान घाट में भी गए जहां बच्‍ची के साथ यह घटना हुई और उसका शव जला दिया गया.

Delhi Cantt Dalit Girl Rape & Murder Case की सभी खबरें यहां क्लिक कर पढ़ें… 

चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) ने पीडि़त परिजनों से मुलाकात कर उनसे पूरी घटना जानी. साथ ही उन्‍हें आश्‍वासन दिया कि जब तक इस मामले में उन्‍हें पूर्ण न्‍याय नहीं मिल जाता, तब तक भीम आर्मी और आजाद समाज पार्टी उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी रहेगी.

साथ ही उन्‍होंने दोषियों को जल्‍द फांसी दिए जाने की पुरजोर मांग भी उठाई. इस दौरान नांगल गांव में भारी संख्‍या में सुरक्षाबल तैनात किया गया था. इस दौरान उनके साथ भीम आर्मी के दिल्‍ली प्रदेश अध्‍यक्ष हिमांशु वाल्‍मीकि एवं संगठन एवं आज आजाद समाज पार्टी के सैंकड़ों समर्थक एवं कार्यकर्ता भी मौजूद थे.

Chandrashekhar Azad Dalit girl rape case Delhi Nangal village
भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने पीडि़त परिजनों से मुलाकात कर उनसे पूरी घटना के बारे में जानकारी हासिल की.

चंद्रशेखर आजाद ने खुद कल ट्विटर पर इसकी घोषणा करते हुए कहा था कि ‘दिल्ली में 9 साल की बच्ची के साथ अत्याचार और हत्या की भयानक घटना हुई है. हमारी टीम मौक़े पर है. ये मेरा अपना परिवार है. वह मेरी बहन थी. कल (मंगलवार को) मैं खुद पीड़ित परिवार से मिलने जाऊंगा. न्याय होने तक हमारा संघर्ष जारी रहेगा.

 

उल्‍लेखनीय है कि रविवार शाम लड़की घाट में पानी भरने गई थी, जहां पर उसकी मौत हो गई थी. मौत के बाद वहां के पुजारी ने लड़की का अंतिम संस्कार कर दिया, जिसका पता गांववालों को चला तो गांववालों ने शमशान घाट आकर लड़की को चिता से उतारकर पानी डाला और पुलिस को बुलाकर पुजारी और उसके दूसरे साथियों को पुलिस के हवाले कर दिया. फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है.

श्मशान घाट के सामने किराए पर पुराना नांगल में नौ साल की नाबालिग लड़की अपने माता-पिता के साथ रहती थी. वह लगभग 5:30 बजे अपनी मां को बताकर श्मशान घाट के वाटर कूलर से ठंडा पानी लेने गई थी. 6 बजे श्मशान घाट के पुजारी पंडित राधेश्याम और नाबालिग लड़की की मां को जानने वाले 2-3 अन्य लोगों ने उसे श्मशान में बुलाया और लड़की के शव को यह कहते हुए दिखाया कि वाटर कूलर से पानी पीने के दौरान उसे करंट लग गया था. लड़की की बाईं कलाई और कोहनी के बीच जलने के निशान थे. उसके होंठ भी नीले थे. यह मां ने देखा. पुजारी और 2-3 लोगों ने मां से कहा कि अगर आप पीसीआर कॉल करते हैं तो पुलिस इसका मामला बनाएगी और पोस्टमॉर्टम में डॉक्टर लड़की के सभी अंगों को चुरा लेंगे और इसलिए उसका अंतिम संस्कार करना बेहतर है लड़की का अंतिम संस्कार कर दिया गया, जिसके बाद मृतक लड़की की मां ने पति के साथ शोर मचाया कि उनकी मर्जी के बिना उस लड़की का अंतिम संस्कार कर दिया गया.

भीम आर्मी (Bhim Army) के चीफ चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) ने भी ट्वीट कर अपनी चिंता जाहिर करते हुए आरोप लगाया था कि नई दिल्ली के नांगल गांव श्मशान घाट में पानी लेने गई नाबालिग दलित बच्ची के साथ दुष्कर्म करके उसकी हत्या कर दी है. बलात्कारियों को बचाने के लिए पुजारी ने लाश को जबरन जला दिया. कभी हाथरस में हमारी बहनें जबरन जलाई जाती हैं तो कभी दिल्ली में. उन्‍होंने दिल्‍ली पुलिस कमिश्‍नर को टैग करते हुए मांग की है क‍ि दरिंदों पर कड़ी कार्यवाही हो.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *