Breaking

UP चुनाव का रिजल्‍ट बता देगा, मैं हल्‍ला करता हूं या काम करता हूं… : चंद्रशेखर आजाद

Chandrashekhar Azad says UP election 2022 results will tell whether I make noise or work

नई दिल्‍ली/लखनऊ : भीम आर्मी (Bhim Army) एवं आजाद समाज पार्टी (Azad Samaj Party) के मुखिया चंद्रशेखर आजाद (Chandra Shekhar Azad) ने कहा है कि आगामी उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (UP election 2022 Results) के नतीजे यह बता देंगे कि मैं हल्‍ला करता है या काम करता हूं. उन्‍होंने एक न्‍यूज चैनल के शिखर सम्‍मेलन में एक सवाल के जवाब में यह बात बेबाकी से कही. साथ ही उन्‍होंने कहा कि ‘अगर आप बहुजन कह रहे हो तो दलितों, पिछड़ों मुसलमानों की आवाज उठानी पड़ेगी’.

चंद्रशेखर आजाद (Chandra Shekhar Azad) ने कही ये प्रमुख बातें…

-मांगने से कुछ नहीं मिलता, छीनना पड़ता है. ये सरकार गूंगी-बहरी है. अगर सरकार अच्‍छी होती तो 69000 shikshak bharti के बच्‍चे बैठे हुए हैं. 70 दिन से उनकी बात नहीं सुनी गई. BJP कार्यालय पर आंदोलन करने जाते हैं तो उन पर लाठी बजा दी जाती है.

-बहनों को नहीं छोड़ते, चिन्हित कर लड़कों को पीटते हैं. इसलिए मजबूरी है हल्‍ला मचाना.

-हाथरस का कितना बड़ा प्रकरण हुआ, हल्‍ला मचा तभी तो सरकार जागी, वरना उसने तो कह दिया था कि रेप ही नहीं हुआ.

-निक्‍कमी, बहरी सरकार को सुनाने के लिए धमाके ही जरूरत होती है.

-मैं हल्‍ला मचाता रहता हूं, ताकि सरकारी सुनती रहे और तानाशाही ना करे.

-हमने यूपी उपचुनाव लड़ा, जिसमें हमें सपा और आरएलडी गठबंधन से ज्‍यादा वोट मिले. कांग्रेस से भी ज्‍यादा वोट मिले.

-बिहार में भी हमें कही 7 तो कहीं 8 हजार तक वोट मिले, जोकि वहां संगठन की मेहनत थी.

-नए दलों को 500 या 600 वोट मिलते हैं, जबकि हमें पहले ही चुनाव में 13500 तक वोट मिले.

-अब जो चुनाव आएगा तो उसका रिजल्‍ट बता देगा कि मैं हल्‍ला मचाता हूं या काम करता हूं. या जनता हमसे कितनी जुड़ रही है.

-जब CAA-NRC आया तो कोई भी मुसलमानों की बात नहीं कर रहा था कि उनका हिंदू वोट बैंक ना भाग जाए तो मैं जामा मस्जिद पर खड़ा था और 27 दिन जेल में रहा था.

-अगर आप बहुजन कह रहे हो तो दलितों, पिछड़ों मुसलमानों की आवाज उठानी पड़ेगी.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *