Vinay Ratan Singh

Bhim Army Vinay Ratan Singh will Join OBC movement in Bhopal

भोपाल में OBC आंदोलन होगा और ताकतवर, भीम आर्मी के विनय रतन सिंह भी होंगे शामिल

भोपाल : मध्‍यप्रदेश (Madhya Pradesh) में ओबीसी महासभा (OBC Mahasabha) द्वारा अपनी मांगों को लेकर आगामी 28 जुलाई को किए जाने वाले मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) के आवास घेराव कार्यक्रम में भीम आर्मी (Bhim Army) भी सक्रियता से भाग लेगी. भीम आर्मी (Bhim Army) के राष्ट्रीय अध्यक्ष विनय रतन सिंह (Vinay Ratan Singh) भोपाल में होने वाले OBC आंदोलन में शरीक होंगे. आजाद समाज पार्टी के मध्‍य प्रदेश अध्‍यक्ष कोमल अहिरवार ने दलित आवाज़ को यह जानकारी दी.

कोमल अहिरवार (Komal Ahirwar) ने बताया कि आजाद समाज पार्टी और भीम आर्मी द्वारा मध्‍यप्रदेश में ओबीसी वर्ग (OBC) के संवैधानिक अधिकारों के खिलाफ होने वाले इस विरोध कार्यक्रम में पूरी ताकत के साथ उतरा जाएगा. उन्‍होंने बताया कि इसके लिए विशेष रूप से भीम आर्मी के राष्ट्रीय अध्यक्ष विनय रतन सिंह भोपाल (Vinay Ratan Singh) में होने वाले इस OBC आंदोलन में शरीक होने जा रहे हैं. उनके साथ आजाद समाज पार्टी और भीम आर्मी का हर कार्यकर्ता इस विरोध प्रदर्शन में शामिल होगा.

Saharanpur : राजपूतों ने जबरन कटवाई दलित युवक की दाढ़ी-मूंछ, बोले- हमारी बराबरी करेगा, देखें VIDEO

ASP प्रदेश अध्‍यक्ष कोमल अहिरवार(Komal Ahirwar) ने दलित आवाज़ से बातचीत में कहा क‍ि ओबीसी महासभा द्वारा अपनी मांगों को लेकर आगामी 28 जुलाई को मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आवास का घेराव किया जाएगा, जिनका हमारी पार्टी पूरी तरह समर्थन करती है.

BHIM ARMY से जुड़ी सभी खबरें यहां क्लिक कर पढ़ें

जबलपुर : दलित युवक को बुरी तरह मारा, सिर मुंडवाकर थूक चटवाया, गांव में घुमाया

उन्‍होंने कहा कि ओबीसी महासभा की मांग है क‍ि NEET में ओबीसी आरक्षण को लागू करने, ओबीसी को उसकी आबादी के हिसाब से आरक्षण दिया जाए, मध्‍यप्रदेश हाईकोर्ट द्वारा ओबीसी के 27 प्रतिशत आरक्षण पर स्‍टे लगाया गया.. सरकार उस पर तत्‍काल नया कानून पारित करे, MPPSC एवं अन्‍य सभी परीक्षाओं में ओबीसी आरक्षण को तत्‍काल प्रभाव से लागू किया जाए, ओबीसी वर्ग में लागू क्रीमीलेयर बाध्‍यता को तत्‍काल समाप्‍त किया जाए और ओबीसी वर्ग के छात्रों की छात्रवृति राशि को तत्‍काल पूरी तरह बहाल किया जाए.

प्रदेश अध्‍यक्ष कोमल अहिरवार ने बताया कि मध्‍यप्रदेश आजाद समाज पार्टी (ASP) की समस्‍त प्रदेश, संभाग एवं जिला, कमेटी को निर्देश दिया गया है कि इस आंदोलन में सहभागिता दर्ज कर ओबीसी समाज को न्‍याय दिलाने का काम करें.

Nemawar Murder Case: नेमावर नरसंहार में चंद्रशेखर आजाद का ऐलान- अब बड़ा आंदोलन होगा

ये भी पढ़ें : सवर्णों की जिद-‘चमार हो, घोड़ी पर बारात नहीं निकलने देंगे’, भीम आर्मी ने भी ठानी…

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) की सभी खबरें यहां क्लिक पढ़ें…

 

Bihar Bhojpur Dalit murder Vitan Ratan Singh said Fear of law ends in Nitish Raj

Bihar: दलित की ईंट-पत्‍थर मारकर हत्‍या, विनय रतन सिंह बोले- नीतीश राज में कानून का डर खत्‍म

आरा: बिहार (Bihar) में दलितों के प्रति उत्‍पीड़न (Oppression against Dalits) के मामले रोज सामने आ रहे हैं, लेकिन राज्‍य सरकार सख्‍ती से इन्‍हें रोक पाने की ओर कदम नहीं उठा पा रही. भोजपुर जिले के चांदी थाना क्षेत्र के बहियारा गांव से भी ऐसा ही दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. यहां मंगलवार रात एक अधेड़ दलित की ईंट-पत्थर से मार-मारकर हत्या (Dalit Murdered) कर दी गई. केवल यही नहीं, इसके बाद उसके शरीर पर गर्म पानी उड़ेल दिया गया, जिसके कारण उसका शरीर पूरी तरह झुलस गया.

मृतक का शव बुधवार सुबह सब्जी के खेत से बरामद हुआ. इससे आसपास के इलाके में सनसनी फैल गई. मृतक की पहचान 58 वर्षीय हरिद्वार पासवान के रूप में हुई है. वह गांव पर ही रहकर सब्जी की खेती करते थे. पुलिस की ओर से बुधवार को शव का पोस्टमार्टम सदर अस्पताल में कराया गया.

भीम आर्मी भारत एकता मिशन के संस्थापक और राष्ट्रीय अध्यक्ष विनय रतन सिंह ने इस घटना की कड़ी निंदा करते हुए बिहार (Bihar) पुलिस से मांग की है कि दोषियों को जल्‍द गिरफ्तार कर उन्‍हें सजा दिलाई जाए. उन्‍होंने ट्वीट में लिखा, बिहार भोजपुर जिले के चांदी थाना क्षेत्र के बहियारा गांव में बुजुर्ग हरिद्वार पासवान की दबंगों ने ईंट व पत्थर मारकर हत्या कर दी गई. @bihar_police दोषियों को गिरफ्तार कर सजा दिलवाई जाए. @NitishKumar सरकार में बिहार अत्याचारों का केंद्र बिंदु बन चुका है कानून का डर खत्म हो चुका है.

 

इस घटना के बारे में बताया जा रहा कि बहियारा निवासी हरिद्वार पासवान मंगलवार सुबह करीब 9 बजे खेत में दवाई छिड़कने के लिए गए थे और उनके साथ उनका भतीजा सुनील कुमार भी था. इस बीच दवाई छिड़काव करने के बाद उनका भतीजा करीब घर वापस चला आया. हरिद्वार पासवान खेत में ही आम के पेड़ के नीचे आराम करने चले गए. शाम को वापस लौटने पर उसने अपने चाचा को वहां नहीं पाया. देर शाम तक जब वह घर वापस नहीं आए तो उनकी खोजबीन की गई. लेकिन, कुछ पता नहीं चल पाया. बुधवार सुबह खेत पर जाते वक्‍त उसने शव को खेत में पड़ा देखा. परिजनों ने इसकी सूचना चांदी थाना को दी. एक रिपोर्ट के अनुसार, शव को देखने से प्रतीत हो रहा कि ईंट-पत्थर से मारपीट करने के बाद शरीर पर गर्म पानी फेंका गया है. पुलिस इस मामले की छानबीन कर रही है.

हरिद्वार पासवान के परिवार में पत्नी विमल देवी, छह पुत्री फुलवंती देवी, रेशमी देवी, कुसुम देवी, सुषमा देवी, लक्ष्मी देवी व लीला देवी एवं एक पुत्र उपेंद्र पासवान है. शव मिलने के बाद मृतक के घर में हाहाकार मच गया. इस घटना के बाद मृतक की पत्नी विमल देवी एवं परिवार के सभी सदस्यों का रो-रोकर बुरा हाल था.