साइड मांगने को हॉर्न बजाया तो दलित को बुरी तरह पीटा, फरार मुख्‍य आरोपी दे रहा धमकी

Dalit Beaten UP

देश में आज भी दलित समाज (Dalits) को नीची नजरों से देखा जाता है. ज्‍यादातर तथाकथित सवर्णों द्वारा उनकी हर हरकत को हिमाकत समझा जाता है और इसका खामियाजा इन्‍हें अत्‍याचार के रूप में चुकाना पड़ता है. एक ऐसा ही मामला उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में सामने आया है, जहां दलित समाज के एक युवक द्वारा सड़क पर साइड मांगने के लिए महज हॉर्न बजा देने से कुछ सवर्ण इतने आहत हो गए कि उन्‍होंने दलित की पिटाई (Dalit Atrocities) कर दी.

यूपी पुलिस (UP Police) ने इस मामले में एससी-एसटी एक्ट (SC/ST Act) के तहत मामला दर्ज किया है. हालांकि पीड़ित दलित के मुताबिक पुलिस की ओर से तक मुख्य आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया है. आरोपी अभी भी उन्‍हें धमकी दे रहे हैं और दबाव बना रहे हैं.

asiavillenews की रिपोर्ट के अनुसार, आज़मगढ़ (Azamgarh) के सगड़ी तहसील की जीयनपुर कोतवाली के बालापुर गांव में बीते 31 दिसंबर को सड़क पर साइड देने के लिए गाड़ी का हॉर्न बजाने पर कुछ सर्वणों ने एक दलित युवक की बुरी तरह से पिटाई कर दी.

रिपोर्ट में बालापुर निवासी राम प्रवेश के हवाले से बताया गया है कि 31 दिसंबर की सुबह करी 10 बजे खेत की सिंचाई के लिए डीजल लेने बाजार जा रहे थे. रास्ते में जगन्नाथ मिश्र का लड़का विशाल मिश्र कई लोगों के साथ खड़ा था. साइड मांगने के लिए रामप्रवेश ने जब हॉर्न बजाया, तो विशाल मिश्र इससे बेहद नाराज हो गया और रामप्रवेश को जातिसूचक गालियां देने लगा. जब उन्‍होंने इसका विरोध किया तो वह मारपीट पर उतारू हो गया. इसके बाद रामप्रवेश और विशाल के बीच मारपीट हो गई और विशाल वहां से भाग गया.

खबर में बताया गया है कि उसी दिन रामप्रवेश और बृजेश कुमार कुछ अन्य लोगों के साथ अपने खेत की सिंचाई कर रहे थे. इसी दौरान विशाल मिश्र अपने कुछ 25 साथियों के साथ वहां पहुंचा और उनके पास हॉकी, डंडा, चाकू आदि थे. इन लोगों ने बृजेश कुमार और रामप्रवेश की पिटाई करनी शुरू कर दी. इन लोगों ने दोनों दलितों को बुरी तरह से पीटा. इस घटना में बृजेश और रामप्रवेश बुरी तरह से घायल हो गया. दोनों और एक अन्य युवक को पीटने के बाद विशाल मिश्र और उसके साथी वहां से फरार हो गए.

खबर में बताया गया है कि इसके बाद रामप्रवेश और बृजेश के परिजन उन्हें लेकर जीयनपुर कोतवाली पहुंचे. वहां से पुलिस ने दोनों को अस्पताल ले जाकर मेडिकल करवाया. इनकी शिकायत पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है. इसमें अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण कानून की धाराएं भी लगाई गई हैं.

राम प्रवेश ने बताया कि पुलिस ने एफआईआर तो दर्ज कर लिया है. लेकिन अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया है. उन्होंने बताया कि विशाल मिश्र अब उनको धमकी दे रहा है. वह रोज अपना साथियों के साथ आता है और दबाव बनाने की कोशिश करता है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *