Breaking

Special: तस्वीरों में बाबा साहेब आंबेडकर की यादें

14 अप्रैल 1891 को मध्य प्रदेश के महू में डॉ. भीमराव आंबेडकर (Bhim Rao Ambedkar) का जन्म हुआ था. उनके माता-पिता महार जाति के थे, जिसे उस वक्त अछूत माना जाता था. इस कारण बचपन में उन्हें कई यातनाएं झेलनी पड़ी थीं. इसका प्रभाव उस उम्र से ही बाबा साहेब के मस्तिष्क पर पड़ा.

1908 में उत्कृष्ट परिणामों के साथ बॉम्बे विश्वविद्यालय से मैट्रिक की परीक्षा पास करने के बाद बी.आर. आंबेडकर ने बॉम्बे विश्वविद्यालय से राजनीति विज्ञान और अर्थशास्त्र में स्नातक किया. आगे की पढ़ाई के लिए वो विदेश चले गए. 1916 में कोलंबिया विश्वविद्यालय से डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की और विदेश में अर्थशास्त्र में डॉक्टरेट की पढ़ाई करने वाले पहले भारतीय बने.

बाबा साहब आंबेडकर की यादों में महाराष्ट्र के नागपुर जिले के चिचोली गांव में एक खास संग्रहालय बनाया गया है. इस संग्रहालय में डॉ. आंबेडकर के निजी उपयोग की वस्तुएं रखी हैं. आइए तस्वीरों में देखते हैं संविधान निर्माता की यादें
संग्रहालय में रखा बाबा साहब द्वारा इस्तेमाल किया गया कोट.
डॉ. आंबेडकर के वकालत का कोट.
बचपन से लेकर संविधान निर्माण में योगदान तक बाबा साहब द्वारा इस्तेमाल की गई टोपियां भी इस संग्रहालय में संभाल कर रखी गई हैं.
डॉ भीमराव आंबेडकर का वह टाइप राइटर जिस पर भारतीय संविधान का मसौदा तैयार हुआ था.

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *