राजस्‍थान

Rajasthan Dausa HC Giriraj Bairwa suicide

राजस्‍थान: हेड कॉन्‍स्‍टेबल गिरिराज बैरवा की आत्‍महत्‍या के पीछे क्‍या है साजिश? आज़ाद ने की CBI जांच की मांग

राजस्‍थान (Rajasthan) के दौसा (Dausa) के सैंथल थाना परिसर में बने र्क्‍वाटर में हेड कॉन्‍स्‍टेबल गिरिराज बैरवा (Giriraj Bairwa) द्वारा फांसी लगाकर आत्महत्या किए जाने का मामला गर्माता जा रहा है.

एक रिपोर्ट के अनुसार, बैरवा के आत्‍महत्‍या करने से पहले उनके साथ बदमाशों द्वारा मारपीट करने की बात सामने आई है और गंभीर बात यह है कि इस मामले में उच्‍च अधिकारी चुप्‍पी साधे हुए हैं.

आज़ाद समाज पार्टी (Azad Samaj Party) के अध्‍यक्ष चंद्रशेखर आज़ाद (Chandrashekhar Azad) ने ट्वीट कर कहा कि कॉन्‍स्‍टेबल गिरिराज बैरवा की आत्महत्या के पीछे बड़ी साजिश नजर आ रही है. इसकी CBI जांच होनी चाहिए. जिम्मेदार व्यक्तियों एवं शासन प्रशासन के लोगों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जाए.

 

बता दें कि अलवर जिले (Alwar) के श्यामपुरा गांव का रहने वाले हेड कॉन्‍स्‍टेबल गिरिराज सिंह सुसाइड केस में अभी तक पुलिस के हाथ कोई सुराग नहीं लगा है. आत्महत्या मामले को लेकर कस्बे व आसपास क्षेत्र के लोगों में यही चर्चा है कि हेड कॉन्‍स्‍टेबल ने किस बात को लेकर ऐसा कदम उठाया.

भास्‍कर की रिपोर्ट के अनुसार, ग्राम बीनावाला निवासी जगदीश प्रसाद गुर्जर ने बताया कि पांच रोज पूर्व हेड कॉन्‍स्‍टेबल गिरिराज सिंह बीनावाला रोड से कहीं जा रहे थे. रास्ते में जगदीश प्रसाद गुर्जर ने उन्हें रोककर चाय पिलाई. इस पर गिरिराज सिंह ने आपबीती बताई थी.

गिरिराज सिंह ने जगदीश गुर्जर को बताया था कि 5 दिन पूर्व उसके साथ स्टाफ के लोगों के द्वारा दलालों से मारपीट करवाई गई. इस पर किसी भी स्टाफ द्वारा उसका साथ नहीं दिया गया.

जगदीश गुर्जर ने बताया कि गिरिराज सिंह ने अवैध बजरी खनन के मामले में मंथली बंधी लेने का बार-बार विरोध किया था, जबकि थाने के स्टाफ द्वारा दलालों को ज्यादा महत्व दिया जा रहा था. गिर‍िराज को बार-बार अपमानित किया जा रहा था.

यहां सुनवाई नहीं हुई तो गिरिराज ने आगे भी इस बात को अवगत कराने के बारे में बताया, लेकिन वहां भी कोई न्याय नहीं मिला. जिस जगह 5 दिन पहले मारपीट की घटना घटित हुई है उस जगह की मोबाइल लोकेशन व कॉल डिटेल के आधार पर इस मामले में कुछ खुलासा हो सकता है.

(Dalit Awaaz.com के फेसबुक पेज को Like करें और Twitter पर फॉलो जरूर करें…)

Rajasthan-Nagaur-Dalit-Woman-Gang-Rape

राजस्‍थान: दलित लड़की के साथ पहले गैंगरेप, फिर बार-बार हुई ज्यादती, प्रेग्‍नेंट होने पर हुआ खुलासा

राजस्थान (Rajasthan) के भरतपुर (Bharatpur) में दलित लड़की (Dalit Girl) के साथ-साथ घ‍िनौनी वारदात सामने आई है. यहां कामां थाना इलाके में एक 13 वर्षीय नाबालिग लड़की के साथ उसके ही गांव के तीन युवकों ने कथित रूप से गैंगरेप (Gang rape) किया.

गंभीर बात यह है कि तीनों आरोपी लड़की को धमकाकर बार-बार उसके साथ सामूहिक दुष्‍कर्म करते रहे और बच्‍ची गर्भवती हो गई.

रिपोर्ट के अनुसार, इस शर्मनाक वारदात का खुलासा होने पर लड़की के परिजन इसकी शिकायत लेकर थाने पहुंचे. पुलिस को दी शिकायत में उनकी तरफ से बताया कि उनकी बेटी तीन महीने से ज्‍यादा की गर्भवती हो गई है.

पढ़ें- राजस्‍थान के नागौर में दलित महिला से एक साल से हो रहा था गैंगरेप, क्‍योंकि…

उन्‍हें खुद इस बात का पता तब चला जब बच्‍ची ने पेट दर्द की शिकायत अपने परिजनों से की. पेट में दर्द की शिकायत पर जब लोग उसे लेकर अस्पताल पहुंचे.

पुलिस की ओर से गैंगरेप के आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है. उनकी धरपकड़ अभी बाकी है.

पढ़ें- राजस्‍थान के टोंक से बुरी खबर, दलित छात्रा का शव संदिग्‍ध हालत में मिला

कामां पुलिस थाने में परिजनों की ओर से दी गई शिकायत के अनुसार करीब 4 महीने पहले नाबालिग दलित बच्ची जब खेत पर पर जा रही थी तो गांव के 3 युवक सद्दाम, तौफीक, मम्मन उसे उठाकर सरसों के खेत में ले गए. यहां उन्‍होंने बारी बारी से उसके साथ दुष्‍कर्म किया.

केवल यही नहीं उन्‍होने यह बात किसी को न बताने की धमकी भी बच्‍ची को दी और उसे जान से मारने की धमकी दी.

रिपोर्ट के अनुसार, गांव के तीनों दुष्कर्मी अब पीड़िता के परिजनों को जान से मारने की धमकी भी दे रहे हैं कि उनके खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज नहीं कराया जाए.

केस की जांच कामां के पुलिस वृत्ताधिकारी देवेंद्र सिंह रजावत को सौंपी गई है.

ये भी पढ़ें- गुजरात में नाबालिग दलित लड़की से गैंगरेप, कोरोना जांच को भेजे गए आरोपी

दलित लड़की से घर में घुसकर रेप, आरोपी निकला ओवैसी की पार्टी AIMIM का सदस्‍य

दलित लड़की से रेप करने वाला गिरफ्तार, SC/ST Act में केस भी दर्ज

मुजफ्फरनगर : घर में घुसकर किया गया दलित लड़की का रेप

भोजपुर में दलित छात्रा से गैंगरेप, सरकार के रवैये से नाराज़ दलितों ने उठाई आवाज़

ग्राम प्रधान ने दलित युवक को पीटा, पत्‍नी को जातिसूचक गालियां दीं, रेप कर परिवार को गोली मारने की धमकी दी

Rajasthan-Nagaur-Dalit-Woman-Gang-Rape

राजस्‍थान के नागौर में दलित महिला से एक साल से हो रहा था गैंगरेप, क्‍योंकि…

राजस्‍थान (Rajasthan) के नागौर (Nagaur) में एक दलित (Dalit) विवाहिता से कथित तौर पर गैंगरेप का मामला सामने आया है. पीडि़ता ने महिला थाने में दो लोगों के खिलाफ गैंगरेप का मामला दर्ज कराया है. पीडि़ता का आरोप है कि आरोपी पिछले एक साल से उसके साथ रेप कर रहे थे. इस बाबत पुलिस ने पीडि़ता का मेडिकल कराकर मामला दर्ज कर लिया है और जांच जारी है.

पत्रिका की खबर के अनुसार, ऊंटवालिया निवासी एक दलित विवाहिता ने शिकायत दी कि वह एक साल पहले ऊंटवालिया से नागौर आ रही थी. वह गंठिलासर बस स्टैंड पर खड़ी थी, उसी वक्‍त बाइक पर जोधियासी निवासी मूलाराम व लालाराम आए और उन्‍होंने उसे नागौर तक छोड़ने को कहा. वह दोनों को जानती थी, इसलिए वह बाइक पर उनके पीछे बैठ गई.

राजस्‍थान के टोंक से बुरी खबर, दलित छात्रा का शव संदिग्‍ध हालत में मिला

पीडि़ता का आरोप है कि दोनों आरोपी उसे नागौर लाए और यहां उसके साथ सामूहिक दुष्‍कर्म किया. उन्‍होंने उसे इस बारे में किसी को न बताने के लिए भी डराया-धमकाया. पीडि़ता ने यह भी आरोप लगाया है कि आरोपियों ने उसके अश्लील फोटो भी खींचे और कहा कि अगर उसने किसी को इस बारे बताया तो उसकी फोटो सोशल मीडिया पर वायरल कर देंगे. डर की वजह से वह यह बात किसी को नहीं बताई.

दलित महिला का आरोप है कि आरोपियों ने उसके अश्लील फोटो वायरल करने की धमकी दी और वह बार बार उसे बुलाकर उसके साथ रेप करते थे. आखिर में उसने हिम्‍मत करके मुकदमा दर्ज कराया.

Rajasthan Tonk Dalit Girl Raped Murder

राजस्‍थान के टोंक से बुरी खबर, दलित छात्रा का शव संदिग्‍ध हालत में मिला

राजस्‍थान के टोंक जिले से बुरी खबर है. यहां एक दलित छात्रा का शव संदिग्‍ध हालत में नाड़ी में पड़ा मिला. मामला टोंक जिले के दूनी थाना क्षेत्र के बंथली गांव का है. मृतक छात्रा के परिजनों का आरोप है कि उसकी लड़की के साथ कुछ गलत हुआ है, जिसके बाद उसकी हत्‍या की गई है. पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए एक व्‍यक्ति को हिरासत में लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है.

जानकारी के अनुसार, बंथली गांव की रहने वाली 15 साल की यह छात्रा रोजाना की तरह सुबह 9 बजे करीब पिता को खेत पर खाना देने गई थी. लड़की करीब एक घंटे बाद तक भी खेत पर नही पहुंची. इससे उसके पिता परेशान हो गए. उधर, गांव के कुछ लोगों को जंगल के रास्ते जाते समय नाड़ी में छात्रा का शव नजर आया. इसके बाद इलाके में सनसनी फैल गई.

दूनी पुलिस को घटना की जानकारी दी गई, जिसके बाद सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और घटनास्थल का जायजा लिया गया. एफएसएल की टीम ने मौके से महत्वपूर्ण साक्ष्य जुटाए.

मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी आदर्श सिधू, पुलिस उप अधीक्षक रामचन्द्र भी मौके पर पहुंचे. इस दौरान एसपी आदर्श सिधू की ओर से गांव के लोगों से पूछताछ भी की गई. पुलिस ने मामले में एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है, जिससे पूछताछ की जा रही है.

थानाधिकारी घनश्याम मीणा ने के अनुसार, छात्रा की संदिग्‍ध हालातों में हुई मौत की बारीकी से जांच पड़ताल की जा रही है. घटना के बाद पुलिस हर पहलू पर नजर रखते हुए जांच में जुट गई है.