Jaipur : पुलिस सुरक्षा में निकली दलित आईपीएस अधिकारी की बारात

Jaipur Dalit IPS Officer Sunil Kumar Dhanwanta procession came out under Rajasthan police protection

जयपुर : सवर्णों के दलितों द्वारा बारात (Dalit’s Wedding) निकालने का विरोध किए जाने की पुरानी घटनाओं को देखते हुए राजस्‍थान  (Rajasthan) के जयपुर ग्रामीण (Jaipur Rural) में दलित आईपीएस अधिकारी (Dalit IPS Officer Sunil Kumar Dhanwanta) की बारात राजस्‍थान पुलिस (Rajasthan Police) की सुरक्षा में निकाली गई.

कोटपूतली (Kotputli) के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विद्याप्रकाश ने बताया कि मणिपुर कैडर के 2020 बैच के आईपीएस अधिकारी और कोटपूतली के जयसिंहपुरा गांव के निवासी सुनील कुमार धनवंत (26) (Dalit IPS Officer Sunil Kumar Dhanwanta) घोड़ी पर सवार होकर शादी की रस्मों की अदायगी के लिए बारात के साथ हरियाणा (Haryana) पहुंचे. विद्याप्रकाश ने कहा कि एहतियात के तौर पर सुरक्षा के इंतजाम किए गए थे.

जयपुर : पुलिस के सख्‍त पहरे में निकली दलित IPS ऑफ‍िसर की बिंदौरी, बिना दहेज कर रहे शादी

उन्होंने बताया कि इससे पहले धनवंत मंगलवार को पास के सूरजपुरा गांव में ‘बिंदौरी’ समारोह के तहत भी पुलिस की निगरानी में घोड़ी पर सवार होकर आयोजन स्थल पर पहुंचे थे. पुलिस अधीक्षक (जयपुर ग्रामीण) मनीष अग्रवाल के मुताबिक, दूल्हे ने अपनी शादी के बारे में प्रशासन को पहले ही सूचित कर दिया था और किसी भी अप्रिय घटना को टालने के लिए जरूरी इंतजाम किए गए थे.

इससे पहले बीते मंगलवार को दलित आईपीएस ऑफि‍सर सुनील कुमार धनवंता (Dalit IPS officer Sunil Kumar Dhanwanta) की बिंदौरी पुलिस के सख्‍त पहरे के बीच निकाली गई. यह पूरे क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी हुई है. IPS सुनील धनवंता की शादी 18 फरवरी को है और खास बात यह है कि वह बिना दहेज लिए शादी कर समाज में मिसाल कायम कर रहे हैं.

Rajasthan: सोसाइटी मैनेजर की मटकी से दलित युवक ने पी लिया पानी तो दी भद्दी जातिसूचक गालियां, देखें Video

दरअसल, जयपुर (Jaipur) के शाहपुरा इलाके के भाबरू थाने इलाके के भगतपुरा जयसिंहपुरा गांव (Bhagatpura Jaisinghpura Village) के रहने वाले दलित आईपीएस अधिकारी सुनील कुमार धनवंता (Dalit IPS officer Sunil Kumar Dhanwanta) की बिंदौरी के लिए पुलिस-प्रशासन ने पूरे गांव को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया था. हर तरह पुलिस का सख्‍त पहरा दिख रहा था. इस क्षेत्र में दलित दूल्हों की बिंदौरी के दौरान बाधा डालने की पूर्व की घटनाओं के मद्देनजर यह व्‍यवस्‍था की गई.

राजस्‍थान में दलित उत्‍पीड़न चरम पर, बकरी चरा रहे युवक को मुंह में कपड़ा ठूंस रॉड से मारा

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *