दलित महिला को मंदिर के नल से पानी लेने से रोका, रोज करते हैं परेशान, 2 महीने से पुलिस नहीं कर रही कार्रवाई

Harda District Dalit woman stopped taking water from temple tap Madhya Pradesh Police is not taking action for 2 months

नई दिल्‍ली/हरदा : मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के हरदा जिले (Harda District) की एक दलित महिला (Dalit Woman) के साथ उत्‍पीड़न का मामला सामने आया है, जिस पर मध्‍य प्रदेश पुलिस शिकायत मिलने के दो महीने बाद भी कार्रवाई नहीं कर सकी है. महिला ने आरोप लगाया है कि दो लोगों ने उसे मंदिर के नल से पानी लेने से रोक दिया और शिकायत दर्ज कराए जाने के दो महीने बाद भी पुलिस ने अब तक कोई कार्रवाई नहीं की है. उधर, मध्‍य प्रदेश पुलिस (Madhya Pradesh Police) का दावा है कि आरोपियों के बयान इसलिए दर्ज नहीं किए सके, क्योंकि दो बार उनके घर जाने के बाद भी वे अब तक नहीं मिले हैं.

Madhya Pradesh Rewa: मजदूरी मांगने पर दलित का हाथ तलवार से काटकर अलग किया

दीपिका (28) ने अपनी शिकायत में कहा है कि वह पति आकाश, अपनी मां और बच्चों के साथ हरदा जिले (Harda District) की गल्ला मंडी स्थित मंदिर के पास रहती हैं और घर से कुछ दूर रहने वाले गोलू पंडित तथा संदीप नाम के व्यक्ति आए दिन जातिसूचक शब्द (Casteist Words) बोलकर उन्हें अपमानित करते हैं तथा दोनों ने उसे अक्टूबर से गल्ला मंडी स्थित मंदिर के नल से पानी भी नहीं भरने दिया है. महिला ने आरोप लगाया कि इसके अलावा, उसके घर के बाहर स्थित शौचालय में पत्थर डालकर उसे बंद कर दिया गया.

Madhya Pradesh : दलित से शादी करने पर पिता ने बेटी को सबके सामने अर्धनग्‍न स्‍नान कराया, बाल कटवाए, झूठी पूड़ी खिलाई

दीपिका गुरुवार को यहां अनुसूचित जाति/जनजाति कल्याण (अजाक) थाने (SC/ST Welfare (Ajac) Police Station) पहुंचीं, जहां उन्होंने मीडिया से कहा कि कुछ दिन पहले उनकी बेटी मंदिर में चली गयी थी तो उसे भी धक्का देकर निकाल दिया गया, जिससे उसे चोट भी आयी.

Madhya Pradesh : तेज रफ्तार ट्रक ने बुझा दिए दलित परिवार के तीन चिराग, आजाद समाज पार्टी ने दमोह प्रशासन को दी चेतावनी

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने दोनों लोगों के खिलाफ 24 अक्टूबर और 25 नवंबर को दो बार पुलिस अधीक्षक से लिखित में शिकायत की थी, लेकिन लगभग दो माह बीतने के बाद भी मेरी शिकायत पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है.’’

मध्‍यप्रदेश के गुना में दलित महिला का टायर जलाकर, डीजल डालकर किया अंतिम संस्कार

वहीं, हरदा अजाक पुलिस थाने (Harda Ajak Police Station) के निरीक्षक अनुराग लाल ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि दीपिका की शिकायत पर एक टीम दोनों आरोपियों के बयान दर्ज करने के लिए दो बार उनके घर गई थी. उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन, वे दोनों हमें वहां नहीं मिले. हम उचित कार्रवाई कर रहे हैं.’’

मध्‍यप्रदेश : रोज अश्‍लील टिप्‍पणियों से परेशान थी दलित किशोरी, की आत्‍महत्‍या

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *