Telangana

Dalit Bandhu Scheme Telangana Government distributed commercial vehicles to Dalit community

Dalit Bandhu Scheme : इस राज्‍य में दलितों को सरकार ने बांटी कारें-व्‍यवसायिक वाहन, जानें पूरी डिटेल

हैदराबाद (तेलंगाना): तेलंगाना सरकार (Telangana Government) ने शुक्रवार को दलित बंधु योजना (Dalit Bandhu Scheme) के तहत हैदराबाद में दलित समुदाय (Dalit community) को वाणिज्यिक वाहन वितरित किए. दलित बंधु योजना (Dalit Bandhu Yojna) का उद्देश्य दलित समुदाय को सशक्त बनाना और उन्हें गरीबी से बाहर निकालना है. यह योजना दलित समुदाय को रोजगार, स्वाभिमान और विकास देने के लिए बनाई गई थी, क्योंकि यह एक प्रभावी नीति है.

Dalit Bandhu Scheme : दलित बंधु योजना के तहत 24 दलितों को सौंपे गए ₹2.60 करोड़ के उपकरण

एएनआई से बात करते हुए हैदराबाद जिले के कार्यकारी निदेशक, एससी निगम, डॉ रमेश ने कहा, “करवां निर्वाचन क्षेत्र में कार, सेंट्रिंग मशीन, गुड्स वाहन और यात्री वाहनों को दलित बंधु योजना के तहत तेलंगाना सरकार द्वारा वितरित किया गया.

दलित बंधु (Dalit Bandhu) एक अनूठी योजना है, जिसमें दलित परिवारों (Dalit community) को 10 लाख रुपये दिए जाएंगे. वे इसका उपयोग व्यापार करने में कर सकते हैं. यह 100 फीसदी सब्सिडी है और लाभार्थियों को सरकार को एक रुपया भी वापस देने की जरूरत नहीं है.

Dalit Bandhu Scheme: हर दलित परिवार को 10-10 लाख देने वाली दलित बंधु योजना की जरूरी अपडेट

डॉ रमेश ने आगे कहा कि तेलंगाना सरकार ने दलित समुदाय को ध्यान में रखते हुए अच्छी योजनाएं बनाई हैं, जिससे दलित समुदाय के कई लोग लाभान्वित होंगे.

उन्‍होंने बताया कि “लाभार्थी हर महीने 30,000 रुपये से 40,000 रुपये कमा रहे हैं और वे अपने वाहनों और व्यवसाय के मालिक हैं. तेलंगाना सरकार हर विधानसभा क्षेत्र में 100 लाभार्थी दे रही है.

Dalit Bandhu Scheme: दलित बंधु योजना में हर दलित को बिजनेस शुरू करने को मिलेंगे 10 लाख

योजना के लाभार्थी लंगर हौज के निवासी नरसिंह राव ने कहा, ‘हमें दलित बंधु योजना (Dalit Bandhu Scheme) के तहत कार मिली है. केसीआर सर, स्थानीय विधायक और हरीश राव सर हमारा समर्थन कर रहे हैं. हमें चार पहिया वाहन मिले हैं और हम इसे टैक्सी की तरह चलाएंगे. सरकार दलितों के लिए अच्छा कर रही है अब तक किसी ने हमारी मदद नहीं की लेकिन केसीआर (KCR) के मुख्यमंत्री बनने के बाद हमें सरकार से अधिक लाभ मिल रहा है.

Dalit Bandhu Scheme Dalit Bandhu Yojana 10 units worth over more than 2 crore distributed

Dalit Bandhu Scheme : दलित बंधु योजना के तहत 24 दलितों को सौंपे गए ₹2.60 करोड़ के उपकरण

नई दिल्‍ली/हैदराबाद : दलित बंधु योजना (Dalit Bandhu Scheme) के लाभार्थियों को शुक्रवार को आयोजित एक कार्यक्रम में छह हार्वेस्टर, तीन जेसीबी मशीन और 2.60 करोड़ रुपये से अधिक की एक डीसीएम वैन सौंपी गई.

नागरिक आपूर्ति एवं बीसी कल्याण मंत्री जी कमलाकर ने डॉ. बी आर आंबेडकर स्टेडियम (Dr. B R Ambedkar Stadium) परिसर में आयोजित संपत्ति वितरण कार्यक्रम में दलित बंधु योजना (Dalit Bandhu Yojana) के 24 लाभार्थियों को 10 इकाइयों का वितरण किया.

Dalit Bandhu Scheme: दलित बंधु योजना में हर दलित को बिजनेस शुरू करने को मिलेंगे 10 लाख

इस अवसर पर बोलते हुए, मंत्री ने लाभार्थियों को दलितों के वित्तीय सशक्तिकरण (Financial Empowerment of Dalits) के लिए राज्य सरकार की प्रमुख योजना के तहत उन्हें स्वीकृत इकाइयों का सर्वोत्तम उपयोग करने का आह्वान किया.

Dalit Bandhu Scheme: दलित बंधु योजना के लिए 1200 करोड़ रुपये जारी

जिला परिषद के अध्यक्ष के विजया, तेलंगाना राज्य अनुसूचित जाति विकास निगम (Telangana State Scheduled Caste Development Corporation) के अध्यक्ष बांदा श्रीनिवास, कलेक्टर आर वी कर्णन और कई निर्वाचित प्रतिनिधि और अन्य उपस्थित थे.

हर जरूरतमंद दलित परिवार को मिलेंगे 10-10 लाख रुपये

इससे पहले बीते दिसंबर माह में मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव (Chief Minister K. Chandrashekar Rao) ने शनिवार को दलित बंधु योजना (Dalit Bandhu scheme) से पीछे हटने से इनकार किया और कहा कि इसे मार्च 2022 तक राज्य के सभी 119 विधानसभा क्षेत्रों में लागू किया जाएगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि यह योजना हुजूराबाद विधानसभा क्षेत्र (Huzurabad Assembly constituency) और राज्य में पहले से चिन्हित चार अनुसूचित जाति आरक्षित निर्वाचन क्षेत्रों (SC reserved constituencies) में चार मंडलों में संतृप्ति के आधार पर लागू की जाएगी.

दलित बंधु योजना (Dalit Bandhu Yojna) की सभी खबरें यहां पढ़ें…

Dalit Bandhu Scheme Dalit Bandhu Yojna which gives 10 10 lakh to every Dalit family will be implemented by March

Dalit Bandhu Scheme: हर दलित परिवार को 10-10 लाख देने वाली दलित बंधु योजना की जरूरी अपडेट

हैदराबाद: मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव (Chief Minister K. Chandrashekar Rao) ने शनिवार को दलित बंधु योजना (Dalit Bandhu scheme) से पीछे हटने से इनकार किया और कहा कि इसे मार्च 2022 तक राज्य के सभी 119 विधानसभा क्षेत्रों में लागू किया जाएगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि यह योजना हुजूराबाद विधानसभा क्षेत्र (Huzurabad Assembly constituency) और राज्य में पहले से चिन्हित चार अनुसूचित जाति आरक्षित निर्वाचन क्षेत्रों (SC reserved constituencies) में चार मंडलों में संतृप्ति के आधार पर लागू की जाएगी.

Dalit Bandhu Scheme: दलित बंधु योजना में हर दलित को बिजनेस शुरू करने को मिलेंगे 10 लाख

मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने शनिवार को कलेक्टरों से राज्य भर के सभी निर्वाचन क्षेत्रों में अनुसूचित जाति के सशक्तिकरण की दलित बंधु योजना के कार्यान्वयन के लिए 100 लाभार्थियों की पहचान करने के लिए एक कार्य योजना शुरू करने ;को कहा. इस योजना को अन्य सभी विधानसभा क्षेत्रों में विस्तारित किया जाएगा जहां कम से कम 100 दलित परिवारों (100 Dalit families) को चालू वित्त वर्ष (2021-22) के दौरान 31 मार्च, 2022 तक कवर किया जाएगा. उन्होंने जल्द ही दलित बंधु स्‍कीम (Dalit Bandhu scheme) के लिए धन जारी करने का वादा किया ताकि इसे मार्च तक पूरे राज्य में बढ़ाया जा सके.

राव ने शनिवार को प्रगति भवन में सभी जिलों के कलेक्टरों, मंत्रियों, पार्टी विधायकों, एमएलसी और विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ दलित बंधु स्‍कीम (Dalit Bandhu Yojna) के क्रियान्वयन की समीक्षा की.

Dalit Bandhu Scheme: दलित बंधु योजना के लिए 1200 करोड़ रुपये जारी

उन्‍होंने कहा कि, “दलित बंधु योजना (Dalit Bandhu Yojna) को दलित समुदाय के सामाजिक-आर्थिक विकास (socio-economic development of the Dalit community) के लिए लॉन्च किया गया है, जिनके साथ पीढ़ियों से भेदभाव किया गया है. इससे उन्हें स्वाभिमान के साथ जीने में मदद मिलेगी. दलित बंधु योजना के तहत प्रदान किए गए 10 लाख रुपये एक अनुदान है. यह न केवल आर्थिक रूप से होगा दलित परिवारों का समर्थन करेगा, बल्कि एक सामाजिक निवेश भी बनेगा और राज्य की अर्थव्यवस्था को और मजबूत करने में मदद करेगा.”

हर जरूरतमंद दलित परिवार को मिलेंगे 10-10 लाख रुपये

मुख्यमंत्री ने कहा कि योजना के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए जिला कलेक्टरों को पूरी छूट दी जायेगी. हालांकि, वह चाहते थे कि वे अनुसूचित जातियों (Scheduled Castes) की मानसिकता को समझें जो इस धारणा के अधीन थे कि उन्हें कई पीढ़ियों से धोखा दिया जा रहा है.

दलित सशक्तिकरण योजना के लिए 1,000 करोड़, सीधे खाते में आएंगे 10 लाख

उन्होंने कलेक्टरों को अनुसूचित जाति परिवारों (Scheduled Castes families) की वित्तीय स्थिति में सुधार के लिए व्यापार और रोजगार के अवसरों के सभी संभावित रास्ते तलाशने के लिए कहा. उन्होंने उनसे दलित बुद्धिजीवियों (Dalit intellectuals), सेवानिवृत्त कर्मचारियों और दलित सशक्तिकरण (Dalit empowerment) के लिए प्रयास कर रहे अन्य लोगों से सलाह लेने को कहा.

Dalit Bandhu Scheme (दलित बंधु योजना) की सभी खबरें यहां पढ़ें…

Telangana Bhainsa Dr BR Ambedkar statue destroyed Dalit Organisations blocked road

बाबा साहब डॉ. बीआर आंबेडकर की मूर्ति तोड़ी, गुस्‍साए दलितों ने कर दी सड़क जाम

नई दिल्‍ली/निर्मल : तेलंगाना (Telangana) के भैंसा कस्बे में किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा डॉक्टर बीआर आंबेडकर (Dr. BR Ambedkar) की प्रतिमा तोड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर दलित संगठनों (Dalit Organisations) ने सोमवार को यहां धरना दिया. विभिन्न दलित संगठनों के कार्यकर्ताओं और सदस्यों ने इस घटना की निंदा करते हुए भैंसा विधानसभा क्षेत्र (Bhainsa Assembly Constituency) में रास्ता रोको और विरोध प्रदर्शन किया. जब पुलिस भैंसा कस्बे (Bhainsa Town) में सड़क जाम करने वाली महिलाओं को स्थानीय थाने में ले गई तो हल्का तनाव व्याप्त हो गया. कुछ देर के लिए यातायात ठप हो गया.

भैंसा खंड के कई हिस्सों में व्यापक विरोध प्रदर्शन हुए, जिन्होंने भारतीय संविधान के वास्तुकार (Architect of Indian Constitution) डॉ. भीमराव आंबेडकर (Dr. Bhimrao Ambedkar) की प्रतिमा को नुकसान पहुंचाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. प्रदर्शनकारियों ने पुलिस से भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए कदम उठाने का अनुरोध किया. उन्होंने दोषी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की.

भैंसा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने Dalit Organisations के प्रदर्शनकारियों से उन पुलिसकर्मियों को अपना सहयोग देने का अनुरोध किया जो अपराधियों का पता लगाने और शहर में शांति बहाल करने की कोशिश कर रहे थे. उन्होंने सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही अफवाहों पर विश्वास न करने की अपील की. उन्होंने कहा कि दोषियों की गिरफ्तारी के लिए कदम उठाए जा रहे हैं.

रविवार को एक अज्ञात व्यक्ति ने भैंसा क्षेत्र के अस्पताल के सामने स्थित डॉ बीआर आंबेडकर की प्रतिमा को तोड़ दिया, जिससे कस्बे में तनाव और विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया. उसने कथित तौर पर उन लोगों पर हमला करने की कोशिश की जिन्होंने उसे पकड़ने का प्रयास किया था. घटना के विरोध में एक युवक ने पेट्रोल डालकर आत्मदाह करने का प्रयास किया.