दिल्‍ली: दलित बच्‍ची से गैंगरेप-हत्‍या मामले में भीम आर्मी इंडिया गेट पर निकालेगी कैंडल मार्च

Dalit girl gangrape murder case Delhi Bhim Army will take out candle march at India Gate

नई दिल्‍ली : दिल्ली (Delhi) के कैंट इलाके में स्थित नांगल गांव (Nangal Village) में दलित बच्‍ची (Dalit Girl Gangrape Murder Case) से गैंगरेप, संदिग्‍ध मौत और बिना रजामंदी लाश जलाए जाने के मामले में न्‍याय के ल‍िए भीम आर्मी (Bhim Army) का आंदोलन जारी है. संगठन की दिल्‍ली प्रदेश इकाई आज शाम इस मामले में शांतिपूर्वक विरोध जताने के ल‍िए इंडिया गेट (India Gate) पर कैंडल मार्च (Candle March) निकालने जा रही है.

भीम आर्मी (Bhim Army) के दिल्‍ली प्रदेश अध्‍यक्ष हिमांशु वाल्‍मीकि ने कहा कि दिल्ली कैंट मे बर्बरता करने वाले दोषियों पर जल्द से जल्द कारवाई हो और बहन को न्याय व दोषियों को फांसी की सजा दिलाने के लिए आज शाम 5 बजे इंडिया गेट पर भीम आर्मी के आह्वान पर हम शांतिपूर्ण तरीके से कैंडल मार्च का आयोजन करेंगे. उन्‍होंने सभी समर्थकों से शाम 5 बजे इंडिया गेट पहुंचने का आह्वान किया. उन्‍होंने कहा कि उम्‍मीद है इस कैंडल मार्च में चंद्रशेखर आजाद भी शामिल हों.

 

Delhi Cantt Dalit Girl Rape & Murder Case की सभी खबरें यहां क्लिक कर पढ़ें… 

उनसे पहले भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) ने इस मामले में तीन बड़ी मांगें रखीं. चंद्रशेखर आजाद ने ट्विटर पर इन मांगों को सबके सामने रखते हुए कहा कि दिल्ली कैंट में हुए दलित बच्ची के साथ गैंगरेप व हत्या (Dalit Girl Gangrape Murder Case) के मामले में हमारी मांगें हैं;

1-फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में समय सीमा के अंदर दोषियों को सजा, हाथरस जैसा फर्जीवाड़ा नहीं.
2-परिवार को 1 करोड़ रु की सहयोग राशि एवं सरकारी नौकरी.
3-दोषी पुलिसकर्मियों की बर्ख़ास्तगी एवं परिवार की सुरक्षा.

 

बता दें कि इससे पहले दिल्‍ली सरकार (Delhi Govt) ने तय किया कि वह बच्‍ची के मां-बाप को दस लाख रुपये का मुआवजा देगी. मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के दलित बच्‍ची के परिजनों से आज मुलाकात करने के दौरान यह ऐलान किया गया.

पढ़ें : चंद्रशेखर आजाद का ऐलान, मैं दिल्‍ली में तब तक रहूंगा, जब तक मांगें पूरी नहीं होतीं

इस दौरान मुख्‍यमंत्री अरव‍िंद केजरीवाल ने कहा कि जो बच्ची के साथ अन्याय हुआ है वह बेहद दुखद है. बच्ची को वापस नहीं लाया जा सकता है, लेकिन दिल्ली सरकार पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है. उन्‍होंने ऐलान किया कि दिल्ली सरकार पीड़ित परिवार को ₹10 लाख का मुआवजा देगी. साथ ही इस मामले में मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए जाएंगे.

उन्‍होंने कहा कि इस केस में दिल्ली सरकार बड़े से बड़ा वकील भी लगाएगी, ताकि आरोपियों को सख्त से सख्त सजा हो.

पढ़ें- दिल्‍ली: चंद्रशेखर आजाद नांगल गांव में मृतक दलित बच्‍ची के परिवार से मिले, कहा- दोषियों को फांसी हो 

उनसे पहले कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्‍यक्ष और सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने भी आज पीड़‍ित पर‍िवार से म‍िलकर उनको न्‍याय द‍िलवाने का भरोसा द‍िया.

पढ़ें : दिल्‍ली के बाद यूपी के हरदोई में भी दलित बच्‍ची से रेप, हत्‍या कर शव खेत में फेंका

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने पीड़‍ित पर‍िवार से म‍िलने को लेकर कहा क‍ि मैं नाबाल‍िग लड़की के पर‍िवार से म‍िला. मैंने परिवार से बात की. वे न्याय चाहते हैं और कुछ नहीं. वे कह रहे हैं कि उन्हें न्याय नहीं दिया जा रहा है और उनकी मदद की जानी चाहिए. हम ऐसा करेंगे. राहुल गांधी ने कहा कि ‘मैं आपके साथ खड़ा हूं. न्याय मिलने तक उनके साथ खड़ा हूं’.

इसके तुरंत बाद उन्होंने ट्वीट किया: “उनके माता-पिता के आंसू एक ही बात कह रहे हैं – उनकी बेटी, इस देश की बेटी, न्याय की पात्र है. मैं न्याय के इस पथ पर उनके साथ हूं.”

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *