गुजरात: वाल्‍मीकि शिक्षक को गांव में नहीं देता कोई रहने को घर, 150km रोज सफर कर बच्‍चों को पढ़ाने आते हैं

AHMEDABAD No house for Dalit teacher in Gujarat due to caste discremination

नई दिल्‍ली/अहमदाबाद: गुजरात (Gujarat) के सुरेंद्रनगर जिले (Surendranagar District) के एक 50 वर्षीय सरकारी स्कूल के दलित शिक्षक (Dalit Teacher) को स्कूल और घर वापस जाने के लिए रोजाना 150 किलोमीटर का सफर तय करना पड़ता है. अनुसूचित जाति (Scheduled Caste) के वाल्‍मीकि समुदाय (Valmiki Community) का होने के चलते उन्‍हें ऐसा करना पड़ता है, क्‍योंकि जिस गांव के स्‍कूल में वह पढ़ाते हैं, वहां की पंचायत ने इस बात पर प्रतिबंध लगाया हुआ है कि वाल्‍मीकि होने के चलते उन्‍हें गांव में रहने घर नहीं दिया जा सकता है.

Gujarat : दलित दूल्‍हे को घोड़ी चढ़कर बारात निकालने से रोका, 9 लोगों को मिली 5 साल की सजा

दलित शिक्षक कन्‍हैयालाल बरैया (Dalit Teacher Kanhaiyalal Baraiya) के साथ घोर भेदभाव के कारण राज्य के सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग (Department of Social Justice and Empowerment) ने पिछले हफ्ते शिक्षा विभाग को एक पत्र लिखा था, जिसमें स्वीकार किया गया था कि “अनुसूचित जाति (Scheduled Caste) के शिक्षक अत्याचार, भेदभाव, असमानता और जातिवाद का शिकार हुए हैं”. सामाजिक न्याय विभाग ने शिक्षा विभाग से उनका जल्द से जल्द तबादला करने को कहा है. TOI ने रिपोर्ट में इस पत्र की एक प्रति अपने पास उपलब्ध होने की बात कही है.

Gujarat : लंबी मूंछ रखना दलित युवक को पड़ा भारी, 11 लोगों ने लाठी-डंडों से पीटा; दी जातिवादी गालियां

सुरेंद्रनगर जिले की चूड़ा तालुका के छतरीयाला गांव (Chhatriyala village of Chuda Taluka in Surendranagar District) के रहने वाले शिक्षक कन्‍हैयालाल बरैया (50) का तबादला इसी जिले के निमाना गांव में हुआ था. यह उनके गांव से करीब 75 किलोमीटर दूर है.

वह कहते हैं कि जब मैं ड्यूटी पर रिपोर्ट करने गया तो मैंने मकान किराए पर लेने के लिए पूछताछ शुरू की. तो मुझसे पूछा गया कि मैं कौन सी जाति से ताल्‍लुक रखता हूं. तो मैंने बता दिया कि मैं वाल्‍मीकि समुदाय से हूं. मुझे साफ कह दिया कि इस जाति के लिए गांव में रहने के लिए कोई घर किराए पर नहीं है.

Gujarat साबरकांठा: गांव में तैनात किए गए 120 जवान, तब घोड़ी पर दलित युवक ने निकाली बारात

यहां तक की सरपंच ने भी गांव के आधिकारिक लैटरहेड पर इस बारे में लिखकर दे दिया. वह कहते हैं कि मैंने सामाजिक न्याय, शिक्षा और अन्य विभाग से शिकायत की. अंत में सामाजिक न्याय विभाग ने शिक्षा विभाग से पिछले हफ्ते उनका ट्रांसफर करने को कहा.

Gujarat : दलित RTI कार्यकर्ता की हत्या, घर में घुसकर किया हमला; बेटी को भी आई चोट

बरैया यह भी कहते हैं कि उन्‍होंने सीएम भूपेंद्र पटेल को भी इस मामले से अवगत कराया और उन्‍होंने बस आश्‍वासन दिया कि वह इस मामले को देखेंगे.

वहीं, सुरेंद्रनगर के कलेक्‍टर अम्रुतेश ने कहा कि वह फ‍िलहाल अवकाश पर हैं और इस मामले को देखेंगे.

Gujarat : रिक्‍शा चलाने से मना किया तो दलित को चाकुओं से गोदकर मारा

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *