Dr. Bhimrao Ambedkar Quotes: डॉ भीमराव अंबेडकर के ये विचार लाएंगे जीवन में बदलाव

Bhimrao Ambedkar: आजाद भारत के संविधान के निर्माता, महान नेता और समाज सुधारक डॉ. बाबा साहेब आंबेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1891 को मध्य प्रदेश के एक छोटे से गांव महू में हुआ था. दलितों को भारत में एक समान स्थान दिलाने और जीवन देश को अर्पित करने के लिए बाबा साहेब जाने जाते हैं.

आंबेडकर के विचार (Dr. Bhimrao Ambedkar Quotes) न सिर्फ लोगों को प्रेरित करते हैं बल्कि उनके विचारों से कई युवाओं की जिंदगी में सकारात्मक बदलाव हुए है. दलित आवाज बाबा साहेब के विचारों पर एक सीरिज शुरू कर रहा है, जिसमें हम रोजाना आपके समक्ष बाबा साहेब के 5 ऐसे अनमोल विचार रखेंगे, जो आपको हर कठिन क्षण में प्रेरणा देंगे…

ये भी पढ़ेंः- SC/ST छात्रों को इस यूनिवर्सिटी में मिलेगा फ्री एडमिशन, जानिए कब है आखिरी तारीख

बाबा साहेब के विचार…

– मनुष्य नश्वर है, उसी तरह विचार भी नश्वर हैं। एक विचार को प्रचार-प्रसार की जरूरत होती है, जैसे कि एक पौधे को पानी की, नहीं तो दोनों मुरझाकर मर जाते हैं

– एक महान आदमी एक प्रतिष्ठित आदमी से इस तरह से अलग होता है कि वह समाज का नौकर बनने को तैयार रहता है.

– समानता एक कल्पना हो सकती है, लेकिन फिर भी इसे एक गवर्निंग सिद्धांत रूप में स्वीकार करना होगा.

– मुझे वह धर्म पसंद है जो स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व सिखाता है.

– वे इतिहास नहीं बना सकते जो इतिहास को भूल जाते हैं.

 

एक नजर में…

रमेश मीणा बोले- विधानसभा में SC-ST अल्पसंख्यक विधायकों-मंत्रियों के साथ हो रहा है भेदभाव

असमानता, सामाजिक भेदभाव… क्यों बौद्ध धर्म अपना रहे हैं दलित?

 बाबा साहब डॉ.भीमराव आंबेडकर ने किस आंदोलन से ऊर्जा ग्रहण कर महाड़ आंदोलन शुरू किया…

 इस राज्य में बैन है सरकारी दस्तावेजों पर ‘दलित’ शब्द का प्रयोग, हरिजन प्रयोग पर भी मनाही

स्वरोजगार के लिए दलित को मिलेगा 3 लाख रुपये का लोन, जानें किन-किन चीजों के लिए मिलेगा

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *