Unnao Dalit Woman Murder Case : मृतक दलित महिला की गर्दन और सिर की हड्डी पर मिली गंभीर चोट

Unnao Dalit Woman Murder Case Serious injury found on neck and head bone of deceased Dalit woman

लखनऊ: उन्नाव में दलित महिला की हत्‍या (Unnao Dalit woman Murder Case) के मामले में चौंकाने वाला खुलासा करते हुए पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि 22 वर्षीय पीड़िता को प्रताड़ित किया गया और उसकी गला दबाकर हत्या की गई. टाइम्स ऑफ इंडिया ने ऑटोप्सी रिपोर्ट के हवाले से बताया कि रिपोर्ट में गला घोंटने की पुष्टि हुई है. तीन डॉक्टरों के एक पैनल द्वारा किए गए पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है,”महिला की गर्दन की हड्डी और सिर की हड्डी पर गंभीर चोट थी. मौत दम घुटने से हुई है”. पूरे पोस्टमॉर्टम की वीडियोग्राफी भी कर ली गई है.

Noida Dalit Atrocities : दलित परिवार पर जातिवादी गुंडों का जानलेवा हमला, SC/ST Act में केस दर्ज

दो महीने से अधिक समय से लापता पीड़िता का शव गुरुवार को सदर कोतवाली थाना क्षेत्र सीमा के तहत कबा खेड़ा इलाके में पूर्व मंत्री और समाजवादी पार्टी के नेता फतेह बहादुर सिंह (Former UP minister Fateh Bahadur Singh) के बेटे राजोल सिंह (Rajol Singh) के स्वामित्व वाले खाली भूखंड पर एक सेप्टिक टैंक में मिला था.

घर में शौचालय न होने की वजह से शौच के लिए बाहर गई दलित युवती की गैंगरेप के बाद निर्ममता से हत्‍या

पीड़िता की मां ने बेटी की मौत के लिए राजोल सिंह को जिम्मेदार ठहराया है. उनका आरोप है कि पुलिस ने मामला दर्ज करने में ढिलाई बरती. जनवरी में पीड़िता की मां ने लखनऊ में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) मुख्यालय के बाहर अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) की कार के सामने आत्मदाह करने की कोशिश की थी. उन्‍होंने आरोप लगाया था कि राजोल उर्फ​अरुण सिंह ने 8 दिसंबर 2021 को उसकी बेटी का जबरन अपहरण कर लिया था, जब वह उन्नाव के एक बाजार में जा रही थी. पुलिस ने 10 जनवरी को प्राथमिकी दर्ज की थी.

Bhadohi : भदोही में दलित ट्रैक्टर ड्राइवर की मॉब लिंचिंग

इस बीच, सदर कोतवाली थाने के प्रभारी (एसएचओ) अखिलेश चंद्र पांडे को निलंबित (Akhilesh Chandra Pandey, SHO of Sadar Kotwali police station Suspended) कर दिया गया है. सहायक पुलिस अधीक्षक (एएसपी) शशि शेखर सिंह ने कहा, “इंस्पेक्टर ने लापता मामले को आगे आईपीसी की धाराओं में नहीं बदला, जिससे मामले में उसकी लापरवाही साबित हुई और उसे पुलिस अधीक्षक दिनेश त्रिपाठी ने निलंबित कर दिया.”

Dalit Families Converted to Islam : जातिगत उत्‍पीड़न से परेशान 40 दलितों ने हिंदू धर्म छोड़ इस्‍लाम कबूला, बताई बेइंतहा अत्‍याचारों की दास्‍तां

गुरुवार को पुलिस ने मामले में एक और आरोपित को गिरफ्तार किया है और आगे की कार्रवाई की जा रही है. जिलाधिकारी ने बताया कि पुलिस पर लगे लापरवाही के आरोपों की जांच के लिए जांच शुरू कर दी गई है.

(Unnao Dalit woman Murder Case)

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *