भारत के सबसे अमीर लोगों पर 1% अतिरिक्त टैक्‍स लगाने पर देश को 17.7 लाख अतिरिक्त ऑक्सीजन सिलेंडर मिल सकते हैं- रिपोर्ट

Indians may get 17 lakh additional oxygen cylinders by imposing 1% additional tax on India richest people report

नई दिल्ली/दावोस : कोविड-19 महामारी (Covid-19 pandemic) के दौरान भारत के अरबपतियों की कुल संपत्ति (Net worth of Billionaires of India) बढ़कर दोगुने से अधिक हो गई और 10 सबसे अमीर लोगों की संपत्ति 25 साल तक देश के हर बच्चे को स्कूली शिक्षा एवं उच्च शिक्षा देने के लिए पर्याप्त है. एक अध्ययन में सोमवार को यह बात कही गई. अध्ययन के मुताबिक इस दौरान भारत में अरबपतियों की संख्या (Number of billionaires in India Increased) 39 प्रतिशत बढ़कर 142 हो गई.

वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए आयोजित विश्व आर्थिक मंच (World Economic Forum) के दावोस एजेंडा शिखर सम्मेलन (Davos Agenda Summit) के पहले दिन जारी ऑक्सफैम इंडिया की वार्षिक असमानता सर्वेक्षण (Oxfam India’s Annual Inequality Survey) में कहा गया कि यदि सबसे अमीर 10 प्रतिशत लोगों पर एक प्रतिशत अतिरिक्त कर लगा दिया जाए, तो देश को लगभग 17.7 लाख अतिरिक्त ऑक्सीजन सिलेंडर (oxygen cylinders) मिल सकते हैं.

आर्थिक असमानता पर ऑक्सफैम की रिपोर्ट (Oxfam India’s Annual Inequality Survey) में आगे कहा गया कि 142 भारतीय अरबपतियों के पास कुल 719 अरब अमेरिकी डॉलर (53 लाख करोड़ रुपये से अधिक) की संपत्ति है. देश के सबसे अमीर 98 लोगों की कुल संपत्ति, सबसे गरीब 55.5 करोड़ लोगों की कुल संपत्ति के बराबर है.

रिपोर्ट में आगे कहा गया कि यदि 10 सबसे अमीर भारतीय अरबपतियों को प्रतिदिन 10 लाख अमेरिकी डॉलर खर्च करने हों तो उनकी वर्तमान संपत्ति 84 साल में खत्म होगी.

ऑक्सफैम (Oxfam) ने कहा कि इन अरबपतियों पर वार्षिक संपत्ति कर लगाने से हर साल 78.3 अरब अमेरिकी डॉलर मिलेंगे, जिससे सरकारी स्वास्थ्य बजट में 271 प्रतिशत बढ़ोतरी हो सकती है. रिपोर्ट के मुताबिक कोविड-19 (Covid 19) की शुरुआत एक स्वास्थ्य संकट के रूप में हुई थी, लेकिन अब यह एक आर्थिक संकट बन गया है. महामारी के दौरान सबसे धनी 10 प्रतिशत लोगों ने राष्ट्रीय संपत्ति का 45 प्रतिशत हिस्सा हासिल किया, जबकि नीचे की 50 प्रतिशत आबादी के हिस्से सिर्फ छह प्रतिशत राशि आई.

अध्ययन में सरकार से राजस्व सृजन के अपने प्राथमिक स्रोतों पर फिर से विचार करने और कराधान के अधिक प्रगतिशील तरीकों को अपनाने का आग्रह किया गया. (oxygen cylinders)

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *